Tuesday, May 21, 2024
Homeउत्तर प्रदेशचन्दौलीचंदौली में आक्सीजन सिलेंडर फटने से 2 की मौत

चंदौली में आक्सीजन सिलेंडर फटने से 2 की मौत

-

चंदौली में रविवनगर स्थित दयाल हास्पिटल के बाहर वाहन में आक्सीजन सिलेंडर लदा था. ये सिलेंडर फट गया और इसमें दो लोगों की मौत हो गयी.

चंदौली : शुक्रवार की सुबह जिले में बड़ा हादसा हो गया. मुगलसराय के रविनगर मोहल्ले में दयाल हास्पिटल के बाहर आक्सीजन सिलेंडर फटने से दो लोगों की मौत हो गई. विस्फोट इतना भयानक था कि दोनों के चीथड़े उड़ गए और शरीर के कई अंग इधर-उधर बिखर गए. धमाके की आवाज सुनकर आस-पास के लोग भी सहम गए.

in article image

चंदौली में आक्सीजन सिलेंडर फटने से दो लोगों की मौत

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कार्रवाई शुरू की. बताया जा रहा है कि रविवनगर स्थित दयाल हास्पिटल के बाहर वाहन में आक्सीजन सिलेंडर लदा था. कुछ लोग सिलेंडर उतार रहे थे. उसी दौरान ट्रैक्टर-ट्राली ने वाहन में धक्का मार दी. हादसे में के बाद एक भरा सिलेंडर नीचे गिरा और तेज धमाके के साथ फट गया. इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गयी.

वहीं धमाके की आवाज सुनकर लोग सहम गए और घरों के बाहर निकल आए. मौके पर भारी भीड़ जुट गई. जानकारी होते ही सीओ अनिरुद्ध सिंह और कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच गई. साथ राहत एवं बचाव कार्य के लिए फायर ब्रिगेड की टीम भी मौके पर पहुंची. फिलहाल दोनों शवों की शिनाख्त नहीं हो सकी है. शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. ट्रैक्टर चालक लापता है. हादसे में वह भी मरा है या भाग गया है. इसकी तफ्तीश की जा रही है.

चंदौली पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल ने कहा कि बोलेरो पिकअप से ऑक्सीजन सिलेंडर उतारते समय हादसा हो गया. इसकी चपेट आने से दो लोगों की मौत हो गई. दोनों मृतक ऑक्सीजन कंपनी के कर्मचारी बताए जा रहे हैं. पूरे मामले की जांच की जा रही है. आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे है. ताकि घटना कि वास्तविक स्थिति बता चल सके. इस बात की तफ्तीश की जा रही कि यह घटना पास में खड़े ट्रैक्टर की वजह से हुई या फिर ओवर प्रेशर के चलते हुई. पूरी जांच के बाद दोषी के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी.

जानकारों के मुताबिक ऑक्सीजन सिलेंडर लाते-ले जाते और उसे भरवाते वक्त कई सावधानियों को बरतने की जरूरत होती है. थोड़ी से लापरवाही भी घातक साबित हो सकती है. ऑक्सीजन खत्म होने पर इसे बार-बार भरवाने के लिए रिफिल करना जरूरी होता है. यही वजह है कि इसमें रिसाव की संभावना होती है और किसी अनहोनी के चलते इसमें आग भी लग सकती है. विशेषज्ञों का कहना है कि जहां ऑक्सीजन का सिलिंडर रखा है, वहां कोई भी ज्वलनशील वस्तु न रखी हो. साथ ही सिलिंडर को लाते-ले जाते समय उसको जमीन पर न पटकें.

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!