Thursday, February 29, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसोनभद्रSonbhdr news: खतरों के खिलाड़ी स्नेक मैन रिक्की ने बचाई हजारो जान

Sonbhdr news: खतरों के खिलाड़ी स्नेक मैन रिक्की ने बचाई हजारो जान

-


आचार्य प्रमोद चौबे
विशेष संवाददाता

जहरीले जीव-जंतु हो या हो विविध वनस्पति इतना अवश्य है कि जब इंसान को विविध जहरीले जीव-जंतुओं से लाभ की जानकारी नहीं होती तो उसे मारने में ही भलाई समझता है, जबकि उसकी हमें रक्षा करनी चाहिए।

Sonbhdra news सोनभद्र । इंसान जहाँ स्वार्थी होकर केवल खुद के लिए लगा है, वहीं ओबरा के रिक्की चंद्रा ने अब तक कई हजार जहरीले जीव-जंतुओं की जान बचाई है। खतरों के खिलाड़ी स्नेक मैन snake men रिकी ने जहरीले जीवों से मानव की भी बड़े स्तर पर सुरक्षा की है।

रिक्की का मानना हैं कि जैसे पृथ्वी पर इंसान है, उसी तरह से प्रत्येक चीजों का महत्व है। चाहे वे जहरीले जीव-जंतु हो या हो विविध वनस्पति इतना अवश्य है कि जब इंसान को विविध जहरीले जीव-जंतुओं से लाभ की जानकारी नहीं होती तो उसे मारने में ही भलाई समझता है, जबकि उसकी हमें रक्षा करनी चाहिए।

भगवान भोले नाथ की चर्चा करते हुए रिक्की कहते हैं कि उनके परिवार में एक दूसरे के विपरीत सभी एक साथ रहते हैं भोले नाथ के गले में सर्प तो भगवान गणेश की सवारी चूहा। भगवान कार्तिकेय की सवारी मयूर है। भला हम क्यों नहीं रह सकते ? प्राकृतिक संतुलन के लिए सबकी जरूरत है।

घरों के मालिक को किया बाहर
रिक्की कहते हैं कि इंसान के घर बनाने से पहले यहीं जीव-जंतु रहा करते थे। इंसान ने घरों के मालिकों को बाहर कर दिया और वहाँ घर बनाकर अपना बताने लगे। जैव विविधता के बिना हमारा जीवन असुरक्षित है। इन दिनों उमस प्रारंभ हो गई है। ऐसी स्थिति में जहरीले जीव जंतु भी बदहवास होकर घूमने लगते हैं। बारिश के दिनों में उनके बिलों या घरों में पानी घुस जाता है। ऐसी स्थिति में भी वे जन बचाने के लिए बाहर घूमने लगते हैं।

जीव-जंतु के लिए इंसान घातक
इंसान जहरीले जीव जंतुओं को जान का खतरा बताकर मारता रहता है, जो ठीक नहीं है। उनके घरों पर इंसान कब्जा न करें, बल्कि खुद की आबादी कम रखे। समस्या पैदा ही न हो। समाधान के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। जहरीले जीव जंतुओं से परेशान व्यक्ति हेल्प लाइन 8423489290, 9565206433 पर कॉल कर मदद ले सकता है। आस-पास के गरीबों के लिए निःशुल्क मदद करते हैं।

also realeted क्या कैमूर वन्य जीव क्षेत्र के अंदर बना लोढ़ी स्थित टोल प्लाजा हो सकता है डिस्मेंटल ? मामले में जिलाधिकारी व उपसा के सीईओ एवम डीएफओ को एनजीटी ने किया तलब

परियोजना के विस्तारीकरण से जीवों को क्षति
ओबरा सी के विस्तारीकरण में हजारों विशालकाय वृक्ष काटे गए। पर्यावरण संतुलन में अत्यंत मददगार जीव-जंतुओं को
इंसानों से अनगिनत जीव-जंतुओं को अपूरणीय क्षति पहुंची है। उनकी जगह पर बिजली परियोजना स्थापित हो रही है।

सुरक्षित स्थान पर जीवों को छोड़ना
रिक्की जहरीले जीव-जंतुओं को उनके प्राकृतिक परिवेश में छोड़ देते हैं। सर्प, विषखोपड़ा आदि विविध जीव-जंतुओं को वे खतरा लेकर पकड़ते हैं और उन्हें सुरक्षित छोड़ देते हैं। जहरीले जीव-जंतु को पकड़ने में माहिर रिक्की की मदद फायर बिग्रेड, वन विभाग के लोग भी लेते हैं।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!