Thursday, December 8, 2022
spot_img
Homeदेशशिक्षकों-कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए कांग्रेस ठोस प्रयास करेगी :...

शिक्षकों-कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए कांग्रेस ठोस प्रयास करेगी : प्रियंका गांधी

ईमानदार और निड़र पत्रकारिता के हाथ मजबूत करने के लिए विंध्यलीडर के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब और मोबाइल एप को डाउनलोड करें

प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रतिनिधिमंडल से बात कर उनकी समस्याओं को सुना और समाधान के लिए प्रयास करने का आश्वासन भी दिया.

लखनऊ । कांग्रेस की राष्‍ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश मामलों की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा बृहस्पतिवार को लखनऊ पहुंची और प्राथमिक शिक्षकों के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की.

इस मौके पर कांग्रेस नेता ने शिक्षकों को भरोसा दिया कि उनके हित में कांग्रेस बहुत जल्‍द घोषणा करेगी और उसके समाधान के लिए ठोस प्रयास करेगी.

कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, प्रियंका गांधी ने प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रतिनिधिमंडल की बातों व समस्याओं को गंभीरता पूर्वक सुनकर आश्वासन दिया कि शिक्षकों-कर्मचारियों की कई मांगों पर जल्द ही कांग्रेस की तरफ से घोषणा की जाएगी और पार्टी शिक्षकों, शिक्षामित्रों, अनुदेशकों, आशा बहनों, रसोइयों आदि की समस्याओं के समाधान के लिए ठोस प्रयास करेगी.

उन्होंने कहा, कांग्रेस की प्रतिबद्धता आपके साथ है, आपके साथ हुए अन्याय को हम देख रहे हैं और न्याय की लड़ाई में आपके साथ हैं.

उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रतिनिधिमंडल ने कांग्रेस महासचिव से आज मुलाकात कर कोरोना काल के दौरान चुनावी ड्यूटी के दौरान मरे शिक्षकों के हक की आवाज उठाने के लिए आभार व्यक्त किया.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया संयोजक/ प्रवक्ता अशोक सिंह ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल ने कर्मचारियों, शिक्षकों, शिक्षामित्रों, अनुदेशकों, आंगनबाड़ी, आशा बहनों एवं रसोइयों के हितों की मांगों को प्रियंका के समक्ष रखकर समस्याओं के संबंध में विस्तृत चर्चा की.

उन्होंने कहा विपरीत हालातों में काम करने के बाद भी समस्याओं का समाधान नहीं हो रहा है.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के दौरान ड्यूटी करने वाले कुछ शिक्षकों की कोविड से मौत हो गई थी. शिक्षकों की मौत को लेकर उत्तर प्रदेश शिक्षक संघ के पदाधिकारी और सरकार के बीच मौत के आंकड़ों को लेकर घमासान शुरू हो गया था.

शिक्षक संघ ने दावा किया कि पंचायत चुनाव के दौरान 1,600 से ज्यादा शिक्षकों और कर्मचारियों की मौत कोरोना से हुई, जबकि उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान पूरे प्रदेश में सिर्फ तीन शिक्षकों की मौत हुई है.

कांग्रेस महासचिव समेत विपक्षी दलों ने शिक्षकों की इस लड़ाई में सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. बाद में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के निर्देश पर चुनाव के दौरान ड्यूटीरत शिक्षकों की मौत की गाइडलाइन बदली गई.

कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि शुक्रवार की सुबह प्रियंका गांधी ललितपुर में किसान परिवारों से मुलाकात करेंगी. उन्होंने बताया कि ललितपुर में खाद के लिए लाइन में लगे एक किसान की मौत हो गई थी. प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलकर संवेदना प्रकट करेंगी. ललितपुर समेत पूरे बुंदेलखंड में खाद की किल्लत बनी हुई है.

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News