Saturday, February 4, 2023
spot_img
Homeसोनभद्रमुख्य विकास अधिकारी ने वृद्धाश्रम व अमृत सरोवर बिल्ली-मारकुण्डी का किया औचक...

मुख्य विकास अधिकारी ने वृद्धाश्रम व अमृत सरोवर बिल्ली-मारकुण्डी का किया औचक निरीक्षण

सोनभद्र। मुख्य विकास अधिकारी सौैरभ गंगवार द्वारा क्षेत्र भ्रमण कर विकास कार्यों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय जिला विकास अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, भूमि संरक्षण अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी चोपन सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।

इस दौरान वृद्धाश्रम-सलखन के निरीक्षण में यह पाया गया कि मुख्य मार्ग से वृद्धाश्रम जाने वाली मुख्य सड़क पर 100 मी0 पर कीचड़ व पानी लगा था, जिससे वृद्धावस्था आश्रम में वृद्धजनों को आवागमन में असुविधा होगी।

अतएव इस सड़क को तत्काल सी0सी0/इण्टर लाकिंग कराने के निर्देश दिये गये। इस वृद्धाश्रम में 23 पुरूष व 23 महिला वृद्धजन उपस्थित पाये गये तथा बताया गया कि 4 पुरूष वृद्धाजन दवा लेने हेतु बाहर गये है। उपस्थित लोगों से बात करने पर बताया गया कि मीनू के अनुसार सही ढंग से भोजन मिलता है।

वृद्धजनों को एक बड़े हाल में ठहराया गया है। हाल के दीवार में लगी हुई ट्यूबलाईट खराब पायी गयी, निर्देशित किया गया कि लाईट व विद्युत वायरिंग ठीक कराया जाय। हाल को दो भागों में विभक्त कर पुरूष व महिला का वार्ड अलग-अलग बनाया गया है, किन्तु बीच में दरवाजा नहीं लगाया गया है। तत्काल दरवाजा लगाये जाने के निर्देश दिये गये।

महिला व पुरूष वृद्धजनों के कक्षों में अलार्म लगाये जाने के निर्देश दिये गये, जिससे आवश्यकतानुसार अथवा रात्रि के समय किसी प्रकार की आवश्यकता पड़ने पर अलार्म बजाकर देखभाल करने वाले कर्मचारी को सूचना दी जा सके।

उपस्थित जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया गया कि दाल व चावल की आपूर्ति कहां से हो रही है, उसका विवरण उपलब्ध करावें, जिससे सामग्री की गुणवत्ता एवं उसपर किये जा रहे भुगतान का आंकलन किया जा सके। निरीक्षण के समय कुछ वृद्धजनों द्वारा बताया गया कि उन्हें ऑख के चश्मे के संबंध में समस्या है।

जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया गया कि मुख्य चिकित्साधिकारी/ आॅख के चिकित्सक से सम्पर्क कर समस्या का समाधान कराकर आख्या प्रस्तुत करें। परिसर में पानी की निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं पायी गयी। दीवारों पर प्लास्टर नहीं हुआ है।

वृद्धजनों के गायन, वादन व पूजा-पाठ हेतु कोई व्यवस्था नहीं है। महिला शौचालय में बरसात का पानी छत से टपकता हुआ पाया गया। पुरूष वृद्धजनों के लिए मूत्रालय की व्यवस्था सही नहीं है। जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वृद्धजनों के रहने हेतु किसी अच्छे विकल्प की तलाश कर अवगत करावें।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News