Monday, May 20, 2024
Homeब्रेकिंगसोबए का निर्वाचन सम्पन्न: नरेंद्र अध्यक्ष, आनंद महामंत्री निर्वाचित

सोबए का निर्वाचन सम्पन्न: नरेंद्र अध्यक्ष, आनंद महामंत्री निर्वाचित

-

कोषाध्यक्ष पद पर शुरू से ही रही बढ़त, 205 मतों से विजयी हुए हैं मनोज
– अध्यक्ष व महामंत्री पद पर थी कांटे की टक्कर
– विजयी पदाधिकारियों को दिलाई गई शपथ
– विजयी पदाधिकारियों का माल्यार्पण कर किया गया स्वागत, मिठाई खिलाकर दी गई बधाई
– सोनभद्र बार एसोसिएशन वर्ष 2022-23 का चुनाव सकुशल संपन्न

सोनभद्र। राबर्ट्सगंज कचहरी परिसर स्थित सोनभद्र बार एसोसिएशन सभागार में शुक्रवार को सोनभद्र बार एसोसिएशन वर्ष 2022-23 के लिए कराए गए चुनाव की मतगणना कराई गई। नरेंद्र कुमार पाठक अध्यक्ष, आनंद कुमार मिश्र महामंत्री व मनोज कुमार मिश्र कोषाध्यक्ष चुने गए। अंत में मुख्य चुनाव अधिकारी सुरेश सिंह ने एल्डर कमेटी चेयरमैन कृपा नारायण मिश्र की मौजूदगी में सभी विजयी पदाधिकारियों एवं कार्यकारिणी सदस्यों को शपथ दिलाई। शांतिपूर्ण मतदान सम्पन्न होने पर मुख्य चुनाव अधिकारी ने सभी का आभार जताया है।

बता दें कि कुल 752 मतों की गिनती करनी थी। इसके लिए 100 मतों की गिनती प्रति राउंड में हुई। आठवें राउंड में महज 52 मतों की गिनती हुई। अध्यक्ष व महामंत्री पद पर चौथे राउंड तक कांटे की टक्कर रही। पांचवें राउंड से अध्यक्ष पद पर नरेंद्र कुमार पाठक ने बढ़त बना ली और अंत मे आते आते अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी पूनम सिंह को 30 मतों से पराजित कर दिया। यहीं हाल महामंत्री पद का रहा पांचवें राउंड में आनंद कुमार मिश्र ने बढ़त बना ली और अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी राजीव कुमार सिंह गौतम को 53 मतों से पराजित कर दिया। जबकि कोषाध्यक्ष पद पर शुरू से ही मनोज कुमार मिश्र ने बढ़त बनाए रखी और 205 मतों से भानु प्रताप चौहान को पराजित किया।

अध्यक्ष पद पर नरेंद्र कुमार पाठक को 243 मत, पूनम सिंह को 213 मत, हेमनाथ द्विवेदी को 129 मत, मनोज कुमार पांडेय को 108 मत, विजय कृष्ण वर्मा को 24 मत व उमेश मिश्र को 18 मत मिले। इसी प्रकार से महामंत्री पद पर आनंद कुमार मिश्र को 345 मत, राजीव कुमार सिंह गौतम को 292 मत, शारदा प्रसाद मौर्य को 62 मत व अरुण कुमार सिंघल को 42 मत मिले। वहीं कोषाध्यक्ष पद पर मनोज कुमार मिश्र को सर्वाधिक 469 मत मिले, जबकि भानु प्रताप चौहान को महज 264 मत मिले।

आपको बताते चलें कि अध्यक्ष व कोषाध्यक्ष पद पर सर्वाधिक मत निरस्त हुए हैं। जबकि महामंत्री पद पर कम मत निरस्त हुए हैं। इसकी प्रमुख वजह दो प्रत्याशियों को मत देना अथवा किसी को मत न देना रही है। विजयी पदाधिकारियों ने वकीलों से सम्पर्क कर आभार जताया। वहीं मुख्य चुनाव अधिकारी सुरेश सिंह ने भी सकुशल चुनाव संपन्न होने पर सभी के प्रति आभार जताया है।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!