Saturday, June 22, 2024
Homeअंतर्राष्ट्रीयअमेरिका के दो ब्लैक हॉक हेलीकॉप्टर हुए क्रैश , हादसे में 9...

अमेरिका के दो ब्लैक हॉक हेलीकॉप्टर हुए क्रैश , हादसे में 9 जवानों ने गंवाई जान

-

फोर्ट कैंपबेल के सार्वजनिक मामलों के ऑफिस ने कहा कि चालक दल के सदस्य 101 वें एयरबोर्न डिवीजन के ऑपरेटेड दो एचएच -60 ब्लैक हॉक हेलीकॉप्टर उड़ा रहे थे. ये बुधवार देर रात केंटकी के ट्रिग काउंटी में विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

वॉशिंगटन : अमेरिका के दो अत्‍याधुनिक लड़ाकू हेलीकॉप्टर ब्लैक हॉक दुर्घटनाग्रस्त हो गए हैं. ये हेलीकॉप्टर केंटकी में उड़ रहे थे. इस दौरान टकराव के चलते उनमें आग लग गई. दुर्घटना में 9 सैनिकों की जान चली गई है. यूएस के लोकल मीडिया ने यह जानकारी दी.

समाचार एजेंसी एएफपी के मताबिक, अमेरिकी सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि केंटकी के ऊपर एक नियमित प्रशिक्षण मिशन के दौरान दो ब्लैक हॉक हेलीकॉप्टर हादसे का शिकार हो गए. दुर्घटनाग्रस्त होने से 9 सैनिकों की मौत हो गई. फोर्ट कैंपबेल के सार्वजनिक मामलों के ऑफिस ने कहा कि चालक दल के सदस्य 101 वें एयरबोर्न डिवीजन के ऑपरेटेड दो एचएच -60 ब्लैक हॉक हेलीकॉप्टर उड़ा रहे थे. ये बुधवार देर रात केंटकी के ट्रिग काउंटी में विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

एक-दूसरे के करीब क्रैश हुए हेलीकॉप्टर
क्रैश साइट से दूरी थोड़ी पर रहने वाले एक शख्स ने बताया कि हादसा होने से पहले उसने दोनों हेलीकॉप्टरों को अपने घर पर ऊपर उड़ते हुए देखा. मैं और मेरी पत्नी बैठे हुए थे और मैंने कहा कि वाह, दो हेलीकॉप्टर काफी नीचे दिखाई दे रहे हैं और दोनों एक-दूसरे के करीब हैं.

1381 मील तक होती है ब्लैक हॉक की रेंज
बता दें कि ब्लैक हॉक की रेंज 1,381 मील तक है. एक बार फ्यूल लोड करने पर ये सैकड़ों किमी तक उड़ सकते हैं. इनकी लिफ्ट कैपेसिटी भी अच्‍छी बताई जाती है. अमेरिकी सेना का दावा है कि अपने बाहरी कार्गो हुक के साथ, ब्लैक हॉक 8,000 पाउंड वजन वाली वस्‍तुओं को उठा सकता है.

फ्रंट लाइन यूटिलिटी हेलीकॉप्टर में शुमार
यूएस की सेना के ब्लैक हॉक फ्रंट लाइन यूटिलिटी हेलीकॉप्टर हैं. इन्हें अमेरिका ने वियतनाम युद्ध के दौरान मिले सबक के बाद तैयार किया. दुनियाभर में अमेरिका के कई मित्र देशों की स्‍पेशल फोर्सेस इस तरह के हेलीकॉप्टर इस्‍तेमाल करती हैं. ये हेलीकॉप्टर खास मिशन को अंजाम देने में कारगर माने गए हैं, क्‍योंकि इनकी स्‍पीड तेज होती है और इनमें तकनीक चीजें भी अधिक होती हैं. 

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!