Saturday, April 20, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसरकार के लाख प्रयास के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जनहित की...

सरकार के लाख प्रयास के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जनहित की समस्याओं के निराकरण में रुचि नहीं ले रहे हैं – कौशल शर्मा

-

सोनभद्र की स्थापना दिवस पर सदर मुस्ताक खान एवम राजेन्द्र द्विवेदी को संगठन का संरक्षक मनोनीत किया गया है

स्वास्थ्य सेवाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए श्री शर्मा ने कहा कि सरकार के लाख प्रयास के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जनहित की समस्याओं के निराकरण में रुचि नहीं ले रहे हैं । जिसका खामियाजा आम आदमी को भुगतना पड़ रहा है उन्होंने कहा कि नगर में सीटी अस्पताल की मांग लंबे समय से की जा रही है लगभग डेढ़ लाख आबादी के बावजूद तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध न होने के कारण काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है।  उन्होंने दवा की दुकानों को भी रात में शिफ्ट वाइज खुलवाने की मांग जिला प्रशासन से किया है। श्री शर्मा ने बताया कि नजूल भूमि को फ्री होल्ड करने हेतु कई बार इस समस्या को संबंधित पटल पर रखा जा चुका है एवं इस संबंध में पत्राचार भी किया जा चुका है बावजूद इसके आज तक फ्री होल्ड की कार्रवाई नहीं हो सकी जिससे भूमि मालिकों को मालिकाना हक नहीं मिल पा रहा है ।

सोनभद्र । 4 मार्च उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार संगठन की एक आवश्यक बैठक विधि सलाहकार यशपाल जी के फार्म हाउस पर संपन्न हुई वक्ताओं ने कहा कि आज का दिन हम सभी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि आज से 35 वर्ष पूर्व यह जनपद मिर्जापुर जिले का हिस्सा था और आज के दिन ही सोनभद्र अपने अस्तित्व में आया था।सभी ने एक दूसरे को बधाई दी एवं सोनभद्र के अत्यंत समृद्ध होने की कामना की। संगठन के जिला अध्यक्ष कौशल शर्मा ने कहा कि इस जनपद को भारत की ऊर्जा राजधानी के रूप में भी जाना जाता है पांच पावर प्लांट पहले से हैं और 800 मेगावाट के दो पावर प्लांट लगने वाले हैं उन्होंने कहा कि 11वीं से 13वीं शताब्दी के दौरान यह जिला दूसरे काशी के नाम से प्रसिद्ध था नवमी शताब्दी ईसा पूर्व में ब्रह्म दत्त वंश के नागाओं द्वारा विभाजित किया गया आठवीं और सातवीं शताब्दी ईसा पूर्व में जिले का वर्तमान क्षेत्र कौशल और मगध में था यह जनपद ऐतिहासिक तो है ही साथ ही साथ अपने गर्भ में तमाम खनिज संपदाओं जैसे बॉक्साइट चूना पत्थर कोयला सोना आदि भी समेटे हुए है ।

उन्होंने कहा कि सोनभद्र की स्थापना दिवस पर वरिष्ठ पत्रकार एवं व्यवसायी राजेंद्र द्विवेदी एवं सदर मुस्ताक खान को संरक्षक मनोनीत किया गया है सभी पदाधिकारी ने बधाई देते हुए कहा कि यह दोनों लोग संगठन के लिए मिल का पत्थर साबित होंगे उन्होंने कहा कि संगठन व्यापारियों की समस्याओं के निराकरण हेतु प्रतिबद्ध है ।

उन्होंने स्वास्थ्य सेवाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार के लाख प्रयास के बावजूद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जनहित की समस्याओं के निराकरण में रुचि नहीं ले रहे हैं । जिसका खामियाजा आम आदमी को भुगतना पड़ रहा है उन्होंने कहा कि नगर में सीटी अस्पताल की मांग लंबे समय से की जा रही है । लगभग डेढ़ लाख आबादी के बावजूद तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध न होने के कारण काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है। उन्होंने दवा की दुकानों को भी रात में शिफ्ट वाइज खुलवाने की मांग जिला प्रशासन से किया है। श्री शर्मा ने कहा कि नजूल भूमि को फ्री होल्ड करने हेतु कई बार इस समस्या को संबंधित पटल पर रखा जा चुका है एवं इस संबंध में पत्राचार भी किया जा चुका है बावजूद इसके आज तक फ्री होल्ड की कार्रवाई नहीं हो सकी जिससे भूमि मालिकों को मालिकाना हक नहीं मिल पा रहा है ।

बैठक में मुख्य रूप से प्रितपाल सिंह , शरद जायसवाल , राजू जायसवाल , यशपाल सिंह ,रवि जायसवाल , दीप सिंह पटेल ,कृष्णा सोनी ,अमित अग्रवाल ,संजय रघुवंशी , नरेंद्र मोदनवाल ,प्रदीप जायसवाल , राजेश जायसवाल , प्रशांत जैन ,जसकीरत सिंह ,टीपू अली ,अमित वर्मा ,गोल्डी सिंह , शिवनाथ मेहता ,विनोद जायसवाल ,सूर्य जायसवाल ,दीपक मुकेश ,सिद्धार्थ सांवरिया आदि लोग उपस्थित रहे ।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!