Monday, May 20, 2024
Homeब्रेकिंगक्या रवि किशन का हश्र भी नारायण दत्त तिवारी की तरह ही...

क्या रवि किशन का हश्र भी नारायण दत्त तिवारी की तरह ही होगा ?

-

“बायोलॉजिकल बेटी” शिनोवा ने दाखिल की मुंबई सेशन कोर्ट में याचिका , की बायोलॉजिकल टेस्ट की मांग

भाजपा के चाल , चरित्र और चेहरा के प्रतिबिम्ब हैं भाजपाई सांसद रवि किशन – राघवेन्द्र नारायण

उषा द्विवेदी वैष्णवी

मुम्बई । भोजपुरी सिनेमा के स्टार और भाजपा सांसद रवि किशन शुक्ला संभवतः कांग्रेस के नारायण दत्त तिवारी बनने की राह पर हैं। जैसे रोहित तिवारी नाम के एक लड़के ने तिवारी को पिता बताया था और अंततः तिवारी पिता निकले भी, उसी तरह शिनोवा सोनी (Shinova Soni) नाम की युवती उन्हें अपना बायोलॉजिक फादर बता रही है। उसने अपने दावे की पुष्टि के लिए बायोलॉजिकल टेस्ट की मांग करते हुए मुंबई के सेशन कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। अगर उसका डीएनए रवि किशन से मिल गया तो उनकी भी हालत तिवारी जैसी हो जाएगी।

रवि किशन की पत्नी प्रीति शुक्ला के एफआईआर दर्ज कराए जाने को खुली चुनौती देते हुए अपने आपको अभिनेता की बायोलॉजिकल बेटी होने का दावा करने वाली 25 वर्षीय शिनोवा सोनी ने अपने दावे की पुष्टि के लिए बायोलॉजिकल टेस्ट की मांग की है।

शिनोवा के अदालत का दरवाजा खटखटाने से रवि किशन बड़े विवाद में घिर गए हैं। कुछ दिन पहले अपर्णा ठाकुर नाम की महिला ने रवि किशन पर आरोप लगाया था कि उनकी बेटी के पिता रवि किशन हैं। अपर्णा ठाकुर उर्फ अपर्णा सोनी की बेटी शिनोवा सोनी भी खुद को रवि किशन की बेटी बता रही हैं। शिनोवा तो कोर्ट के माध्यम से डीएनए टेस्ट के लिए भी तैयार हैं। अपर्णा का कहना है कि उनके पास कई सबूत हैं, जो उनके आरोपों को सही साबित कर सकते हैं। इस मामले के प्रकाश में आने के बाद रवि किशन सवालों के घेरे में आ गए हैं। हालांकि उन्होंने इन सभी आरोपों को खारिज किया है। रवि किशन की पत्नी पत्नी प्रीति शुक्ला की ओर से अपर्णा समेत कई लोगों के खिलाफ इस मामले को लेकर केस भी दर्ज करवाया गया था। रवि किशन की पत्नी का कहना है कि 1 साल पहले भी अपर्णा ने उन्हें ब्लैकमेल किया था।

रवि किशन की कथित “बायोलॉजिकल बेटी” शिनोवा ने मुंबई से सेशन कोर्ट में एडवोकेट अशोक सारावगी के माध्यम से एक याचिका दाखिल की है। जिसमें उसने दावा किया है कि वह रवि किशन की बायोजॉलिक बेटी है। इसका उसके पास प्रमाण भी है। उसने अपने दावे की पुष्टि के लिए अपना और रवि किशन का डीएनए टेस्ट कराने की मांग की है। गौरतलब है कि पिछले सोमवार को लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुंबई की रहने वाली अपर्णा सोनी उर्फ ​​अपर्णा ठाकुर ने दावा किया था कि रवि किशन उनकी 25 वर्षीय बेटी शिनोवा के पिता हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि रवि किशन उनकी बेटी का हक मार रहे हैं।

रवि किशन की पत्नी प्रीति ने दूसरे दिन लखनऊ के हजरतगंज पुलिस स्टेशन में अपर्णा सोनी (Aparna Soni), उनके पति राजेश सोनी, बेटी शिनोवा सोनी, बेटे सौनक सोनी, विवेक, कुमार पांडे, और यू-ट्यूबर पत्रकार खुर्शीद खान के खिलाफ एफआईआर कराई थी। सभी लोगों पर आईपीसी की धारा 120बी, 195, 386, 388, 504 और 506 के तहत आरोप लगाए गए थे। अपनी शिकायत में, प्रीति शुक्ला ने आरोप लगाया कि अपर्णा ने उन्हें अंडरवर्ल्ड से संबंध होने की धमकी दी थी। प्रीति शुक्ला ने दावा किया कि अपर्णा ने उनसे कहा था, “अगर तुम बात नहीं मानोगी तो मैं तुम्हारे पति को झूठे बलात्कार के मामले में फंसा दूंगी।” एफआईआर में अपर्णा द्वारा 20 करोड़ रुपए हफ्ता मांगने का भी जिक्र है।

रवि किशन अपर्णा सोनी और उसकी बेटी शिनोवा के साथ…

ऐसी ही शिकायत मुंबई में भी दर्ज कराई गई थी। अपनी शिकायत में, प्रीति शुक्ला ने चिंता व्यक्त की कि अपर्णा सोनी की हरकतों का उद्देश्य उन्हें और उनके पति को बदनाम करके चुनाव को प्रभावित करना था। अपर्णा ने कहा कि उन्हें FIR के बारे में मीडिया से जानकारी मिली है और वह अपने वकील से सलाह ले रही हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि उन्होंने 10 महीने पहले अपने मुंबई स्थित वकील के माध्यम से रवि किशन को कानूनी नोटिस भेजा था, जिसमें उनकी बेटी की शिक्षा, शादी और भविष्य के लिए 20 करोड़ रुपए की मांग की गई थी, लेकिन उन्हें अब तक कोई जवाब नहीं मिला।

इसके बावजूद अपर्णा सोनी 15 अप्रैल को लखनऊ पहुंच गईं और प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रवि किशन पर आरोप लगा दिए। अपर्णा ने अंडरवर्ल्ड से किसी भी तरह की संलिप्तता से साफ इनकार किया और लगे हाथ दावा भी किया कि उन्हें और उनकी बेटी को बिना वजह परेशान किया जा रहा है। रवि किशन की पत्नी द्वारा मुंबई पुलिस से की गई शिकायत के बारे में अपर्णा ने कहा कि उन्हें आज तक उनसे कोई नोटिस या पूछताछ नहीं मिली है।

रवि किशन अपर्णा सोनी और उसकी बेटी शिनोवा के साथ…

कौन हैं शिनोवा सोनी? (Who is Shinova Soni?)
खुद को रवि किशन की बेटी बताने वाली शिनोवा सोनी ने आर्ट से ग्रेजुएशन किया है। वह एक्टिंग करती है और कुणाल कोहली की वेब सीरीज में भी काम किया है। वह साउथ की फिल्म भी कर रही है और उसने कुछ विज्ञापनों में भी काम किया है। शिनोवा ने बताया कि जब वह 15 साल की थी, तब उसे पता चला कि रवि किशन उनके पिता हैं। शिनोवा ने कहा, “जब मुझे पता चला था कि वह मेरे पापा हैं, तो मैंने उनसे फोन पर भी बात की थी। मैंने उनसे कहा था कि मुझे आपसे मिलना है और आपको जानना है। आपसे बात करनी है। उस दौरान वह मुझसे बात भी किया करते थे। जब भी रवि किशन उससे मिलने आते थे तो वह उससे कहते थे कि वह उसके पापा हैं। वह कहते थे कि तुम मेरी बेटी हो, मैं हमेशा तुम्हारे लिए खड़ा हूं।”

शिनोवा का कहना है, “मैंने अपने पापा रवि किशन की कई सारी फिल्में भी देखी हैं। मैं अक्सर उनसे उनकी फिल्मों के बारे में बात किया करती थी और उनके काम को पसंद भी करती थी। लेकिन रवि किशन ने अचानक मुझे फोन करना बंद कर दिया। मुझे लगा कि शायद वह बिजी रहते हैं। मगर जब उन्होंने मुझे 1 साल तक कोई मैसेज या फोन नहीं किया, तो मुझे काफी अजीब लगा। शिनोवा ने आगे बताया, “मेरी मां उन्हें याद दिलाती थी कि आज आपकी बेटी का जन्मदिन है, उसे फोन कर लो। मुझे समझ नहीं आया कि वह अचानक मुझे इग्नोर क्यों करने लगे?” शिनोवा का कहना है कि वह सिर्फ इतना चाहती है कि रवि किशन उसे स्वीकर कर लें।”

रवि किशन शिनोवा के साथ…

शिनोवा का कहना है, “रवि किशन 4 साल पहले तक मुझसे बात करते थे। उसके बाद मुझे लगा कि वह अचानक इग्नोर कर रहे हैं। इसलिए अब मैंने और मेरी मां ने कोर्ट में जाने का फैसला किया है।मुझे कभी मीडिया या कोर्ट में नहीं आने वाली थी। मुझे इन सबमें अपना नाम ही नहीं जोड़ना था। दरअसल, उनके व्यवहार के चलते मैं उनसे नफरत करने लगी। कई बार मुझे लगा कि मुझे उस इंसान से बात नहीं करनी चाहिए। मगर अब बहुत हो चुका है। अगर आप मेरे पापा हैं तो सामने आए और मुझे स्वीकर करें। आखिर मेरी इन सब में क्या गलती है। जब पानी सिर से ऊपर चला गया तो हमें लगा कि हमें कोर्ट जाना चाहिए और डीएनए टेस्ट के तहत सच को सामने लाना चाहिए।”

शिनोवा सोनी ने यह भी कहा कि उसे रवि किशन से कुछ भी नहीं चाहिए। उसने फिल्म लाइन में भी कभी रवि किशन के नाम का कोई इस्तेमाल नहीं किया। उसे सिर्फ जानना है कि आखिर रवि किशन ने उनके साथ ऐसा क्यों किया? आखिर वह इतने झूठ क्यों बोले? शिनोवा का कहना है कि वह सिर्फ इतना चाहती हैं कि रवि किशन स्वीकार करें कि वह उनकी बेटी हैं या खुद सामने आकर सच बता दें।

उज्जवला शर्मा और रोहित शेखर के साथ कांग्रेस नेता एनडी तिवारी

कुछ इसी तरह नारायण दत्त तिवारी और रोहित शेखर तिवारी की कहानी भी बड़ी दिलचस्प रही है। दरअसल, नारायण दत्त तिवारी 1990 के दशक में राजीव गांधी की हत्या के बाद पीवी अर्जुन सिंह, नरसिंह राव और शरद पवार जैसे नेताओं के साथ प्रधानमंत्री पद के दावेदार थे। वर्ष 2008 में पहली बार रोहित शेखर पिता का हक पाने के लिए पहली बार दिल्ली कोर्ट में गए थे। तो अचानक पूरे देश में सनसनी फैल गई। रोहित शेखर उन्होंने दावा किया था कि वह एनडी तिवारी और उज्ज्वला शर्मा के पुत्र हैं। लेकिन एनडी तिवारी ने दिल्ली हाईकोर्ट में इस केस को खारिज करने की गुहार लगाई, लेकिन इसे अस्वीकार कर दिया गया।

कोर्ट ने 23 दिसंबर 2010 को एनडी तिवारी को सैंपल देने का आदेश दिया। उस पर एनडी तिवारी सुप्रीम कोर्ट चले गए, लेकिन वहां भी फैसला रोहित शेखर के पक्ष में आया। 2014 में जब ये फैसला आया था तब रोहित शेखर ने कहा था, “मैं दुनिया का शायद पहला व्यक्ति हूं जिसने खुद को नाजायज़ साबित होने के लिए मुकदमा लड़ा है।” बहरहाल, फैसला आने के कुछ ही दिनों के बाद नारायण दत्त तिवारी ने रोहित शेखर की मां उज्जवला शर्मा से शादी कर ली और रोहित शेखर को अपना जायज़ बेटा मान लिया। साल 2017 में उत्तराखंड में हुए विधानसभा चुनाव से ठीक पहले रोहित शेखर ने भाजपा की सदस्यता ले ली। रोहित की कुछ साल पहले दिल्ली में मौत हो गई थी।

TAGS — biological fatherShinova SoniWho is Shinova Soni?अपर्णा सोनी कौन हैं शिनोवा सोनी? नारायण दत्त तिवारीबायोलॉजिकल फादरभाजपा सांसद रवि किशनरवि किशन शुक्ला एक्टर

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!