Thursday, December 8, 2022
spot_img
HomeUncategorizedमकरा में मलेरिया बुखार से हो रही लगातार मौतों पर सवाल उठाते...

मकरा में मलेरिया बुखार से हो रही लगातार मौतों पर सवाल उठाते पत्र प्रतिनिधियों से खीझे स्वास्थ्य विभाग के कारखासों ने पत्रकार से की हाथापाई

इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार पर सीएमओ व उनके कारखासों ने किया हमला एंव कैमरा किया छतिग्रस्त

वर्तमान योगी सरकार में बेलगाम अधिकारियों व उनके मातहतों द्वारा लगातार पत्रकारों पर हमले बढ़ रहे हैं



सोनभद्र। पिछले कुछ दिनों में म्योरपुर ब्लाक के मकरा सेंदुर गांव में लगभग तीन दर्जन लोगों ने मलेरिया बुखार से दम तोड़ दिया।उक्त गांव में ताबड़तोड़ हो रही मौतों पर स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही उजागर होने व कुम्भकर्णी नींद में सोए स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार लोगों पर मीडिया में उठते सवालों से बौखलाए मुख्यचिकित्साधिकारी व उनके कारखासों ने ,सी एम ओ से उनके कैम्प कार्यालय पहुंच कर मौतों की वजह जानने की कोशिश में लगे पत्रकार को सी एम ओ द्वारा जबाब देने से मना कर दिये जाने के बाद जब इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार द्वारा वहीं पी टी सी किया जाने लगा तो पत्रकार के इस कदम से बौखलाए सी एम ओ के कारखास एक मलेरिया निरीक्षक ने पत्रकार पर हमला बोल दिया।

यहाँ आपको यह बताते चलें कि उक्त हमलावर मलेरिया निरीक्षक की पहुंच का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि वह अपने तैनाती के साल से अब तक सोनभद्र जिले में ही पिछले 17 वर्षों से जमा है और वर्तमान जीरो टॉलरेंस का दम्भ भरने वाली सरकार में भी उसका स्थानांतरण नहीं हो पाया जबकि एक जिले में अधिकतम 7 वर्षो की तैनाती के नियम का कड़ाई से पालन करने का वर्तमान सरकार ने शासनादेश जारी कर उसी के आधार पर कार्य किया।

पीड़ित पत्रकार ने जिलाधिकारी को दिए अपने प्रार्थनापत्र में बताया है कि मकरा में हो रही मौतों पर इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार राजन चौबे व उनके सहयोगी सौरभ कांत पति तिवारी के साथ दिनांक 23.11.2021 समय 07:00 बजे साय लोढ़ी स्थित मुख्य चिकित्सा अधिकारी कैम्प कार्यालय पर विकास खण्ड म्योरपुर के ग्राम पंचायत सेन्दुरमकरा में मलेरिया बुखार से लगातार पन्द्रह मौतों के मामलों को लेकर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नेम सिंह का वर्जन लेने के लिए गये थे। जब नेम सिंह से वार्ता होने लगी तो उन्होंने वर्जन देने से मना कर दिया। उसके बाद प्रार्थी उनके लोढ़ी स्थित कैम्प कार्यालय से बाहर अपने सहयोगी के साथ आ गया और अपने सहयोगी के द्वारा अपना पीटीसी करने लगा।

तभी मुख्य चिकित्साधिकारी सोनभद्र नेम सिंह व विकास खण्ड म्योरपुर के मलेरिया निरीक्षक प्रवीण कुमार सिंह (पी०के० सिंह) के द्वारा प्रार्थी व मेरे सहयोगी के साथ दुर्व्यवहार करने लगे और प्रार्थी के कैमरे को भी तोड दिये। जिसका विडियों रिकार्डिंग भी मौजूद है। जिसकी शिकायत प्रार्थी द्वारा एडीशन (कमिश्नर) मिर्जापुर मण्डल मो0 9454416807 रमेश कुमार समय 07:08 सायं व अनुसूचित जनजाति के उपाध्यक्ष (उत्तर प्रदेशा सरकार) रामनरेश पासवान मो० 9415206233 समय 07:58 सायं काल फोन कर सूचना दिया गया। लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं कि गयी। जिसको लेकर जिले के पत्रकारों में रोष बना हुआ है। इन लोगो के ऊपर उचित कार्यवाही करते हुए प्रार्थी को भी अवगत कराया जाये जिससे कि प्रार्थी निर्भिक रूप से अपनी पत्रकारीता को कर सके।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News