घोरावल । एक तरफ मानव प्रगति के झंडे गाड़ते जहां चांद पर बसने की सोच रहा है वहीं उत्तर प्रदेश के अति पिछड़े जिले का दर्जा रखने वाले सोनभद्र में 21 वीं सदी में भी अंधविश्वास की जड़ें इतनी गहरी हैं कि किसी भी जीती – जागती महिला को भूत – प्रेत , जादू – टोना करने वाली महिला करार कर , अमानवीय यातनाएं देने की खबरें अक्सर आती रहती हैं । कुछ इसी तरह की एक घटना घोरावल क्षेत्र से भी सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है ।

फ़िलहाल पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर बाप बेटों सहित आठ के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है । मिली जानकारी के मुताबिक घोरावल थाना क्षेत्र के पड़वनिया गांव निवासी एक व्यक्ति को क्षेत्र की एक 40 वर्षीय महिला पर शक था कि उसने उसके बेटे और बहू पर भूत प्रेत कर रखा है ।

बताते हैं कि बाकायदा इस को लेकर संबंधित व्यक्ति ने पड़ोसियों के साथ मिलकर पंचायत बिठाई और पीड़ित महिला को दोषी करार दिया । इसके बाद सभी ने मिलकर उसका बाल मुडवाया उसके बाद उसके चेहरे पर रोली , काजल और चूना पोत कर गांव वालों के सामने घुमाया गया ।

कुछ दिन तक तो यह मामला गांव स्तर पर ही दबा रहा लेकिन शुक्रवार को जब यह मामला घोरावल पुलिस के पास पहुंचा तो हड़कंप मच गया । पीड़िता ने पुलिस को तहरीर देकर जहां सारी घटना बयां की वहीं , आरोपियों पर लगातार डराने धमकाने का आरोप भी लगाया है ।

मामले की गंभीरता को देखते हुए घोरावल पुलिस ने पड़वनिया निवासी हरी और उसके बेटे अंगनू व अशोक , झमझम उर्फ छोटे और उसके बेटे बऊ , सगे भाई रामजी और कमलेश , दनिया पत्नी मुख्खडू के खिलाफआईपीसी की धारा 147 , 323 , 504 , 506 , 509 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है । पुलिस का कहना है कि आरोपियों की तलाश की जा रही है।

Share This News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here