Thursday, June 20, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसोनभद्रसामूहिक विवाह समाज की समरसता एवं समरूपता का प्रतिफल-मुख्य विकास अधिकारी

सामूहिक विवाह समाज की समरसता एवं समरूपता का प्रतिफल-मुख्य विकास अधिकारी

-

सोनभद्र । जनपद में शासन के अति महत्वांकाक्षी योजना के अन्तर्गत मा.मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में जनपद के डायट परिसर में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजनान्तर्गत 900नव युगलों की शादी सम्पन्न कराई गयी।

जनपद के मा.जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ अधिकारी भी उपस्थित होकर कुल 900 नवदम्पति जोड़ों को अपना आशीर्वाद प्रदान किया गया।

सामूहिक विवाह कार्यक्रम में मा. राज्य सभा सांसद रामसकल ,मा. ब्लाक प्रमुख , मा. जिला पंचायत सदस्यगण , नामित जिला स्तरीय अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी उपस्थित रहें । कुल 900 (अनुसूचित जाति-491, अनुसूचित जनजाति-292, अन्य पिछड़ा वर्ग-103, सामान्य वर राज्य सभा सांसद रामसकल जी, मुख्य विकास अधिकारी सौरभ गंगवार , जिला विकास अधिकारी शेषनाथ चौहान, परियोजना निदेशक, ब्लाॅक प्रमुख सदर अजित रावत, ब्लाॅक प्रमुख चोपन लीला देवी गौंड़ , भाजपा जिलाध्यक्ष अजीत चौबे, उप जिलाधिकारी सदर एलएलएम रमेश कुमार, सम्मानित जनप्रतिनिधिगण, खण्ड विकास अधिकारी सदर उमेश सिंह ने सामूहिक विवाह की पावन बेला पर नव युगल को पवित्र गठबंधन के दाम्पत्य सूत्र के आत्मीय संबंधों के साथ गृहस्थ आश्रम में प्रवेश कर जन्म जन्मांतर के पारिवारिक एवं सामाजिक उत्तरदायित्व के कर्तव्य निर्वहन हेतु जीवन की नई पारी पर वर वधू को आशीर्वाद एवं शुभकामना दिया।

जिला समाज कल्याण अधिकारी रमाशंकर ने बताया कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजनान्तर्गत शासन द्वारा एक जोड़े शादी पर रू0 51000- व्यय करने की व्यवस्था की गयी है, जिसमें कन्या के दाम्पत्य जीवन में खुशहाली एवं गृहस्थी की स्थापना हेतु सहायता राशि रू0 35000- मात्र कन्या के बैंक खाते में अन्तरित की जायेगी। विवाह संस्कार के लिए आवश्यक सामग्री-कुकर, गैस चुल्हा, डीनरसेट स्टील, मच्छरदानी, टार्च, बक्सा, मोबाईल सेट, बिछिया पायल, पंखा एवं कपड़े में रू0 10000- मात्र का सामान प्रत्येक जोड़ों को दिया गया तथा कार्यक्रम के आयोजन हेतु भोजन, पण्डाल, फर्नीचर, पेयजल, विद्युत प्रकाश व्यवस्था एवं अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं हेतु रू0 6000- मात्र निर्धारित किया गया है।

मुख्य विकास अधिकारी सौरभ गंगवार ने कहा कि शुभ विवाह प्राणिग्रहण संस्कार जीवन का एक पवित्र गठबंधन है जिसमें पति पत्नी एक दूसरे के साथ समर्पित जीवन जीते हुए समाज एवं देश में अपना योगदान देते हैं । यह सामूहिक विवाह समाज की समरसता एवं समरूपता का प्रतिफल है।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!