Saturday, April 13, 2024
Homeबिग ब्रेकिंगहादसा : इंदौर के बेलेश्वर मंदिर की छत गिरने से 35 लोगों...

हादसा : इंदौर के बेलेश्वर मंदिर की छत गिरने से 35 लोगों की मौत , सेना का सर्च ऑपरेशन जारी

-

बावड़ी से अब तक 35 शव निकाले गए, सेना का सर्च ऑपरेशन जारी

रामनवमी के दिन इंदौर शहर में बड़ा हादसा हो गया. यहां बेलेश्वर मंदिर में पूजा करने के दौरान 24 से ज्यादा लोग बावड़ी में गिर गए थे. घटना में 13 लोगों की मौत हो गई है. मरने वालों में 10 महिलाएं और एक युवक है. हादसे की जानकारी लगते ही मौके पर 3 थानों से पुलिस बल को पहुंच गई. मौके पर SDRF की टीम राहत बचाव में जुटी है. पूजा के दौरान बुजुर्ग, महिला और बच्चे मौजूद थे. CM शिवराज ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि अभी तक 19 लोगों को बचाया गया है.

इंदौर (मध्यप्रदेश) : मध्यप्रदेश के इंदौर में गुरुवार को हुए हादसे में बावड़ी से अब तक 35 शव निकाले जा चुके हैं. वहीं सर्च ऑपरेशन लगातार जारी है. इंदौर संभाग के आयुक्त ने बताया है कि NDRF के बाद सेना ने भी मोर्चा संभाल लिया है. रात में बावड़ी से 21 लाशें निकाली गईं. रामनवमी के दिन गुरुवार को दिन में लगभग 11:30 बजे ये हादसा हुआ था, जिसने पूरे देश को हिला कर रख दिया. इस हादसे में एक दो नहीं बल्कि अब तक 35 जानें जा चुकी है.

रेस्क्यू ऑपरेशन में एनडीआरएफ की 140 लोगों की टीम जुटी हुई है, जिसमें 15 जवान एनडीआरएफ के 50 जवान एसडीआरएफ और 75 जवान आर्मी के मिलकर रेस्क्यू ऑपरेशन चला रहे हैं. इंदौर जिले के महू आर्मी हेडक्वार्टर से आर्मी जवानों का दल भी रात में घटनास्थल पर पहुंचा. आर्मी के मौके पर पहुंचने के बाद लाशों का निकलने की गति तेज हुई. जिसमें पूरी रात ऑपरेशन चलाने के बाद 21 शव निकाले गए.

गुरुवार शाम तक जिन 18 लोगों का रेस्क्यू किया गया था. इनमें दो को उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया, बाकी सभी का इलाज अस्पतालों में चल रहा है. जिन लोगों की शिकायतें मिली, उस हिसाब से अभी भी 2 लोग मिसिंग हैं.

उल्लेखनीय है कि जिले केजूनी थाना क्षेत्र स्थित बेलेश्वर मंदिर में राम नवमी की पूजा के दौरान बड़ा हादसा हो गया. मंदिर की छत अचानक से गिर गई जिससे प्रांगण के अंदर बनी पानी की बावड़ी में 24 से अधिक लोग गिर गए. बताया जा रहा है कि घटना में 13 लोगों की मौत हो गई है. सात महिला और एक युवक के शव को बाहर निकाला गया है.

वहीं जानकारी मिलते ही जूनी थाना पुलिस और SDRF की टीम मौके पर पहुंचकर बचाव के काम में जुट हुई है. मौके पर 3 थानों से पुलिस बल को भी बुलाया गया क्योंकि दुर्घटनास्थल पर लोगों का भारी हुजूम मौजूद था. पुलिस कमिश्नर और कलेक्टर समेत सभी आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं. राहत और बचाव का काम जारी है. फिलहाल जो सूचना आई है उसमें 19 लोगों को बचाया गया है इसमें 2 बच्ची और 3 आदमी शामिल हैं. सीएम ने ट्वीट के जरिए रेस्क्यू ऑपरेशन के बारे में जानकारी साझा किया है.

पीएम मोदी ने जताया दुख: इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है. पीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा कि इंदौर में हुए हादसे से बेहद आहत हूं. सीएम शिवराज से बात कर घटना से संबंधित जानकारी ली है. राज्य सरकार बचाव और राहत कार्य में तेजी से आगे बढ़ रही है. मेरी प्रार्थना उन सभी प्रभावितों और उनके परिवारों के साथ है. सीएम ने मतृकों के परिजनों को पांच-पांच लाख और घायलों को 50हजार रुपए सहायता राशि देने का भी एलान किया है.

CM चिंतित मौके पर पहुंचे जनप्रतिनिधि:मंदिर में हुए हादसे की जानकारी लगते ही पूर्व मंत्री जीतू पटवारी और क्षेत्रीय विधायक आकाश विजयवर्गीय मौके पर पहुंच गए है. इंदौर के मंदिर हादसे के बाद CM शिवराज सिंह चौहान स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. उन्होने कलेक्टर, कमिश्नर समेत आला अधिकारियों को फौरन रेस्क्यू ऑपरेशन तेज करने के निर्देश दिए. साथ ही कहा कि लोगों को बचाया जाए और जनहानि ना हो इसकी कोशिश की जाए. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर इस दुर्घटना पर गहरा दुख जताया है और साथ ही रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर जानकारी दी है. उन्होने कहा कि अब तक 19 लोगों को बचाया जा चुका है. हम पूरी ताकत से रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटे हुए हैं, मैं लगातार प्रशासन के संपर्क में हूं.

लापरवाही का आरोप:घटना इंदौर के स्नेह नगर की बताई जा रही है. स्नेह नगर के पास पटेल नगर में श्री बेलेश्वर महादेव झूलेलाल मंदिर है. मंदिर के अदंर ही एक बावड़ी बनी है. गुरुवार के दिन पूजा के दौरान इसके ऊपर की छत धंसने से 24 से अधिक लोग बावड़ी में गिर गए. बावड़ी में गिरे लोगों को बचाने की कोशिश जारी है. आरोप है कि, हादसे के बाद काफी देर तक मौके पर फायर बिग्रेड और 108 एंबुलेंस नहीं पहुंची थी.

हादसे का पूरा मंजर:इंदौर शहर में यह मंदिर काफी पुराना है और हर साल रामनवमी पर यहां भीड़ जुटती है. हादसा में मंदिर की छत धंस गई जिससे हवन-पूजन में जुटे कम से कम 24 लोग बावड़ी में जा गिरे. मौके पर रेस्क्यू के लिए पुलिस बल ने रस्सियों को फेंका और लोगों को बचाने का काम कर रहे हैं. खबर लिखे जाने तक कम से कम 19 लोगों को बावड़ी से बाहर निकाला जा चुका है. बावड़ी कितनी गहरी है और कोई अंदर फंसा है इस पर अभी अपडेट आना बाकी है. लोगों का कहना है कि लोग पूजा के लिए छत पर बैठे हुए थे तभी तेज आवाज आई और लोग बावड़ी में समा गए.

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!