Saturday, February 4, 2023
spot_img
Homeसोनभद्रफर्जी रिलीज आर्डर पर छोड़े गए ट्रकों का मामला पहुंचा राजधानी, रिकर्ड...

फर्जी रिलीज आर्डर पर छोड़े गए ट्रकों का मामला पहुंचा राजधानी, रिकर्ड तलब , डीएम ने मांगी रिपोर्ट

सोनभद्र। खननविभाग , वाणिज्य कर विभाग व परिवहन विभाग की संयुक्त टीम की तरफ से जांच में विना एम एम इलेवन या फिर ओभरलोड में पकड़े जाने के बाद सीज कर जिले के विभिन्न थानों में खड़ा कराए गए बालू – गिट्टी लदी ट्रकों को फर्जी रिलीज आर्डर के जरिए छुड़ाए जाने के खुलासे के बाद जिले से लेकर परिवहन विभाग के मुख्यालय तक हड़कंप मच गया है । परिवहन आयुक्त स्तर से जहां इसको लेकर सारी जानकारी तलब करते हुए , कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं, वहीं जिलाधिकारी चंद्रविजय सिंह ने भी प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए , फर्जी रिलीज आर्डर के सहारे छोड़ी गई गाड़ियों से जुड़े रिकॉर्ड और इसको लेकर पूरी रिपोर्ट तलब कर ली है । मिली जानकारी के मुताबिक बुलाए जाने के बावजूद डीएम के यहां रिकर्ड के साथ उपस्थित न होने के लिए एआरटीओ प्रशासन पीएस राय को फटकार लगाते हुए , उन्हें डीएम के यहां व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर स्थिति से अवगत कराने के लिए कहा गया है ।

उधर उक्त मामले को लेकर परिवहन विभाग में मिर्जापुर से लेकर लखनऊ तक के अफसरों के फोन जिले के एआरटीओ सोनभद्र के दफ्तर में घनघनाते रहे ।मिली जानकारी के मुताबिक परिवहन विभाग राबटर्सगंज , चोपन सहित विभिन्न थानों से फर्जी रिलीज आर्डर पर छोडी गयी गाड़ियों से जुड़ा रिकर्ड जुटाया जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक केवल चोपन थाने से फर्जी रिलीज आर्डर पर 18 वाहन छोड़े जाने की बात सामने आई है । राबटर्सगंज कोतवाली सहित जिले के विभिन्न थानों से भी छोड़े गए वाहनों की संख्या अच्छी – खासी बताई जा रही है ।एक अनुमान के मुताबिक यदि ठीक से जांच की जाय तो जिले के विभिन्न थानों से फर्जी रिलीज ऑर्डर के सहारे उक्त जालसाज रैकेट द्वारा लगभग 400 से अधिक गाड़ियों को छुड़ाया जा चुका है।

बताया जा रहा है कि उक्त मामले की गम्भीरता को देखते हुए जिलाधिकारी ने बुधवार को ही एआरटीओ प्रशासन को तलब किया था लेकिन वह स्वयं न जाकर , व्यस्तता का बहाना बनाते हुए , एआरटीओ प्रवर्तन के जरिए महज चोपन थाने से फर्जी रिलीज ऑर्डर से छोड़े गए 18 वाहनों की रिपोर्ट डीएम के यहां भेज दी । इस पर नाराजगी जताते हुए डीएम ने जहां अब तक फर्जी रिलीज आर्डर पर छुड़ाए गए सभी वाहनों के बाबत रिपोर्ट तलब कर ली है वहीं मिली जानकारी के अनुसार एआरटीओ प्रशासन , एआरटीओ प्रवर्तन और आरआई तीनों अफसर कार्यालय छोड़कर , इससे जुड़े रिकर्ड खंगालने में लगे रहे ।

फिलहाल महज मई जून माह में फर्जी रिलीज आर्डर पर 386 वाहनों को छोड़े जाने का मामला सामने आने के बाद से , परिवहन महकमे में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है । वहीं आरटीओ प्रवर्तन मिर्जापुर की प्रारंभिक जांच में ऐसे कई वाहनों का मामला प्रकाश में आने के बाद आरटीओ प्रशासन संजय तिवारी की तरफ से , एआरटीओ सोनभद्र को प्रकरण से डीएम – एसपी को अवगत कराते हुए एफआईआर कराने के निर्देश दिए जा चुके हैं ।




Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News