Thursday, July 7, 2022
spot_img
Homeदेशसोनिया के आवास पर आज होगी संसदीय रणनीति समूह की बैठक ,...

सोनिया के आवास पर आज होगी संसदीय रणनीति समूह की बैठक , सरकार को घेरने की तैयारी

ईमानदार और निड़र पत्रकारिता के हाथ मजबूत करने के लिए विंध्यलीडर के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब और मोबाइल एप को डाउनलोड करें

आगामी संसद सत्र में सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस पूरी तैयारी कर रही है. सत्र में उठाए जाने वाले मुद्दों पर विचार करने के लिए पार्टी ने संसदीय रणनीति समूह की बैठक बुलाई है. ये बैठक आज पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर होगी. 

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी ने सरकार को घेरने के लिए आगामी संसद सत्र में उठाए जाने वाले मुद्दों पर विचार करने के लिए आज अपने संसदीय रणनीति समूह की बैठक बुलाई है।

यह बैठक शाम साढ़े चार बजे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर होगी. सूत्रों के मुताबिक पार्टी संसद के आगामी सत्र में 18 मुद्दे उठाएगी, जिनमें मुद्रास्फीति, कोविड प्रबंधन, किसानों का विरोध, पेगासस, राफेल और भारत-चीन सीमा मुद्दे उसके केंद्रबिंदु में रहेंगे.

कृषि कानून पर वेणुगोपाल बोले-देर आए दुरुस्त आए

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू होने जा रहा है और 23 दिसंबर को समाप्त होगा. इस बीच, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस लेने के एक विधेयक को मंजूरी दे दी है.

मामले के बारे में पूछे जाने पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बुधवार को कहा, ‘देर आए दुरुस्त आए. लेकिन हमें कुछ स्पष्टीकरण की आवश्यकता है, क्या एमएसपी जोड़ा गया है और मुआवजा दिया जा रहा है या नहीं.’

हालांकि, विपक्षी एकता, जो पिछले संसद सत्र में देखी जा रही थी, अब संदेह के घेरे में आ गई है क्योंकि कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद और हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए.

कांग्रेस की पृष्ठभूमि वाले कई अन्य नेता पिछले कुछ महीनों में तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए हैं. इनमें सुष्मिता देव, लुईजिन्हो फालेरियो और अभिजीत मुखर्जी प्रमुख हैं.

नेताओं के टीएमसी में जाने पर ये बोले
इस पर वेणुगोपाल ने कहा वेणुगोपाल ने कहा, ‘हमें इसकी चिंता नहीं है…अगर कोई सोचता है कि एक दिन कांग्रेस को खत्म कर देगा तो ऐसा कभी नहीं होगा. पहले भी कई लोगों ने यह कोशिश की थी.’

उन्होंने जोर देकर कहा, ‘हमारा मकसद स्पष्ट है कि हमें सरकार की जनविरोधी एवं गरीब विरोधी नीतियों के खिलाफ लड़ना है.’ कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘इसकी (कुछ नेताओं के कांग्रेस में शामिल होना) बहुत ज्यादा चिंता की जा रही है. यह सब महज नाटक है.’

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News