Tuesday, May 21, 2024
Homeदेशभारत की जांबाज बेटियां… संभालेंगी अब शीर्ष कमान

भारत की जांबाज बेटियां… संभालेंगी अब शीर्ष कमान

-

यूपीएससी ने कहा कि इस बार 933 उम्मीदवारों- 613 पुरुषों और 320 महिलाओं ने सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण की है। शीर्ष 25 रैंक हासिल करने वाले उम्मीदवारों में 14 महिलाएं और 11 पुरुष हैं।


नई दिल्ली । सिविल सेवा परीक्षा में एक बार फिर बेटियों ने बाजी मारी है। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा सिविल सेवा परीक्षा-2022 के मंगलवार को घोषित नतीजों में टॉप-5 में चार लड़कियां हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) से स्नातक इशिता किशोर ने पहला स्थान हासिल किया है। वहीं, गरिमा लोहिया, उमा हरति एन और स्मृति मिश्रा परीक्षा में क्रमशः दूसरे, तीसरे और चौथे स्थान पर हैं। इससे पहले, सिविल सेवा परीक्षा-2021 में श्रुति शर्मा, अंकिता अग्रवाल और गामिनी सिंगला ने क्रमश: पहला, दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया था।

यूपीएससी ने कहा कि इस बार 933 उम्मीदवारों- 613 पुरुषों और 320 महिलाओं ने सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण की है। शीर्ष 25 रैंक हासिल करने वाले उम्मीदवारों में 14 महिलाएं और 11 पुरुष हैं।

टॉपर इशिता किशोर ने अपने वैकल्पिक विषय के रूप में राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंध के साथ परीक्षा में सफलता हासिल की। उन्होंने श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, डीयू से अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में स्नातक किया है। डीयू के किरोड़ीमल कॉलेज से वाणिज्य में स्नातक गरिमा लोहिया का वैकल्पिक विषय वाणिज्य और लेखा था।

आईआईटी, हैदराबाद से सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक उमा हरति एन. ने वैकल्पिक विषय के रूप में एंथ्रोपोलॉजी रखा था। डीयू के मिरांडा हाउस कॉलेज से स्नातक (बीएससी) स्मृति मिश्रा का वैकल्पिक विषय प्राणी विज्ञान था। वायु सेना अधिकारी की पुत्री इशिता किशोर (26) ने कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी बनने के बाद वह महिला सशक्तिकरण की दिशा में काम करेंगी।

दूसरे और तीसरे स्थान पर आने वालीं गरिमा लोहिया और उमा हरति एन एवं स्मृति मिश्रा ने भी प्रशासन में कुछ अलग करने की ठानी है ताकि प्रशासनिक सुधारों के साथ-साथ कुछ नये काम हो सकें।

11.35 लाख ने किया था आवेदन

सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2022 का आयोजन पिछले साल 5 जून को किया गया था। कुल 11,35,697 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था, जिनमें से 5,73,735 उम्मीदवार इसमें शामिल हुए थे। सितंबर, 2022 में आयोजित मुख्य परीक्षा में कुल 13,090 उम्मीदवार उपस्थित हुए थे। जबकि, साक्षात्कार के लिए 2,529 उम्मीदवारों ने क्वालीफाई किया था। यूपीएससी ने कहा कि परिणाम घोषित होने की तारीख से 15 दिनों के भीतर अंक वेबसाइट पर उपलब्ध होंगे। उसके परिसर में परीक्षा भवन के नजदीक एक ‘सुविधा काउंटर’ स्थित है। उम्मीदवार यहां से अपनी परीक्षा/भर्ती से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी व स्पष्टीकरण प्राप्त कर सकते हैं।

हरियाणा का भी जलवा, सीएम खट्टर ने दी बधाई

सिविल सेवा परीक्षा के नतीजों में हरियाणा का जलवा देखने को मिला है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यह परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को बधाई दी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि जो भी अभ्यर्थी इस परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं, वे पूरी ईमानदारी और निष्ठा से राष्ट्र की सेवा करेंगे और उनसे प्रेरणा लेकर प्रदेश के अन्य युवा भी निरंतर उच्च लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास करेंगे।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!