Wednesday, November 30, 2022
spot_img
HomeUncategorizedसीएमओ के आदेश पर तीन सदस्यीय टीम पहुची अवैध रूप से संचालित...

सीएमओ के आदेश पर तीन सदस्यीय टीम पहुची अवैध रूप से संचालित हॉस्पिटलों की जांच करने: एक पर एफआईआर करने का आदेश

जिले में संचालित विभिन्न हॉस्पिटलों एवं झोलाछाप डाक्टरों व क्लीनिक आदि के नोडल एडिशनल सीएमओ जीएस यादव ने बताया कि रावर्ट्सगंज , मारकुंडी , सलखन व जुगैल थाना क्षेत्र में संचालित दर्जनों हॉस्पिटल व क्लीनिक पर आज छापेमारी कर जांच की गई । जांच में देखा गया कि यदि कोई हॉस्पिटल संचालित है तो उसके पास नियमानुसार स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिया गया रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र है या नहीं ? तथा यदि स्वास्थ्य विभाग में उक्त हॉस्पिटल रजिस्ट्रेशन करा लिया है तो उसके पास रजिस्ट्रेशन में दिए गए पैरामीटर के अनुसार स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हैं अथवा नहीं ?यदि नहीं हैं तो उक्त हॉस्पिटल के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाने की संस्तुति की जाएगी।

एडिशनल सीएमओ ने बताया कि आज की कार्यवाही में विभिन्न स्थानों पर संचालित छह क्लीनिक व हॉस्पिटल को रजिस्ट्रेशन कराने के लिए नोटिस दी गई क्योंकि उक्त सभी हॉस्पिटल या तो बिना रजिस्ट्रेशन के संचालित हो रहे थे अथवा वर्तमान समय में उनका रजिस्ट्रेशन फेल हो चुका था । डॉ . यादव ने बताया कि सीएमओ के आदेशानुसार जिले भर में संचालित बिना रजिस्ट्रेशन के प्राइवेट क्लीनिक व हॉस्पिटल के खिलाफ जांच और छापेमार कार्रवाई चलती रहेगी ।उन्होंने बताया कि अवैध तरीके से संचालित होने वाले हॉस्पिटल पूर्णतया बंद कर दें या फिर नियमानुसार कागज के तहत रजिस्ट्रेशन कराकर संचालित करें ।

आज की कार्यवाही में जांच टीम द्वारा थाना जुगैल अंतर्गत निषाद क्लिनिक को नोटिस जारी किया गया है क्योंकि वहां जब जांच टीम पहुंची तो हॉस्पिटल पर एथेंटिक डाक्टर नही मिले । सरिता हॉस्पिटल मारकुंडी में जांच के समय डाक्टर नही पाए गए और ना ही उक्त हॉस्पिटल का रजिस्ट्रेशन पाया गया उन्हें भी नोटिस देकर जबाब मंगा गया है ।3 – एक बिना नाम के क्लिंनिक संचालन करके अवैध धन कमा रहे डाक्टर के ऊपर एफआईआर करने के आदेश भी दिए गए हैं । जिला मुख्यालय पर संचालित धन्वंतरि हॉस्पिटल व सीएल हॉस्पिटल की भी जाच की गई है ।

नोडल अधिकारी ने बताया कि शिकायत मिली है कि जिले में इसी तरह कई और हॉस्पिटल हैं जो बिना रजिस्ट्रेशन के संचालित हो रहे हैं जिनके खिलाफ स्वास्थ्य विभाग जांच कर कारवाई करेगा। किसी भी सूरत में बिना रजिस्ट्रेशन व बिना डिग्री धारक डाक्टर को हॉस्पिटल व क्लिंनिक चला कर आम जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने की छूट नहीं दी जा सकती ।बिना मानक के चल रहे क्लिनिक व हॉस्पिटलों के विरुद्ध सख्ती के साथ कार्यवाही की जाएगी।आज की कार्यवाही से फिलहाल विभिन्न हॉस्पिटल संचालकों में हडकम्म मचा हुआ है।

अब देखना होगा कि स्वास्थ्य विभाग सिर्फ कागजी घोड़ा दौड़ाने के लिए कवायद कर रहा है या फिर आम लोगों की ज़िंदगी के साथ खिलवाड़ करने वाले इन कुकुरमुत्तों की तरह उग आए मानक विहीन हॉस्पिटलों व झोलाछाप क्लिनिक खिलाफ वास्तव में भी कोइ कार्यवाही होगी। ऐसा नहीं है कि कोई पहली बार इन हॉस्पिटलों के खिलाफ कार्यवाही शुरू की गई है पहले भी इस तरह की जांच होती रही हैं और एक दो को नोटिस जारी करने के बाद मामला फुस्स हो जाता रहा है क्योंकि अवैध रूप सर संचालित हॉस्पिटलों की ताकत वर यह लॉबी साम दाम दंड भेद की राजनीति से हमेशा से ही जांच को रोकवाने में सफल रह कर आम आदमी की जिंदगी के साथ खिलवाड़ करते हुए दो दूनी चार नही बल्कि इससे भी कई गुना अधिक तेजी से धनादोहन में लगे हैं।




Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News