Saturday, July 13, 2024
Homeदेशराहुल गांधी की मांग- मृत किसानों के परिजनों को मुआवजा दे मोदी...

राहुल गांधी की मांग- मृत किसानों के परिजनों को मुआवजा दे मोदी सरकार

-

ईमानदार और निड़र पत्रकारिता के हाथ मजबूत करने के लिए विंध्यलीडर के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब और मोबाइल एप को डाउनलोड करें

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसान आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की है. कांग्रेस नेता ने कहा कि वह सरकार को मृतक किसानों की सूची देने को तैयार हैं. सरकार उनसे मारे गए किसानों का रिकॉर्ड लेकर उनके परिजनों को मुआवजा दे सकती है.

नई दिल्ली । कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने किसान आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की है. राहुल ने कहा कि मोदी सरकार किसानों की मौत पर असंवेदनशील है. उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस के पास जान गंवाने वाले किसानों की सूची है, जबकि सरकार का कहना है कि उसके पास ऐसा कोई आंकड़ा नहीं है. सरकार चाहे तो हमसे आंकड़ा लेकर मृतक किसानों के परिवारों की मदद कर सकती है.

उन्होंने आगे कहा कि पीएम ने खुद कहा है कि उनसे गलती हुई है, उन्होंने देश से माफी मांगी है. उस गलती की वजह से अब तक 700 लोगों की मौत हो चुकी है. अब आप उनके नाम को लेकर झूठ बोल रहे हैं. आपके पास उनको उनका हक देने की शालीनता क्यों नहीं है?

राहुल गांधी ने कहा, ‘हमारे पास 403 लोगों के नाम हैं, जिन्हें पंजाब सरकार ने 5-5 लाख रुपये का मुआवजा दिया है और 152 को नौकरी दी है. हमारे पास अन्य राज्यों के 100 नामों की एक सूची है और इसके अलावा जनता की जानकारी की एक तीसरी जिससे आसानी से सत्यापित किया जा सकता है, लेकिन सरकार का कहना है कि ऐसी सूची मौजूद नहीं है.’

कांग्रेस नेता ने कहा कि वह सरकार को मृतक किसानों की सूची देने को तैयार हैं. सरकार उनसे मारे गए किसानों का रिकॉर्ड लेकर उन्हें मुआवजा दे.

उन्होंने कहा, ‘सरकार से संसद में एक प्रश्न पूछा गया था कि क्या सरकार किसानों के आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिजनों को वित्तीय सहायता प्रदान करने का प्रस्ताव लाएगी. इस पर मंत्रालय जवाब देता है कि कृषि मंत्रालय के पास इस मामले में कोई रिकॉर्ड नहीं है और इसलिए सवाल ही नहीं उठता.

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!