Sunday, August 7, 2022
spot_img
Homeसोनभद्रआर्य समाज चोपन प्रकरण पर चोपन थाना परिसर में हुई बैठक

आर्य समाज चोपन प्रकरण पर चोपन थाना परिसर में हुई बैठक

पहले प्रदेश आर्य सभा से वैध निर्वाचन प्रमाण पत्र हासिल करें प्रकाश दास

जिला प्रधान कपिल देव सिंह आर्य के साथ ठोस तथ्यों और प्रमाण के साथ प्रधान संजय जैन ने रखी अपनी बात

अनियमितताओं को किया उजागर

चोपन, सोनभद्र। 3 जुलाई 2022 की शाम आर्य समाज चोपन प्रकरण के संदर्भ में थानाध्यक्ष महोदय के निर्देश पर एक बैठक नगर कस्बा इंचार्ज कृष्ण अवतार सिंह की मध्यस्थता में हुई।

बैठक में विधिसम्मत निर्वाचित प्रधान संजय जैन, मंत्री अजय भाटिया, जिला आर्य प्रतिनिधि सभा सोनभद्र के जिला प्रधान श्री कपिल देव सिंह जी आर्य के साथ उपस्थित रहे। दूसरे पक्ष से अवैध तरीके से काबिज पूर्व मंत्री श्री प्रकाश दास स्वयंभू प्रधान के रुप में अपने पुत्र जुगनू दास,धीरज चक्रवर्ती, नरेंद्र प्रसाद एवं कुछ अन्य बाहरी लोगों के साथ उपस्थित रहे।

बैठक में जिला सभा प्रधान कपिल देव सिंह ने निर्वाचन के लिए उत्पन्न परिस्थितियों का उल्लेख करते हुए प्रधान संजय जैन की कमेटी को वैध बताया और श्री प्रकाश दास द्वारा अभी तक नयी कमेटी को कार्यभार न सौंपे जाने की बात कही।

अपना पक्ष रखते हुए संजय जैन एवं अजय भाटिया ने आर्य प्रतिनिधि सभा उत्तर प्रदेश के प्रधान श्री देवेन्द्र पाल वर्मा द्वारा जारी निर्वाचन प्रमाण पत्र सहित साक्ष्यों के साथ पूरी पत्रावली प्रस्तुत करते हुए विद्यालय एवं आर्य समाज में चल रही अनियमितताओं का उल्लेख करते हुए कहा कि किसी भी संस्था में मंत्री का पद सबसे महत्वपूर्ण होता है।

करीब दो दशक से प्रकाश दास यहां मंत्री हैं लेकिन आज तक किसी बैंक में स्कूल अथवा समाज का खाता तक नहीं है। बच्चों से पूरी फीस एवं समाज का पैसा दशकों से पदाधिकारी नगदी के रूप में अपने पास रखते रहे हैं और अब गत वर्ष प्रधान शम्भू प्रसाद के निधन के बाद हिसाब किताब का पूरा ठीकरा उसके सिर फोड़ लाखों लाख रुपए का वारा न्यारा कर ईमानदार बने हुए हैं।

पदाधिकारियों के पास भारी धन राशि होने के बावजूद करीब तीन लाख रुपए बिजली का बिल और हजारों रुपए पुस्तक प्रकाशक के किताबों के बाकी है। इससे समाज में आर्य समाज और स्कूल की छवि धूमिल हो रही है।

प्रकाश दास और उनकी टीम ठोस तथ्यों के साथ अपने पक्ष में कोई प्रमाण नहीं प्रस्तुत कर सकी और हवा में ही अपने को जायज ठहराने का असफल प्रयास करती रही। बैठक में कई बार उनके पुत्र जुगनू दास ने आधारहीन बातें करते हुए अपना पक्ष जायज ठहराने की कोशिश की जिसपर उन्हें शांत रहने की हिदायत भी देनी पड़ी।

दोनों पक्षों को बड़ी गम्भीरता से सुनने के बाद मध्यस्थता कर रहे यशस्वी कस्बा इंचार्ज श्री कृष्ण अवतार सिंह ने कहा कि बैंक में खाता न होना और लाखों का बिजली बिल बकाया होना काफी गंभीर मसला है।

प्रकाश दास एवं उनकी टीम अगर जिला प्रधान द्वारा कराए गए निर्वाचन और प्रदेश सभा द्वारा संजय जैन के पक्ष में जारी निर्वाचन प्रमाण पत्र से असंतुष्ट हैं तो अपनी आपत्तियों के साथ अपना प्रतिवेदन जिला एवं प्रदेश सभा के सम्मुख प्रस्तुत कर अपनी बात रखें ।पूर्व में जारी प्रमाण पत्र को निरस्त करवा कर उनसे अपने पक्ष में निर्वाचन प्रमाण पत्र हासिल करें। उन्होंने संजय जैन से भी अपनी कठिनाइयों से प्रदेश सभा को अवगत कराकर समाधान की बात कही।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News