Monday, August 15, 2022
spot_img
Homeसोनभद्रलोक अदालत मतलब लोगो की अदालत - जनपद न्यायाधीश

लोक अदालत मतलब लोगो की अदालत – जनपद न्यायाधीश

सोनभद्र । राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में 13 अगस्त को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने के लिए माननीय जनपद न्यायाधीश/ अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री अशोक कुमार यादव प्रथम के अध्यक्षता में नगर पालिका के अधिशासी अभियंता व भारत संचार निगम लिमिटेड के एसडीओ के साथ बैठक का आयोजन किया गया।

इस बैठक में माननीय जनपद न्यायाधीश अशोक कुमार यादव प्रथम ने कहा कि आगामी 13 अगस्त को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने के लिए अधिक से अधिक वादों का निस्तारण सुलह समझौते के आधार पर किए जाने एवं लोक अदालत के व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार के निर्देश दिए गए,साथ ही कहा कि यह एक ऐसा तंत्र है इसके जरिए कानूनी विवादों को अदालत के बाहर हाल कर लिया जाता है ।

मामलों के निपटारे का वैकल्पिक माध्यम है इसे बोलचाल की भाषा में लोगों की अदालत भी कहा जा सकता है।
राष्ट्रीय लोक अदालत के नोडल अधिकारी श्रीमती निहारिका चौहान अपर जनपद सत्र न्यायाधीश (पोक्सो)ने कहा कि राष्ट्रीय लोक अदालत में प्री लिटिगेशन स्तर पर अधिक से अधिक वादों का निस्तारण हो जिससे आम जनमानस लाभान्वित हो सके।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव विनय कुमार सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से समाज में हर वर्ग के अंतिम व्यक्ति तक सुलभ न्याय पहुंचाना मुख्य उद्देश्य है। इस माध्यम से वादों के निस्तारण से न सिर्फ समय बल्कि धन की भी बचत होती है इसलिए आम जनमानस से यह अपील है कि राष्ट्रीय लोक अदालत में प्रतिभाग कर अपने-अपने वादों का निस्तारण जरूर कराएं।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News