Tuesday, May 21, 2024
HomeUncategorizedलो नि वि के अधिकारियों पर उत्पीड़न का आरोप लगा ठेकेदार ने...

लो नि वि के अधिकारियों पर उत्पीड़न का आरोप लगा ठेकेदार ने निगला विषाक्त पदार्थ , हालात गंभीर

-

सोनभद्र। जिले के लोक निर्माण विभाग के प्रांतीय खंड के अधिकारियों से परेशान होकर वहां से निकले कार्यो का ठेका लेकर कार्य कराए जाने के बाद भुगतान नहीं करने व भुगतान करने में हिला हवेली से आजिज आकर एक ठेकेदार ने विषाक्त पदार्थ निगल लिया । आनन – फानन परिजनों ने शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया , जहां ठेकेदार की हालत गंभीर बनी हुई है । ठेकेदार के बेटे ने कहा कि मेरे पिता को लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों द्वारा उनके द्वारा कराए गए कार्य का भुगतान नहीं करने के कारण आर्थिक रूप से परेशान होकर वह डिप्रेशन में जाकर सुसाइड नोट लिख विषाक्त पदार्थ खा लिया जिसकी वजह से उन्हें गम्भीर हालात में अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई है ।

मिली जानकारी के मुताबिक गाजीपुर जिले के नोनहरा थाना क्षेत्र के बवाड़े निवासी और लोनिवि के ठेकेदार श्रीप्रकाश सिंह ( 55 वर्ष ) ने मंगलवार को सोनभद्र जिले के लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के रवैये से परेशान होकर विषाक्त पदार्थ खा लिया । इससे पहले ठेकेदार ने एक सुसाइड नोट लिखा । जिसमें पीड़ित ने सोनभद्र जिले के लोनिवि के अधिकारियों पर काफी गंभीर आरोप लगाए हैं । ठेकेदार के पुत्र विकास सिंह ने मामले में गाजीपुर पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र दिया है जिसमें आरोप लगाया कि सोनभद्र जिले के लोक निर्माण विभाग के तत्कालीन अधिशासी अभियंता चंद्रप्रकाश , वर्तमान सहायक अभियंता टीपी सिंह एवं वर्तमान अवर अभियंता ने मेरे पिता का मानसिक एवं आर्थिक उत्पीड़न किया है । जिसकी वजह से पिता ने सुसाइड नोट लिखकर आत्महत्या करने का प्रयास किया ।

विकास ने बताया कि उनके पिता ने करीब 10 करोड़ रुपये के कार्य कराए हैं । जिसके भुगतान को लेकर उक्त कार्यदायी विभाग द्वारा उनका मानसिक , आर्थिक तरीके से शोषण किया जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र लिख सारे मामले की निष्पक्ष जांच कराने समेत न्याय की गुहार लगाई है ।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!