Tuesday, July 5, 2022
spot_img
Homeराजनीतिविशेष सचिव के अमर्यादित टिप्पणी पर वकीलों ने जताया विरोध

विशेष सचिव के अमर्यादित टिप्पणी पर वकीलों ने जताया विरोध

मुख्यमंत्री को सम्बोधित मांगों का ज्ञापन एसडीएम ओबरा /तहसीलदार को सौंपा
ओबरा तहसील गेट पर अधिवक्ताओं ने किया विरोध-प्रदर्शन

सोनभद्र। यूपी बार काउंसिल के आह्वान पर प्रदेश सरकार के विशेष सचिव प्रफुल्ल कमल द्वारा अधिवक्ताओं पर की गई अमर्यादित टिप्पणी पर वकीलों ने शुक्रवार को ओबरा तहसील गेट पर सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए विरोध-प्रदर्शन किया। साथ ही मुख्यमंत्री को संबोधित मांगों का ज्ञापन ओबरा एसडीएम / तहसीलदार सुनील कुमार को सौंपा। वकीलों के कार्य बहिष्कार की वजह से कोर्ट का कामकाज प्रभावित रहा और वादकारी परेशान रहे।

आपको बता दें कि पहले प्रफुल्ल कमल विशेष सचिव उत्तर प्रदेश सरकार ने 14 मई 2022 को ,फिर
अवनीश अवस्थी अपर मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश सरकार ने 15 मई 2022 को अधिवक्ता विरोधी पत्र लिखने से प्रदेश भर के अधिवक्ताओ में आक्रोश व्याप्त है तथा अधिवक्ताओं का कहना है कि उनका अपमान किया गया है जो अत्यंत निदनीय है।

इन दोनों पत्रों के विरोधस्वरूप अधिवक्ता सोनाचंल बार एसोसिएशन एवम प्रदेश भर के अधिवक्ता साथी बार कौंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के आह्वान पर शुक्रवार को न्यायायिक/कार्यालयीय कार्यो से पूर्ण रूप से विरत रहे। वकीलों के कार्य बहिष्कार की वजह से कोर्ट का कामकाज प्रभावित रहा और वादकारी परेशान रहे।

सोनाचंल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश मिश्रा एडवोकेट ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अधिवक्ताओ के विरुद्ध अपमानजनक एवम अमर्यादित पत्र लिखने के कारण प्रफुल्ल कमल विशेष सचिव उत्तर प्रदेश सरकार एवम अवनीश अवस्थी अपर मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश सरकार के विरुद्ध उत्तर प्रदेश सरकार दंडात्मक कारवाई करे तथा यह गैर जिम्मेदाराना पत्र लिखने के कारण उक्त दोनों अधिकारी अधिवक्ता समाज से लिखित माफी माँगे।

उन्होने कहा की उत्तर प्रदेश सरकार इस बात का ध्यान रखे कि भविष्य में दोबारा उत्तर प्रदेश सरकार का कोई भी जिम्मेदार अधिकारी इस प्रकार पत्र लिखने की पुनरावृत्ति ना करें।वही सोनाचंल बार के चुनाव अधिकारी पुष्प राज पांडेय ने कहा कि प्रदेश सरकार विशेष सचिव एवं अपर मुख्य सचिव के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई अमल में लाए ताकि भविष्य में इसकी दुबारा पुनरावृत्ति न हो।

सोनाचंल बार एसोसिएशन के पुर्व् अध्यक्ष रमा शंकर यादव ने कहा कि वकीलों के विरुद अमर्यादित टिप्पणी निंदनीय है इसकी चाहे जितनी भी निंदा की जाए कम होगी। विरोध-प्रदर्शन करने वालो में कपूर चन्द्र पाण्डेय, धर्मेद्र सिंह ,गजेन्दर यादव, मनोज पाठक ,ईश्वर जायसवाल, अनुज, अनील राय,दिनेश दुबे, संजय, अमीत श्रीवास्तव ब्रहम कुमार, कमलेश यादव, बुद्धि नरायन, ललन सिंह, सुनील चौबे हरेनदर सिंह मिथिलेश तिवारी आदि शामिल रहे।सोनाचंल बार के महामंत्री अनील मिश्रा ने कहा कि आगे जो भी आदेश बार कौंसिल उत्तर प्रदेश का होगा हम न्याय के लिए लडते रहेगे।




Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News