Tuesday, July 5, 2022
spot_img
Homeराज्यनदी की धारा के बीच में मशीन से खनन पर अफसर होंगे...

नदी की धारा के बीच में मशीन से खनन पर अफसर होंगे दंडित – मुख्यमंत्री

ललितपुर और सोनभद्र में पोटाश और लौह अयस्क की प्राप्ति के लिए प्रक्रिया शुरू हो रही है. यह विंध्य और बुंदेलखंड में बड़े निवेश का का माध्यम भी बनेगा ।

अवैध खनन को लेकर सीएम सख्त , लेकिन क्या सोनभद्र में भी दिखेगा मुख्यमंत्री के सख्ती का असर

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को सख्त आदेश दिया है कि किसी भी हाल में नदी की धारा के बीच में पोकलैंड मशीन से खनन न किया जाए. इस पर सख्ती से रोक लगे. रकबे से ज्यादा कहीं भी खनन हुआ तो संबंधित अफसरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इसके अलावा ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से खनन से जुड़ी समस्याओं को दूर करने पर उन्होंने अफसरों को सराहा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार की शाम लोक भवन में आयोजित खनन मित्र पोर्टल के लोकार्पण में भाग लेने पहुंचे थे.

कहा कि विगत पांच वर्षों में प्रदेश में खनन संबंधी कार्यों में पारदर्शिता आई है. आमजन को सुविधा देने के लिए अभिनव प्रयास किए गए हैं. एकीकृत पोर्टल “माइन मित्र” (http://minemitra.up.gov.in/) से खनन व्यवसायियों तथा खनन संबंधी निजी कार्यों के लिए आमजन को सुविधा होगी. वह बोले कि हमारा उद्देश्य है कि खनन कार्य से जुड़े सभी हितधारकों के लिए पारदर्शी प्रक्रिया सुनिश्चित हो. मूल्य नियंत्रण में रहें.

सीएम ने कहा कि पूर्व में छोटे-छोटे कार्यों के लिए अनुमति लेने में लोगों की काफी दिक्कत होती थीं. मैन्युअल आवेदनों के कारण भ्रष्टाचार और लेटलतीफी की शिकायतें भी मिलती थीं. पोर्टल से न केवल आवेदनों का समयबद्ध निस्तारण हो सकेगा बल्कि सिस्टम और पारदर्शी होगा. जनसामान्य, किसान, पट्टाधारक, स्टाकिस्ट, फुटकर विक्रेता, परिवहनकर्ता को खनन कार्यों के लिए विभिन्न अनुमति पत्र प्राप्त करने में “माइन-मित्र” प्लेटफार्म उपयोगी सिद्ध होगा.

निजी भूमि से मिट्टी निकालना, खरीदी गई मिट्टी के परिवहन, खनिज कार्यों के लिए लीज, परमिट, रजिस्ट्रेशन आदि सहूलियतों को इस प्लेटफार्म से जोड़ा गया है. ईट भट्ठों को ऑनलाइन भुगतान होने में भी सरलता होगी.

विभाग को यह सुनिश्चित करना होगा कि आवंटित क्षेत्र के बाहर खनन कार्य कतई न हो. अधिक खनन न किया जाए. नदी की मुख्यधारा के बीच में पोकलैंड लगाकर खनन कार्य करना, नदी के स्वरूप के साथ खिलवाड़ है. ऐसी गतिविधियों पर कड़ाई से रोक लगे. ओवरलोडिंग न हो. कीमतों में अनावश्यक बढ़ोत्तरी न हो.

जनसामान्य को उचित दरों पर खनिज उपलब्ध हो. ललितपुर जनपद में रॉक फॉस्फेट, ललितपुर और सोनभद्र में पोटाश और लौह अयस्क की प्राप्ति के लिए प्रक्रिया शुरू हो रही है. यह विंध्य और बुंदेलखंड में बड़े निवेश का का माध्यम भी बनेगा,

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News