Saturday, May 18, 2024
Homeराज्यदेश के आज़ादी के आंदोलन में बिरसा मुण्डा का विशेष योगदान...

देश के आज़ादी के आंदोलन में बिरसा मुण्डा का विशेष योगदान रहा – योगी

-

ब्रजेश पाठक की विंध्यलीडर के लिए ग्राउंड जीरो से रिपोर्ट

चपकी। सोनभद्र । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज सोनभद्र के सेवा समर्पण संस्थान सेवा कुंज आश्रम कारीडाड चपकी जनजाति गौरव दिवस के अवसर पर एक समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में कुल 15 जन जातियाँ सूचीबद्ध हैं जिनमें से 13 सोनभद्र में निवास करती हैं । जनपद सोनभद्र के लिए यह एक गौरव की बात है। जनता को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि देश के आज़ादी के आंदोलन में भगवान बिरसा मुण्डा का विशेष योगदान रहा अजादी के आंदोलन में उन्होंने स्वयं का बलिदान भी दे दिया । आज़ादी की लड़ाई में भारत की जनजातियों पर अनेक अत्याचार हुए, रानी दुर्गावती और भगवान बिरसा मुण्डा को बलिदान देना पड़ा ।

जनजाति गौरव दिवस के अवसर पर सोनभद्र आये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सेवा समर्पण संस्थान सेवा कुंज आश्रम कारीडाड़ चपकी के परिसर में बिरसा मुंडा के मूर्ती का अनावरण कर आदिवासियों का गौरव बढ़ाया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी ने वनाधिकार अधिनियम-2006 के अंतर्गत 23325 लोगों को पट्टा वितरण एवं रू575 करोड़ की 233 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, समाज सुधारक भगवान बिरसा मुंडा जी की आज पावन जयंती है, मैं इस अवसर पर प्रदेशवासियों व पूरे जनजातीय समाज को ‘जनजातीय गौरव दिवस’ की बधाई देता हूं। भगवान बिरसा मुंडा जी की जयंती ‘को जनजातीय गौरव दिवस’ के रूप मे घोषित करने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बहुत-बहुत आभार व धन्यवाद देता हूँ।

यह दिवस देश के आदिवासी व वनवासियों की अपनी गौरवशाली पंरपरा को जोड़ने का एक अवसर दिया है। सीएम योगी ने कहा कि जनजातीय समुदाय भारत का वह महत्वपूर्ण समुदाय है जो धरती माता को अपने मां की तरह मानता है और अपना संम्बंध हमेशा धरती मां से जोड़कर रखता है। वे इस ढंग से अपना जीवन जीते हैं जिससे धरती माता व जंगलों को कोई नुकसान न पहुंचे। जनजाति समुदाय वनो का पालन संरक्षण व सुरक्षा का पूरा ध्यान रखते हैं। सृष्टि की रचना के साथ ही प्रकृति के उतार-चढ़ाव के साथ तमाम संघर्षों को झेलते हुए जीवन जीने और धरती से जुड़े रहने का गौरव देश की जनजातीय लोगों को जाता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कुल 15 जन जातियाँ सूचीबद्ध हैं जिनमें से 13 सोनभद्र में निवास करती हैं । जनपद सोनभद्र के लिए यह एक गौरव की बात है।
जनता को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि देश के आज़ादी के आंदोलन में भगवान बिरसा मुण्डा का विशेष योगदान रहा अजादी के आंदोलन में उन्होंने स्वयं का बलिदान भी दे दिया । आज़ादी की लड़ाई में भारत की जनजातियों पर अनेक अत्याचार हुए, रानी दुर्गावती और भगवान बिरसा मुण्डा को बलिदान देना पड़ा ।

इनके अलावा भी अनेक आदिवासी समाज के लोगों ने बलिदान दिया । सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 2017 में भाजपा की सरकार आने के बाद हमने जनजातियों के विकास के लिए अनेक कार्य किए जिससे प्रत्येक तबके को लाभ मिला। उन्होंने कहाकि ऐसे गाँव जहाँ विकास की कोई किरण नहीं पहुँची थी उनको राजस्व गाँव का दर्जा देकर वहाँ के लोगों को पीएम और सीएम आवास योजनाओं से पक्का मकान, पानी, बिजली, राशन आदि की सुविधा से जोड़ा।

जनजाति समुदाय के लोगों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आपका अधिकार आपको मिलना ही चाहिए और मिलेगा भी । जनजाति भाईयों को वनाधिकार क़ानून के अंतर्गत पट्टा और आवास योजनाओं के तहत आवास मिलेगा साथ ही हर घर नल योजना का भी सभी को लाभ मिलेगा । जहाँ बिजली ले जाने में दिक्कत थी वह सोलर पैनलों से बिजली उपलब्ध कराई जा रही है ।

अंत में उन्होंने कहा कि जनजाति समुदाय के लोग जंगल के संरक्षक होते हैं और जंगल में तमाम जड़ी-बूटी पाई जाती है जिसका उपयोग करके समुदाय को लाभ दिलाया जा सकता है । उन्होंने कहा कि इसमें सरकार पूरी मदद भी करेगी ।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!