Saturday, April 20, 2024
HomeUncategorizedप्रसव कराने में लापरवाही बरतनेे वाली आशाओं की सेवा की जाये समाप्त-जिलाधिकारी

प्रसव कराने में लापरवाही बरतनेे वाली आशाओं की सेवा की जाये समाप्त-जिलाधिकारी

-

जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की जिलाधिकारी ने की समीक्षा

स्वास्थ विभाग के सी.एच.सी. व पी.एच.सी. पर हो रहे निर्माण कार्यो की टीम गठित कर करायी जाये जाॅच-जिलाधिकारी

जनपद में संचालित प्राइवेट अस्पतालों की टीम गठित करायी जाये जाॅच, जाॅच में लापरवाही बरतने वाले सम्बन्धित के खिलाफ होगी कड़ी कार्यवाही-जिलाधिकारी

गर्भवती महिलाओं की डिलेवरी सम्बन्धित स्वास्थ केन्द्रों पर करायी जाये सुनिश्चित-जिलाधिकारी

सोनभद्र । जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की बैठक की, बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने गर्भवती महिलाओं की डिलेवरी सम्बन्धित मामलों की समीक्षा की तो यह तथ्य संज्ञान में आया कि घर पर ही डिलेवरी होने के कारण जच्चा-बच्चा की जान को खतरा बना रहता है और घटनायें हो जाती है ।

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी व सभी चिकित्सा अधीक्षक को निर्देशित करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित किया जाये कि घर पर किसी भी परिस्थिति में डिलेवरी न होने पाये । इसके लिए सम्बन्धित आशाओं को निर्देशित किया जाये कि वह अपने क्षेत्र में होने वाले डिलेवरी के सम्भावनाओं के सम्बन्ध में जानकारी दे और उन्हें लाकर अस्पताल में भर्ती कराये उक्त मामले में किसी भी स्तर पर लापरवाही क्षम्य नहीं होगी ।

जिन भी आशा के द्वारा उक्त मामले में लापरवाही बरती जा रही हो उनके विरूद्ध सेवा समाप्ति की कार्यवाही की जाये । बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने जनपद में संचालित प्राइवेट अस्पतालों के निरीक्षण व उनके विरूद्ध की जा रही कार्यवाही की समीक्षा की समीक्षा के दौरान की गयी कार्यवाही की प्रगति संतोष जनक नहीं पायी गयी ।

जिस पर जिलाधिकारी ने प्राइवेट अस्पताल की जाॅच के नोडल अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि कार्य पद्धति में सुधार लाये अन्यथा की दशा में कार्यवाही सुनिश्चित की जाये । उन्होनें मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि प्राइवेट अस्पतालों के निरीक्षण हेतु टीम गठित कर कार्यवाही सुनिश्चित की जाये इस दौरान जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र व प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र पर हो रहे निर्माण कार्यो कि प्रगति की समीक्षा की ।

समीक्षा के दौरान यू.पी. आर.एन.एस. द्वारा कराये जा रहे निर्माण कार्यो की प्रगति धीमी पायी गयी जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया की यू.पी.आर.एन.एस. द्वारा कराये जा रहे निर्माण कार्यो की टीम गठित कर जाॅच करायी जाये। इस दौरान जिलाधिकारी ने टी.बी.मुक्त अभियान के अन्तर्गत किये जा रहे कार्यो के समीक्षा की और कहा कि टी.बी. मरीजों को गोद लेने वाले व्यक्तियों की संख्या बढ़ायी जाये ।

जनपद में अधिक से अधिक मरीजों को टी.बी. मुक्त करने हेतु विशेष प्रयास किया जाये इस दौरान जिलाधिकारी ने रेड क्रास सोसायटी द्वारा बनाये गये सदस्यों की संख्या के सम्बन्ध में जानकारी ली तो सदस्यों की संख्या कम पायी गयी जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि रेड क्रास सोसायटी के सदस्यों की संख्या बढ़ायी जाये और इसमें जनपद स्तरीय अधिकारीयों को भी जोड़ा जाये ।

इस दौरान उन्होंने आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत बनाये जा रहे गोल्डेन कार्ड के प्रगति की समीक्षा की और कहा कि स्वास्थ्य विभाग, जिला पंचायत राज विभाग आपस में समन्वय स्थापित करते हुए गोल्डेन कार्ड बनाने के कार्य में तेजी लायें। इसी प्रकार से जिलाधिकारी ने गर्भवती महिलाओं की जाॅच एवं नियमित टीकाकरण, हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर के निर्माण कार्य के प्रगति की समीक्षा की ।

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी सौरभ गंगवार, डाॅ. आर.जी. यादव, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, अपर जिला सूचना अधिकारी विनय कुमार सिंह सहित अन्य सम्बन्धित गण उपस्थित रहें।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!