Thursday, December 8, 2022
spot_img
Homeराज्यउत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त ने अधिकारियों के साथ...

उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त ने अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक , दिए जरूरी दिशा-निर्देश

ईमानदार और निड़र पत्रकारिता के हाथ मजबूत करने के लिए विंध्यलीडर के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब और मोबाइल एप को डाउनलोड करें ।

https://youtu.be/BPEra4qczfc

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कमिश्नर, आईजी, डीएम और एसएसपी, एसपी सहित तमाम अफसरों के साथ आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर समीक्षा बैठक की. मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील कुमार चंद्रा, चुनाव आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय और राजीव कुमार ने विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर विस्तार से दिशा-निर्देश दिए.

लखनऊ । मुख्य चुनाव आयुक्त ने कमिश्नर, आईजी, डीएम और एसएसपी, एसपी सहित तमाम अफसरों के साथ आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर समीक्षा बैठक की. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील कुमार चंद्रा, चुनाव आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय और राजीव कुमार ने विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर विस्तार से दिशा-निर्देश दिए. साथ ही चुनावी तैयारियों को लेकर पूरा फीडबैक भी लिया.

आयोग ने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि जिला स्तर पर जिला निर्वाचन अधिकारियों को मिलने वाली शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही न बरती जाए. सभी राजनीतिक दलों के साथ निष्पक्ष व्यवहार किया जाए. पारदर्शी और निष्पक्ष चुनाव कराए जाने में अगर किसी भी अधिकारी के स्तर पर लापरवाही, शिथिलता बरती गई तो संबंधित के खिलाफ सख्त और कठोर कार्रवाई की जाएगी.

इसके साथ ही कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से अनुपालन कराते हुए पूरी चुनाव प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के दिशा-निर्देश भी दिए गए. साथ ही सभी जिलों से आए अधिकारियों से भी तमाम स्तर पर फीडबैक लिया गया.

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश के अधिकारियों से साफ-साफ कहा है कि चुनाव के दौरान निर्धारित चुनाव खर्च पर पूरी निगरानी रखी जाए. काली कमाई और काले धन पर पूरी मॉनिटरिंग की जाए. चुनाव में काली कमाई और ब्लैकमनी को रोकने और उस पर प्रभावी अंकुश लगाए जाने की सख्त जरूरत है.

इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी. आयोग के अफसरों ने आशंका जताई है कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान ब्लैकमनी का इस्तेमाल हो सकता है. ऐसी स्थिति में सभी प्रवर्तन एजेंसियों को भी सख्त दिशा-निर्देश इसे रोकने को लेकर दिए गए हैं.

आयोग ने स्पष्ट रूप से कहा है कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान किसी भी अधिकारी द्वारा शिकायत पर एकतरफा कार्रवाई करने, पक्षपात रुप से कार्रवाई करने और राजनीतिक दलों के साथ भेदभाव पूर्ण कार्रवाई की शिकायत मिलने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी.

साथ ही विभागीय अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जाएगी. चुनाव प्रक्रिया के दौरान निष्पक्ष और पारदर्शी व्यवहार सभी अफसरों को सबके साथ रखना है.

आज केंद्रीय चुनाव आयोग के अफसरों ने सुबह से लेकर देर रात तक अलग-अलग चरणों में अलग-अलग मंडल के कमिश्नर, आईजी, डीएम, एसएसपी व एसपी के साथ लगातार बैठक की, जो देर रात समाप्त हुई.

आयोग के अफसरों ने सभी प्रशासनिक अफसरों से कहा है कि विपक्षी दलों की तरफ से प्रशासनिक मशीनरी के दुरुपयोग की जो बात कही जा रही है उस पर तत्काल रोक लगाई जाए.

किसी भी शिकायत का निस्तारण समयबद्ध तरीके से और निष्पक्ष तरीके से किया जाए. इसके साथ ही चुनाव के दौरान अवैध शराब की तस्करी पर पूरी तरह से रोक लगायी जाए.

केंद्रीय चुनाव आयोग के अफसरों ने उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों से आए अधिकारियों से कहा है कि कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया जाए और हर बूथ की बेहतर ढंग से व्यवस्था की जाए.

मतदान केंद्रों की संख्या कोविड-19 प्रोटोकॉल की तैयारियों की स्थिति और संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों में विशेष सतर्कता बरतने की बात कही गई है.

चुनाव प्रक्रिया के दौरान ईवीएम, वीवीपैट और सीसीटीवी कैमरे व्यवस्थित रूप से काम करें, इसकी जिम्मेदारी जिलाधिकारी और पुलिस कप्तान पर है और यह सब लाइव वेबकास्टिंग के माध्यम से निगरानी कराई जाए. इसके साथ ही मतदाताओं का शत-प्रतिशत वेरिफिकेशन करते हुए मतदान प्रक्रिया को आगे बढ़ाई जाए.

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News