Saturday, November 26, 2022
spot_img
Homeराजनीति" ये बजट नहीं बंटवारा है , सरकारी विभागों का वारा-न्यारा है...

” ये बजट नहीं बंटवारा है , सरकारी विभागों का वारा-न्यारा है ” अखिलेश

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पेश किए गए बजट पर नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यह बजट नहीं है, सरकार ने बंटवारा किया है.

लखनऊः सीएम योगी आदित्यनाथ 2.0 सरकार का पहला बजट विधानसभा में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पेश किया. नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सदन में बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह बजट नहीं है, सरकार ने बंटवारा किया है. उन्होंने कहा कि नौकरी और रोजगार सिर्फ आंकड़ों में है और जमीन पर कोई काम नहीं दिख रहा है. आज समाज के गरीब वर्ग के लिए कोई काम नहीं है. पढ़ाई के लिए किताबें, ड्रेस और मध्यान्ह भोजन नहीं है. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के दिये गए बजट को जोड़कर बजट के आंकड़े तैयार किये.

अखिलेश यादव ने कहा कि किसानों, नौजवानों, महिलाओं और गरीबों के लिए बजट धोखा है. कुल मिलाकर यह बजट आंकड़ों का मकड़जाल है और यह बजट छठा है, छठे बजट में सब कुछ घटा है. इसके साथ ही अखिलेश ने ट्वीट किया है कि ‘इस सरकार का कहने को ये बजट छठा है, पर इसमें कुछ बढ़ा नहीं, सब कुछ घटा है! इसमें जनपक्ष नदारद, बस सरकारी विभागों का वारा-न्यारा है… दरअसल ये बजट नहीं बँटवारा है!’

वहीं, ओम प्रकाश राजभर ने ट्वीट किया है कि ”आज उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विधानसभा में 2022-23 बजट पेश किया गया. यह बजट झुनझुना मात्र है. प्रदेश की जनता को ठगने और छलने के लिए सरकारी विभागों पर तो दिल खोल कर मेहरबानी दिखाई गई, जबकि धरातल पर गरीब, शोषित, दलित के लिए नाममात्र की भी सहानुभूति दूर-दूर इस बजट में नही दिखाई पड़ती.”

बजट ‘लोक’ कल्याणकारी नहीं ‘लो’ कल्याणकारी : संजय सिंह

आम आदमी पार्टी (AAP) सांसद संजय सिंह ने बजट पर तीखी प्रतक्रिया व्यक्त की है. उन्होंने ट्विट करते हुए लिखा है कि ‘UP का बजट लोक कल्याणकारी नहीं low कल्याणकारी बजट है.’ स्कूल, अस्पताल, बिजली, पानी, सड़क, रोज़गार सब ग़ायब. किसान, नौजवान, महिलाएं, बच्चे किसी को ध्यान में नही रखा गया.’ आप सांसद संजय सिंह ने यूपी में जारी बजट को किसी काम का नहीं बताया है. उन्होंने कहा है कि बजट में न तो आम लोगों का ख्याल रखा गया है और न ही व्यापारियों और कर्मचारियों का.

बजट में स्कूल, अस्पताल, बिजली, पानी, सड़क, रोजगार जैसी बुनियादी सुविधाओं के लिए कोई प्राविधान ही नहीं किया गया. जो व्यापारी भाजपा के सबसे करीबी माने जाते हैं उनके लिए बजट में कुछ किया ही नहीं. व्यापारियों की अनदेखी की है. उन्होंने कहा कि व्यापिरयों ने सरकार से बाजारों में सीसीटीवी कैमरे लगाने की मांग की थी जिसपर बजट में काई प्राविधान ही नहीं किया गया. इससे व्यापारियों में नाराजगी है.

बता दें, आज योगी सरकार के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने विधानसभा में 6 लाख 15 हजार 518 करोड़ 97 लाख कब भारीभरकम बजट पेश किया है. सीएम योगी के मुताबिक इस बजट में युवाओं, महिलाओं, किसानों के साथ-साथ प्रदेश के 25 करोड़ जनता की जनभावना को ध्यान में रखते हुए पेश किया है.

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News