Friday, June 21, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसोनभद्रपेढ़ गांव पहुंच कम्युनिस्ट पार्टी व पूर्वांचल राज्य जनमोर्चा के प्रतिनिधिमंडल...

पेढ़ गांव पहुंच कम्युनिस्ट पार्टी व पूर्वांचल राज्य जनमोर्चा के प्रतिनिधिमंडल ने मासूम अनुराग के परिजनों से मिल जानी हकीकत

-

प्रतिनिधि मंडल ने पूरीर घटना की न्यायिक जांच की उठायी मांग

घोरावल ( सोनभद्र)। सोमवार को कम्युनिस्ट पार्टी और समाजिक संगठन पूर्वांचल राज्य जनमोर्चा का प्रतिनिधिमंडल पेढ़ गांव पहुंचा और पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उनके दुख दर्द को साझा किया। प्रतिनिधि मंडल में भाकपा के जिला सचिव कामरेड आर के शर्मा, माकपा के जिला सचिव कामरेड नंदलाल आर्या और पूर्वांचल राज्य जनमोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव एडवोकेट पवन कुमार सिंह के नेतृत्व में दस सदस्यीय टीम पुलिस फोर्स की मौजूदगी में पेढ़ गांव में पहुंच कर सारी स्थितियों की गहराई से अध्ययन किया और मृतक अनुराग पाल के पिता मंगल पाल और परिवार के अन्य लोगों से मुलाकात कर पूरे प्रकरण पर दुःख व्यक्त करते हुए सहानुभूति प्रकट किया।

प्रतिनिधिमंडल से बातचीत के दौरान पीड़ित परिवार ने बताया कि जो फिरौती की बात उठी है वह सही नहीं है, मृतक अनुराग के पिता मंगल पाल ने सीधे नकारते हुए कहा कि पिछले वर्ष 2 दिसंबर सन् 2022 के एक एसी/एसटी मुकदमे में आरोपी राजेश यादव मुख्य आरोपी है और उस मुकदमे में मैं गवाह रहा हूं जो दुश्मनी का मुख्य कारण है और आरोपी राजेश यादव द्वारा मुझे लगातार धमकी दिया जाता रहा है कि तुम्हारे एकलौते लड़के का अपरहण कर जान से मार दिया जाएगा, जिसकी सूचना मैंने पुलिस प्रशासन और तहसील प्रशासन को दो माह पहले ही दे दिया था। लेकिन पूर्व और अभी बीते पिछले महीने में पुलिस और प्रशासन द्वारा मेरी उक्त प्रार्थनापत्र को संज्ञान में ही नहीं लिया गया और अनुराग के अपरहण होने के बाद छः मार्च को पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई और एक आरोपी पकड़ा भी गया किन्तु पुलिस की लापरवाही के चलते मेरे पुत्र अनुराग को अपनी जान गंवानी पड़ी।

मासूम अनुराग की हत्या तो हो ही गयी इसके बाद भी प्रशासन व खासकर पुलिस का रोल वही टालमटोल का रहा है और पुलिस का कहना है कि एफआईआर दर्ज किया गया है किन्तु मुझे अभी तक एफआईआर का कापी भी नहीं दी गई है। मौके पर प्रतिनिधि मंडल ने सीओ घोरावल से इस संबंध में बात किया तो सीओ द्वारा स्वीकार किया गया कि परिजनों को अभी एफआईआर की कापी नहीं पहुंच सका है ,उन्होंने एफ आई आर की कापी जल्द उपलब्ध कराने की बात कही।
प्रतिनिधिमंडल ने सारी स्थितियों को समझा और कहा कि घोरावल क्षेत्र में जमीन का कब्जा अवैध जमीनों पर कब्जा , भू माफियाओं का वर्चस्व बढ़ता जा रहा है, इसके पूर्व उभ्भा और अब पेढ़ गांव की घटना यही दर्शाती है कि स्थानीय तहसील प्रशासन और पुलिस प्रशासन की तरफ से घोर लापरवाही बरती जा रही है जिसका नतीजा है कि एक नौ वर्षीय मासूम को अपनी जान गंवानी पड़ी और एक परिवार का चिराग बुझ गया।

प्रतिनिधि मंडल ने मृतक अनुराग पाल प्रकरण पर पूरे मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग किया और पीड़ित परिवार को कम से कम पचास लाख रुपए तत्काल सहयोग राशि दिये जाने की मांग की ।आगे उन्होंने कहा कि आरोपियों को फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर फांसी की सजा दी जाय। पीड़ित परिवार को तत्काल सुरक्षा प्रदान की जाय।
प्रतिनिधि मंडल में प्रमुख रूप से कामरेड महेंद्र सिंह, कामरेड प्रेम नाथ, कामरेड पुरुषोत्तम, कामरेड शांती प्रकाश, कामरेड रामचन्द्र, कामरेड भरत लाल राही, कामरेड दिनेश्वर बर्मा व कामरेड संतोष सोनी आदि रहे।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!