Monday, May 20, 2024
Homeबिग ब्रेकिंगमोरबी में केबल ब्रिज टूटा , 132 से ज्यादा की मौत ,...

मोरबी में केबल ब्रिज टूटा , 132 से ज्यादा की मौत , बचाव कार्य जारी

-

गुजरात के मोरबी में केबल ब्रिज टूटने से बड़ी संख्या में लोग नदी में जा गिरे . बचाव कार्य जारी है. 132 से ज्यादा लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री से बात कर जानकारी ली. पीएम ने हादसे में जान गंवाने वालों में से प्रत्येक के परिजनों के लिए पीएमएनआरएफ से 2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है. गुजरात सरकार ने भी मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये देने का एलान किया है.

मोरबी : गुजरात के मोरबी बड़ा हादसा हुआ है. यहां मच्छु नदी पर बना मशहूर केबल ब्रिज रविवार शाम को अचानक टूट गया. इस ब्रिज के टूटने से सैकड़ों लोग नदी में जा गिरे. राहत और बचाव कार्य जारी है. गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने सोमवार सुबह तक 132 लोगों की मौत की पुष्टि की है. वहीं, 177 से ज्यादा लोगों को बचाया गया है. इसके साथ-साथ 19 लोगों का अभी भी इलाज जारी है. बचाव अभियान में सहायता के लिए एनडीआरएफ की 3 टीमें मौके पर हैं. . मृतकों में बच्चे, महिलाएं और बुजुर्गों की संख्या ज्यादा है.’ रेस्क्यू के लिए एयरफोर्स के गरुड़ कमांडो भी भेजे गए हैं.

  • हादसे पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल समेत कई लोगों ने दुख जताया है.

बचाव अभियान में लगीं एनडीआरएफ-एसडीआरएफ :

पुलिस और प्रशासन के साथ-साथ स्थानीय लोग भी बचाव अभियान में मदद कर रहे हैं. एंबुलेंस से घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है. बताया जा रहा है कि महज 5 दिन पहले ही इस केबल ब्रिज की मरम्मत हुई थी. मरम्मत के बाद भी इतना बड़ा हादसा होने पर अब कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं. हादसे के बाद तस्वीरें सामने आईं हैं. वीडियो में दिख रहा है कि किस प्रकार केबल ब्रिज टूट गया. जिस दौरान हादसा हुआ पुल पर 400 से ज्यादा लोग थे. 

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि ये बेहद दुखद घटना है. आज शाम को मोरबी में करीब 6:30 बजे हैंगिंग ब्रिज टूटा. इस घटना में मात्र 15 मिनट में शहर का पूरा तंत्र घटना स्थल पर पहुंच गया. बचाव कार्य में अभी तक लगभग 70 लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया है.वहीं, राजकोट से भाजपा सांसद मोहनभाई कल्याणजी कुंडेरिया ने कहा कि ’60 से ज्यादा शव बरामद किए गए, जिनमें से ज्यादातर बच्चे, महिलाएं और बुजुर्ग हैं. NDRF का रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है. हम इस मामले को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं, यह बहुत दुखद है.’ गुजरात के पंचायत मंत्री बृजेश मेरजा ने भी कहा कि ’60 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. स्थानीय नेता भी घायल लोगों की मदद के लिए काम कर रहे हैं.

डीजी एनडीआरएफ अतुल करवाली के मुताबिक बचाव अभियान में सहायता के लिए NDRF की 3 टीमों (2 गांधीनगर से और 1 बड़ौदा से) को भेजा जा चुका है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने की गुजरात सीएम से बात :मोरबी हादसे के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल से बात की. उन्होंने रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए टीमों को तत्काल तैनात करने को कहा. पीएम मोदी ने स्थिति की बारीकी से और लगातार निगरानी करने और प्रभावित लोगों को हरसंभव मदद देने को भी कहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोरबी में हुए हादसे में जान गंवाने वालों में से प्रत्येक के परिजनों के लिए पीएमएनआरएफ से 2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है. घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे. वहीं, गुजरात सरकार ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये देने का एलान किया है.

गुजरात के मुख्यमंत्री ने हादसे पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि ‘मोरबी में केबल ब्रिज गिरने की घटना दुखद है. राहत और बचाव कार्य जारी है. घायलों के तत्काल उपचार की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं. मैं इस संबंध में ज़िला प्रशासन के लगातार संपर्क में हूं.’ उन्होंने कहा कि ‘मैं पीएम के साथ आगे के कार्यक्रमों को छोटा करके गांधीनगर पहुंच रहा हूं. गृह राज्यमंत्री को मौके पर पहुंचने और बचाव कार्यों का मार्गदर्शन करने के लिए कहा गया है. एसडीआरएफ समेत जवानों को बचाव कार्य में लगाया गया है.’

राष्ट्रपति ने जताया दुख : राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने ट्वीट किया ‘गुजरात के मोरबी में हुई त्रासदी ने मुझे चिंतित कर दिया है. मेरी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं प्रभावित लोगों के साथ हैं. राहत और बचाव के प्रयासों से पीड़ितों को राहत मिलेगी.’

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘मोरबी में हुए हादसे से अत्यंत दुखी हूं. इस विषय में मैंने गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी व अन्य अधिकारियों से बात की है. स्थानीय प्रशासन पूरी तत्परता से राहत कार्य में लगा है, NDRF भी शीघ्र घटनास्थल पर पहुंच रही है. प्रशासन को घायलों को तुरंत उपचार देने के निर्देश दिए हैं.

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट किया ‘गुजरात के मोरबी में मच्छु नदी पर केबल पुल टूटने से हुए हादसे का समाचार अत्यंत दुःखद है. गुजरात सरकार और प्रशासन ने घटना का त्वरित संज्ञान लेते हुए, राहत व बचाव के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं. मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं.’

पांच सदस्यीय टीम करेगी जांच :

मोरबी हादसे की जांच के लिए पांच सदस्यीय समिति का गठन किया गया है, जिसमें राजकुमार बेनीवाल, आईएएस नगर प्रशासन आयुक्त, के.एम.पटेल, मुख्य अभियंता गुणवत्ता नियंत्रण, आर एंड बी विभाग, गांधीनगर, डॉ. गोपाल टैंक, एचओडी स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग, एलडी इंजीनियरिंग कॉलेज, अहमदाबाद, संदीप वसावा, सचिव मार्ग और भवन और सुभाष त्रिवेदी, आईजी सीआईडी क्राइम को शामिल किया गया है. गौरतलब है कि ऐतिहासिक ब्रिज का नवीनीकरण ओरेवा ग्रुप द्वारा 02 करोड़ की लागत से किया गया था. आज रविवार होने के वजह से काफी लोग ब्रिज पर पहुंचे थे.

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!