Tuesday, October 4, 2022
spot_img
Homeब्रेकिंगचन्दौली में भारी मात्रा में वीवीपैट पर्चियां मिलने से हड़कंप , धरने...

चन्दौली में भारी मात्रा में वीवीपैट पर्चियां मिलने से हड़कंप , धरने पर बैठे बसपा प्रत्याशी दोबारा चुनाव कराने पर अड़े

चन्दौली में वीपीपैट की चुनाव चिन्ह छपी पर्ची बरामद होने से हड़कंप मच गया. बसपा के सैयदराजा प्रत्याशी काउंटिंग स्थल पहुंचकर धरने पर बैठ गए. इस दौरान सपाइयों ने भी प्रदर्शन कर हंगामा किया.

चंदौली । उत्तर प्रदेश चुनाव की काउंटिंग से पहले निर्वाचन प्रक्रिया की सुचिता को लेकर सवाल उठ रहे हैं. वाराणसी में ईवीएम के बाद अब चन्दौली में वीपीपैट की चुनाव चिन्ह छपी पर्ची बरामद हुई. भारी संख्या में बरामद वीपीपैट के साथ मंगलवार की देर रात को बहुजन समाज पार्टी के सैयदराजा प्रत्याशी अमित यादव काउंटिंग स्थल पहुंचकर धरने पर बैठ गए. इस दौरान ईवीएम की सुरक्षा में लगे सपाइयों ने भी विरोध-प्रदर्शन और हंगामा शुरू कर दिया. हालांकि, बाद में एसडीएम सदर की तरफ से जांच के बाद कार्रवाई के आश्वासन पर लोग माने और धरना समाप्त हुआ.

सैयदराजा से बसपा प्रत्याशी अमित यादव लाला का आरोप है कि विधानसभा क्षेत्र के अमादपुर गांव स्थित मतदान केंद्र पर विभिन्न पार्टियों की पर्चियां जलाई जा रही हैं. जिसकी सूचना के बसपा प्रत्याशी मौके पर पहुंचे और बची हुई वीवीपैट की पर्चियों को अपने कब्जे में ले लिया. बरामद पर्ची में बहुजन समाज पार्टी, सपा, काग्रेस और नोटा की पर्चियां शामिल हैं. लेकिन, इनमें से भाजपा की एक भी पर्ची नहीं मिली. इन सभी वीवीपैट पर्चियों को लेकर बसपा प्रत्याशी ने संगठन के जिलाध्यक्ष समेत कार्यकर्ताओं के साथ नवीन मंडी स्थल में धरने पर बैठ गए और दोबारा चुनाव कराने की मांग की.

वीवीपैट पर्चियां मिलने से हड़कंप

बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष घनश्याम प्रधान ने भी मतदान में धांधली किए जाने के गंभीर आरोप लगाया. कहा कि वीवीपैट पर्ची का यूं मिलना मतदान प्रक्रिया की निष्पक्षता पर सवाल खड़े करता है. जिसकी आशंका पहले से ही व्यक्त की जा रही थी. अमादपुर गांव बूथ नम्बर 72 का मामला पटल पर आ गया. लेकिन ऐसे सैकड़ो बूथ होंगे जहां व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी की होगी. ऐसा में आशंका ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि इस तरह की धांधली पूरे विधानसभा में हुई होगी. ऐसे में सैयदराजा विधानसभा में मतदान की प्रक्रिया दोबारा कराया जाना चाहिए.

वीवीपैट पर्ची के साथ धरने पर बैठने की सूचना के बाद पुलिस-प्रशासन में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में एसडीएम सदर अवनीश कुमार मौके पर पहुंच गए. जिसके बाद एसडीएम ने काफी समझाने का प्रयास किया. लेकिन, लोग पुनः मतदान कराने की मांग पर अड़े रहे. जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव सिंह ने लोगों से फोन पर बात की और मामले की जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया. जिसके बाद धरना समाप्त हुआ.

गौरतलब है कि एग्जिट पोल के नतीजे आने के बाद समाजवादी पार्टी समेत अन्य सभी विपक्षी दल चुनाव प्रक्रिया में धांधली को लेकर मुखर हो गए थे. इस बीच मंगलवार की शाम वाराणसी में दो वाहन से ईवीएम बरामद होने की घटना ने आग में घी डालने का काम किया. जिसके बाद चन्दौली में भी वीवीपैट की पर्ची मिलने की घटना ने लोगों में निष्पक्ष चुनाव को लेकर आशंकित कर दिया. बहरहाल इस वीवीपैट पर्ची मिलने की सच्चाई तो जांच के बाद ही पता चल पाएगी. लेकिन, इस घटना ने जिले में निर्वाचन आयोग की खूब किरकिरी कराई.

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News