Monday, May 20, 2024
HomeUncategorizedअमन चैन और मुल्क की सलामती के लिए होता है रोज़ा इफ्तारी...

अमन चैन और मुल्क की सलामती के लिए होता है रोज़ा इफ्तारी का आयोजन

-

समर सैम की कलम से


सोनभद्र। जनपद सोनभद्र के मुख्यालय रॉबर्ट्सगंज स्थित उरमौरा में रोज़ेदारों के लिए सामूहिक रोज़ा इफ्तारी का आयोजन किया गया। हर साल की तरह इस साल भी
जय हिंद फाऊंडेशन व अल इमान फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष फाउंडर एवं जिला संयोजक मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के हाजी सलीम हुसैन ने इफ्तारी का आयोजन किया। समाजसेवी एवं वरिष्ठ पत्रकार हाजी सलीम हुसैन ने अपने गरीब खाने पर रोजा इफ्तार का इंतेज़ाम निहायत ही एहतराम और अक़ीदत के साथ किया। रोज़ेदारों को इफ्तारी कराना इस्लाम मज़हब में सुन्नत माना जाता है। लोग सवाब हासिल करने के लिए रमज़ानुल मुबारक के पाक मौके पर रोज़ेदारों को इफ्तारी करवाते हैं। सलीम हुसैन के द्वारा अपने ही मैरिज गार्डन में हर साल पुर एखलाक के साथ रोज़ेदारों के लिए सामूहिक इफ्तारी का आयोजन किया जाता है। इस मौके पर शाम को इफ्तारी के वक्त रोज़ेदारों को मोहब्बत ए शर्बत, खजूर और फल के साथ रोज़ा खुलवाया गया।

रोज़ा खोलने के बाद रोज़ेदारों ने सामूहिक रूप में जमात के साथ पेश इमाम की इमामत में नमाज़ अदा की। नमाज़ पढ़ने के बाद रोज़ेदारों को लज़ीज़ बिरयानी पेश की गई। इस मौके पर बच्चों और महिलाओं के लिए भी अलग हाल में रोज़ा इफ्तारी और बिरयानी का इंतेज़ाम किया गया। सलीम हुसैन लगातार भाईचारे और दिनियाती ख़िदमत को अंजाम देने में मशगूल हैं। सलीम हुसैन की पेशवाई में मैरिज गार्डन रोज़ेदारों से गुलज़ार रहा। लज़ीज़ दावत ए बिरयानी के बाद चाय की मेज़बानी अदब और अक़ीदत के साथ सलीम हुसैन ने पेश की। इस मौके पर उनकी मेहमान नवाजी और हुस्न ओ इकलाख की सभी ने गर्मजोशी के साथ तारीफ़ की।इफ्तारी के बाद रोज़ेदारों को मस्जिद ए उरमौरा रावटसगंज के पेश इमाम बशारत ए इस्लाम जनाब मजहर साहब ने नमाज पढ़ाई।
इस मौके पर शहर के मौजूद अज़ीम शख्सियातों में इल्म के मेहराब मौलाना हिफाजत हुसैन, दीन ए इस्लाम के गौहर हाजी इसरार हुसैन, इल्म के रोशन सितारे हाजी अब्दुल वाली, गुलाम ए मुस्तफा का जाँनिसार हाजी शमशेर अंसारी, नूर ए पैकर शमसुद्दीन खान, गुलशन ए इस्लाम हाजी नूरुद्दीन खान, दीन ए अज़मत हाफिज जाबिर अख्तर, पूर्व पार्षद सैय्यद मिंटू के साथ साथ सैकड़ो दानिशवर जलवा अफ़रोज़ रहे। इस मौके पर नमाज़ के बाद सामुहिकरूप में रोज़ेदारों ने मादरे वतन हिंदुस्तान की सलामती के लिए हाथ उठाकर परवदिगार से दुआएं मांगी। साथ ही दुनिया में इंसानियत, अमन और भाईचारे को क़ायम करने के लिए रोज़ेदारों ने अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त की बारगाह में हाज़िरी पेश की। समाजसेवी एहतराम ए आला गुलाम ए मुस्तुफा हरदिल अज़ीज़ जनाब सलीम हुसैन के इस रोज़ा इफ्तारी का मक़सद अमन चैन और भाईचारा की सलामती के लिए है।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!