Wednesday, April 24, 2024
Homeब्रेकिंगबिजली बिल माफ व हाफ करने के नाम पर अवर अभियंता पर...

बिजली बिल माफ व हाफ करने के नाम पर अवर अभियंता पर ग्रामीणों ने लगाया वसूली का आरोप

-

बभनी । बभनी थाना क्षेत्र के रम्पाकुरर गांव के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र लिख नधिरा में तैनात अवर अभियंता पर बिजली बिल बकाया को माफ करने अथवा हाफ करने के नाम पर ग्रामीणों से अवैध वसूली करने का आरोप लगाया है।

जिलाधिकारी को भेजे पत्र पत्र में ग्रामीण देवबली ,राधिका, कृष्णमुरारी, फुलझर सहित कई लोगों ने उक्त अवर अभियंता पर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए कार्यवाही की मांग की है।पत्र मे ग्रामीणों ने नधिरा मे तैनात अवर अभिंयता महेश कुमार पर बिजली बिल माफ करने और मीटर रीडिंग जीरो करने के नाम पर ग्रामीणों से रुपये वसूलने का आरोप लगाया है ।

ग्रामीणों के अनुसार पिछले नवम्बर माह मे अवर अभियंता गांव मे आए और बिजली बिल माफ और हाफ कर जमा करने को कहा।पत्र में आरोप लगाया कि ग्रामीणों से पैसा वसूल कर ले गये लेकिन ग्रामीणों का बिजली बिल माफ नही हुआ । जब ग्रामीणों ने रसीद मांगा तो कहा कि मिल जाएगा लेकिन अभी तक बिल जमा करने की रसीद नही मिली ।

मंगलवार को ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को पत्र लिखर कार्यवाही की मांग की है । इस बाबत अवर अभियंता महेश कुमार ने बताया कि ग्रामीणों का आरोप गलत है , ग्रामीण जो भी बोल दे वह सही नही होता , किसी भी प्रकार की कोई वसुली नही की गयी है ।

यहां यह बात भी उल्लेखनीय है कि बिजली बिल में राहत देने की बात पर बिजली उपभोक्ताओं से वसूली करने का यह कोई पहला मामला नही है अपितु समय समय पर विजली विभाग के कर्मचारियों पर सरकार के राजस्व को चूना लगाने के उपक्रम के तौर पर विजली विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा उपभोक्ताओं से पैसा लेकर बिल माफ अथवा हाफ करने की आती ही रहती हैं।अभी कुछ महीने पूर्व ही जनतादल युनाइटेड के जिलाध्यक्ष संतोष पटेल ने विजली विभाग के उच्चाधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री को पत्र लिख विजली विभाग में तैनात वर्तमान कुछ अधिकारियों पर बिजली बिल में गड़बड़ी कर उपभोक्ताओं से लिये गए पैसे से कम की रसीद देकर विजली बिल शून्य करने के खेल से सरकार के राजस्व को हो रही क्षति की जांच कराकर दोषियों पर कार्यवाही की मांग की थी ,पर विडम्बना यह है कि जांच के नाम पर जांच को पेंडिंग रख दोषियों को बचाते रहने की पुरानी परंपरा आज भी कायम है जिससे भ्र्ष्टाचार को लगातार बढ़ावा मिल रहा है।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!