Monday, May 20, 2024
Homeलीडर विशेषबिना परमिट खनन सामग्री लेकर परिवहन करने वालों में ख़ौफ़ का पर्याय...

बिना परमिट खनन सामग्री लेकर परिवहन करने वालों में ख़ौफ़ का पर्याय बन चुके ईश्वरचंद् पर आखिरकार एफआईआर हुआ दर्ज

-

–अवैध खनन व ओवरलोड,बिना परमिट खनन सामग्री लेकर परिवहन करने वालों में ख़ौफ़ का पर्याय बन चुके ईश्वरचंद् पर आखिरकार एफआईआर हुआ दर्ज

सोनभद्र।सोनभद्र के धरती की कोख से कई तरह की खनिज सम्पदाओं को निकाल कर उन्हें बाजार तक पहुंचने में सड़क परिवहन में कई तरह की अनियमितता मसलन ओवरलोड,बिना वैध परिवहन प्रपत्र के वाहनों का परिवहन कराने की परंपरा सी कायम हो चुकी थी ऐसे में जब भाजपा की सरकार बनी और उसके मुखिया योगी आदित्यनाथ बने और खनन विभाग उन्होंने अपने पास ही रखा तो खनन विभाग व उससे जुड़े सामग्रियों के बाजार तक पहुंचने में परिवहन सम्बंधित नियमों में की जा रही कड़ाई से उक्त धंधे में लगे लोगों व खनिज विभाग में लगातार रस्साकशी देखने को मिल रही है।

यहाँ आपको बताते चलें कि ओवरलोडिंग व बिना परमिट ट्रकों के परिवहन पर लगाम लगाने के लिए प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा है इसी कड़ी में शासन ने जिले में खनिज इंसपेक्टर इश्वरचंद की तैनाती दे दी।यहां आपको बताते चलें कि उक्त खनिज इंस्पेक्टर ईश्वरचंद्र व खनिज परिवहन ट्रांसपोर्टर के बीच लगातार तनातनी देखने को मिल रही है।कभी ओवरलोड अथवा बिना परमिट के परिवहन कर रही ट्रकों को पकड़ कर उनका चालान करने में ड्राइवरों से मारपीट करने तो कभी सड़क पर खनन सामग्री लेकर खड़े वाहनों का शटर तोड़ उनके कागज़ निकाल उनका चालान काटने व ट्रक चालकों के साथ मारपीट करने के आरोप आदि मसलों को लेकर उक्त खनन इंस्पेक्टर व ट्रक ओनर्स एशोसिएशन के लोगों में अक्सर तनातनी देखने को मिल रही थी।

यहां आपको बताते चलें कि ट्रक ओनर्स एशोसिएशन के लोगो द्वारा बराबर यह आरोप लगाया जाता रहा है कि उक्त खनन इंस्पेक्टर द्वरा ट्रकों को पकड़ने के लिए कभी कभी किया जाने वाला बल प्रयोग नियम विपरीत व चालकों को प्रताड़ित करने वाला होता है।स्थिति यह हो गयी थी कि उक्त खनन इंस्पेक्टर का ट्रक चालकों व उनके मालिकों में ऐसा ख़ौफ़ पैदा हो गया था कि यदि चालकों को यह पता चल जाता था कि उक्त खनन इंस्पेक्टर सड़क पर हैं तो जो ट्रक वैध परिवहन प्रपत्र के साथ भी परिवहन कर रहे होते थे वह भी अपने वाहनों को सड़क पर खड़ी कर गायब हो जाते थे जिसकी वजह से सड़क पर अक्सर जाम की स्थिति पैदा हो जाती थी।

पिछले दिनों उक्त खनन इंस्पेक्टर की डर से एक ट्रक मालिक द्वारा जहर खाकर अपनी जीवनलीला समाप्त करने का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि कोतवाली में दी गयी तहरीर के मुताबिक पिछले 12 दिसम्बर को उक्त खनन इंस्पेक्टर सड़क पर ट्रकों की जांच में निकले थे कि उनके द्वारा किसी भागती ट्रक का पीछा करते हुए उनकी गाड़ी से एक महिला के चपेट में आने से उसकी मौत हो गयी।पिछले चार दिनों से उक्त तहरीर को लेकर खनन विभाग व पीड़िता के परिजनों व खनन से जुड़े व्यापारियों के बीच चल रही रस्साकशी का फिलहाल अंत हो गया है और खनन इंस्पेक्टर ईश्वरचंद्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गयी है।अब गेंद पुलिस के पाले में चली गयी है और उक्त तहरीर की सच्चाई क्या है यह तो पुलिस की विवेचना के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा फिलहाल उक्त एफआईआर से सड़क पर चल रही रस्साकशी पर विराम लग गया है।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!