Saturday, April 13, 2024
Homeब्रेकिंगघुवास के जंगल में दिखा था तेंदुआ, वन विभाग की टीम...

घुवास के जंगल में दिखा था तेंदुआ, वन विभाग की टीम ने रेस्क्यू कर पकड़ा

-

  1. घोरावल । स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के दूरस्थ पश्चिमी एरिया घुवास के जंगल में पिछले कुछ दिनों से विचरण कर रहे तेंदुआ को रविवार की देर रात वन विभाग तथा पुलिस विभाग की टीम ने मिलकर पकड़ लिया है। तेंदुआ देखे जाने से ग्रामीणों में भय का माहौल ब्याप्त हो गया था । अपने शिकार के लिए खतनाक माना जाने वाला जानवर बीते कुछ दिनों से गांव के पास जंगल क्षेत्र में डेरा डाले हुए था । जंगल से सटे इलाकों में रहने वाले लोगो की तेंदुआ की खबर सुन नींद उड़ी थी । रविवार को घुवास गांव के दिनेश यादव ने तीन की संख्या में उधर से जा रहे तेंदुआ को देखा था । उसने तुरंत फोटो और वीडियो शूट किया । मामले की जानकारी वन विभाग को मिली ।जानकारी मिलने पर वन विभाग इसको लेकर सतर्क हुआ ।

ग्रामीणों द्वारा तेंदुआ देखे जाने की पुष्टि के लिए घोरावल वन क्षेत्राधिकारी सुरजू प्रसाद द्वारा एक टीम तैयार कर भेजा गया । टीम तैयार होकर जंगल की तरफ गई । तेंदुए के पथ संकेत पाकर वन विभाग को स्पष्ट हो गया कि क्षेत्र में तेंदुआ है । इसके बाद वन दरोगा अंजनी मिश्रा के नेतृत्व में गई टीम तेंदुए की पकड़ करने में लग गई । रविवार की देर शाम तक तेंदुआ पकड़ से बाहर रहा ।

तेंदुआ पकड़ने के लिए पुलिस क्षेत्राधिकारी के निर्देश पर उभ्भा चौकी इंचार्ज धर्मेंद्र यादव भी अपनी फोर्स के साथ लगे रहे । जंगल में रात के समय तेंदुआ जैसे हिंसक जानवर को पकड़ना बहुत ही मुश्किल कार्य है । फिर भी गाड़ियों की लाइट जला कर वन तथा पुलिस विभाग के लगभग 15 कर्मी इस कार्य में लगे रहे । टीम में वन दारोगा राजन मिश्रा , ओमप्रकाश , संतोष , विश्वजीत , रमाशंकर रहे । रात 2 बजे तेंदुआ दिखाई पड़ा । टीम ने घेराबंदी कर तेंदुआ पकड़ने वाले उपकरणों के साथ तेंदुए की घेराबंदी कर उसे पकड़ पिंजरे में कैद कर लिया गया ।

रेस्क्यू टीम के वन दरोगा अंजनी मिश्रा ने बताया कि तेंदुआ को पकड़ लिया गया है । उसे वन रेंज कार्यालय घोरावल लाया गया । हालांकि तेंदुआ कुछ बीमार लग रहा है , क्योंकि खुले जंगल में वायरल वीडियो में स्पष्ट दिखाई पड़ा कि तेंदुए के पास कुत्ता फ़टक रहा है लेकिन तेंदुआ उस पर हमला नहीं किया । जबकि तेंदुआ जैसे जानवर के सामने खुले में फ़टकने की हिम्मत साधारण जीव जानवरों की नहीं होती । वह कुछ अस्वस्थ लग रहा है जिसके लिए पशु चिकित्सक को बुलाया गया है । उनके निर्देशन के बाद तेंदुए को वन विभाग के उच्चाधिकारियों के निर्देश पर उचित स्थान पर भेज दिया जाएगा ।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!