Saturday, April 13, 2024
Homeराजनीतिबाग़ियों व पार्टी नेतृत्व से नाराज कार्यकर्ताओं ने बढ़ाई चुनाव लड़ रहे...

बाग़ियों व पार्टी नेतृत्व से नाराज कार्यकर्ताओं ने बढ़ाई चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों की मुश्किलें, गुमसुम मतदाताओं के पत्ते नहीं खोलने से चुनौती और बढ़ी

-

बगावत की तीव्रता को कम करने व नाराज कार्यकर्ताओं को मनाने जिले में आ सकते हैं मुख्यमंत्री

सोनभद्रः उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव की घड़ियां जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है, वैसे वैसे ही राजनीतिक सरगर्मियां भी बढ़ती जा रही हैं। लगभग सभी दलों में बागी नेताओं के चुनाव मैदान में डटे रहने से राजनीति के अंदरखाने भी सरगर्मियां बढ़ने लगी है पर सबसे अधिक बागी सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी से मैदान में उतर उनके अधिकृत प्रत्याशियों के पसीने छुड़ा रहे हैं। फिलहाल भारतीय जनता पार्टी ने बागियों के खिलाफ ऐक्शन भी तेज कर दिया है। वाराणसी में 36 लोगों को पार्टी से निकालने के बाद सोनभद्र में भी एक्शन देखने को मिला जहाँ ताबड़तोड़ बैटिंग करते हुए 29 बागी कार्यकर्ताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा यह संदेश देने का प्रयास किया गया कि जो भी पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ जाएगा वह पार्टी का दुश्मन माना जायेगा। बताया जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी के निर्देश पर उक्त निष्कासन की यह कार्यवाही अमल में लायी गयी है।फिलहाल बागियों के खिलाफ निष्कासन की कार्यवाही से बाहरी तौर पर यह जरूर देखने को मिल रहा है कि खुलेआम जो पार्टी से नाराज कार्यकर्ता इन बाग़ियों के समर्थन में नारे लगाते घूम रहे थे उस पर विराम लग गया है पर अंदरखाने सुलगती बगावती यह आग कब विकराल दावानल बन पार्टी के मंसूबे को जला राख कर दे यह नही कहा जा सकता।

सोनभद्र में 29 बागी कार्यकर्ताओं को, जो कि निकाय चुनाव में टिकट की मांग कर रहे थे पर जब नए राजनीतिक समीकरण में इन लोगों को नेतृत्व ने टिकट न देकर किसी अन्य को टिकट दे दिया, तो टिकट न मिलने से नाराज होकर उक्त लोग पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ ही चुनाव मैदान में उतर गए, इसलिए पार्टी से 6 साल के लिए इन्हें निकाल दिया गया है। इनमें से 6 कार्यकर्ता नगर पंचायत अध्यक्ष पद पर बीजेपी प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं तो वहीं, 17 सभासद के पद पर चुनावी ताल ठोक रहे हैं। जिलाध्यक्ष अजीत चौबे ने निकाले गए कार्यकर्ताओं के नामों की लिस्ट जारी कर दी है। इनमें संजय जैन, राकेश उमर, अजीत गुप्ता, अरविंद केसरी, प्रवीण पांडेय, संजू देवी, अनिल वर्मा, श्रीप्रकाश श्रीवास्तव, राजेश बल्ला, राहुल शर्मा, अभिषेक गुप्ता, सूर्यकांत द्विवेदी, सोनी निशा, अशफाक कुरैशी, आशुतोष पांडेय, प्रदीप सिंह पिंटू, उमेश गुप्ता, बृजेश चौहान, रीमा देवी, विष्णु वैसवार, श्री प्रकाश, धर्मेंद्र सिंह, शबनम बेगम, राजेश सिंह पटेल, महेंद्र यादव, प्रतिमा, मनोज वर्मा और सुमन देवी शामिल हैं।

यहाँ आपको यह भी बताते चलें कि फौरी तौर पर तो बगावती तेवर अपनाए इन नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा कर यह संदेश देने की भले ही यह कोशिश की गई हो कि जो भी इन बाग़ियों का साथ देगा उसका भी यही अंजाम होगा और तात्कालिक रूप से भले ही यह लग रहा हो कि राजनीतिक तूफान शांत हो गया है पर राजनीति पर पैनी नजर रखने वालों की माने तो इतनी बड़ी मात्रा में बगावती तेवर अपनाए कार्यकर्ताओं द्वारा पार्टी के खिलाफ राजनीतिक मैदान में कूदने का मतलब है कि अंदर तूफान चल रहा है जो पार्टी हित में नहीं है और यदि यह तूफान नहीं थमा तो परिणाम को किसी भी तरफ पलट सकता है।

फिलहाल राजनीतिक विश्लेषकों की बातों पर गौर करें तो एक बात यह निकल कर आती है कि निष्कासन की उक्त कार्यवाही से भले ही सक्रिय कार्यकर्ता उक्त बगावती तेवर अपनाए इन नेताओं से फौरी तौर पर दूरी बना लें पर यदि इन पार्टी फोरम या फिर कह लें कि जिले के शीर्ष नेतृत्व से नाराज चल रहे कार्यकर्ताओं का मानसिक सपोर्ट इन बागियों को मिल गया तो निश्चित तौर पर एन वक्त पार्टी के अधीकृत प्रत्याशियों की मुसीबत बढ़ सकती है। फिलहाल चर्चाओं की मानें तो भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों की विजय सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी जिले का दौरा कर सकते हैं।अब आप खुद ही समझिए कि भारतीय जनता पार्टी के लिए सम्पन्न होने जा रहे यह निकाय चुनाव कितना महत्व रखते हैं शायद यही वजह है कि पार्टी किसी भी स्तर पर ढील देने के मूड में नहीं है और जिला स्तरीय पार्टी नेतृत्व से नाराज कार्यकर्ताओं की चिंताओं व आशंकाओं को दूर कर उन्हें मनाने व चुनाव में पार्टी की विजय सुनिश्चित करने के मद्देनजर ही मुख्यमंत्री सहित अन्य बड़े नेताओं के जिले में आने की बात सामने आ रही है।अब देखना दिलचस्प होगा कि टुकड़ो में बंटे अपने कार्यकर्ताओं में जिले का दौरा करने वाले पार्टी के बड़े लीडर कितना जोश भर पाने में सफल हो पाते हैं ?

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!