Tuesday, May 21, 2024
Homeदेशओडिशा रेल हादसे में मरने वालों की तादात हुई 233 , एक...

ओडिशा रेल हादसे में मरने वालों की तादात हुई 233 , एक हजार से अधिक हुए घायल , बढ सकती हैं मरने वालों की संख्या

-

भुनेश्वर । ओडिशा के बालासोर में शुक्रवार शाम को बड़ा रेल हादसा हो गया. कोरोमंडल एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतर गए. ये हादसा शाम करीब सात बजकर 20 मिनट पर बाहानगा बाजार स्टेशन पर तब हुआ, जब कोरोमंडल एक्सप्रेस कोलकाता के नजदीक शालीमार स्टेशन से चेन्नई सेंट्रल जा रही थी. रेस्कयू टीम बचाव कार्य में जुटी है. वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वो ओडिशा सरकार के संपर्क में है. 

एक न्यूज एजेंसी के अनुसार रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि हावड़ा जा रही 12864 बेंगलुरु-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस के कई डिब्बे बाहानगा बाजार में पटरी से उतर गए और दूसरी पटरी पर जा गिरे. उन्होंने कहा, ‘‘पटरी से उतरे ये डिब्बे 12841 शालीमार-चेन्नई कोरोमंडल एक्सप्रेस से टकरा गए और इसके डिब्बे भी पलट गए.’’ अधिकारी ने कहा कि कोरोमंडल एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतरने के बाद एक मालगाड़ी से टकरा गए, जिससे मालगाड़ी भी दुर्घटना की चपेट में आ गई।

ओडिश के चीफ सेक्रेटरी प्रदीप जेना ने बताया कि इस रेल हादसे में 207 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं 900 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. जेना ने कहा कि घायल यात्रियों को सोरो और गोपालपुर सीएचसी में शिफ्ट किया गया है. गंभीर रूप से घायल यात्रियों को अच्छी देखभाल और इलाज के लिए रेफर किया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि घायलों की संख्या ज्यादा होने के कारण एंबुलेंस के साथ बसों को भी लाया गया है. 

ओडिशा के चीफ सेक्रेटरी प्रदीप जेना ने बताया कि घटनास्थल पर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम मौजूद है. करीब 600 से 700 बचावकर्मी काम कर रहे हैं. ये बचाव अभियान पूरी रात चलेगा. बालासोर मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल में सारे इंतजाम कर दिए गए हैं.

चीफ सेक्रेटरी प्रदीप जेना ने कहा कि हमें सूचना मिली है कितने लोगों की जान गई है, लेकिन हम अभी नहीं बता सकते. मृतकों की पहचान की जा रही है. सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद बताया जाएगा. उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता फंसे हुए लोगों को बचाना है. ये ही बात केंद्र सरकार और पश्चिम बंगाल ने भी दोहराई।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वो ओडिशा सरकार और दक्षिण पूर्व रेलवे के संपर्क में हैं. उन्होंने बताया कि हमारे आपातकालीन नियंत्रण कक्ष को तुरंत एक्टिव कर दिया है. इसका नंबर 033- 22143526/22535185 है. बचाव के लिए सभी प्रयास शुरू कर दिए  गए हैं. बनर्जी ने कहा कि हम ओडिशा सरकार और रेलवे अधिकारियों के साथ सहयोग करने और बचाव कार्यों में मदद के लिए 5-6 सदस्यों की एक टीम मौके पर भेज रहे हैं. मैं  व्यक्तिगत रूप से लगातार स्थिति की निगरानी कर रही हूं. 

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने विशेष राहत आयुक्त सत्यव्रत साहू और राजस्व मंत्री प्रमिला मलिक को दुर्घटनास्थल पर जाने का निर्देश दिया. अधिकारियों ने कहा कि ओडिशा डिजास्टर रैपिड एक्शन फोर्स (ओडीआरएएफ) की चार टुकड़ियां, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की तीन टुकड़ियां और 60 एंबुलेंस घायलों को बचाने के काम में जुटी हैं. पटनायक स्पेशल रिलीफ कमिश्नर कंट्रोल रूम पहुंचे हैं.  पटनायक ने कहा कि वो स्थिति का जायजा ले रहे हैं और शनिवार (3 जून) की सुबह घटनास्थल पर जाऊंगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जताया. उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं. घायल जल्द स्वस्थ हों. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से बात कर उन्हें स्थिति का जायजा लेने का कहा है. दुर्घटनास्थल पर बचाव कार्य जारी है और प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता दी जा रही है. इसके तुरंत बाद वैष्णव घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं.  

भारतीय रेलवे ने कहा कि मदद के लिए +91 6782 262 286, 8972073925, 9332392339, 8249591559, 7978418322 और 9903370746 पर नंबर जारी किया. रेलवे ने कहा कि किसी भी आपातकालीन स्थिति में आप इस पर संपर्क कर सकते हैं।

इस रेल हादसे से कई ट्रेन रद्द कर दी गई या फिर कई रेल डायवर्ट कर दी गई है, इसमें सत्नागाची चेन्नई सेंट्रल एक्सप्रेस (22807), दीघा से विशाखापट्नम (22873) जाने वाली सहित कई रेल है. 

ओडिशा रेल हादसे को लेकर केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मुआवजे का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि एक्सीडेंट में जान गंवाने वाले के परिजनों को दस लाख रुपये और गंभीर रूप से घायल लोगों के 2 लाख रुपये मुआवजे की घोषणी की है. वहीं उन्होंने बताया कि मामूली चोटों वाले शख्स को 50 हजार रुपये दिए जाएंगे.

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!