Tuesday, May 21, 2024
Homeउत्तर प्रदेशपास्को आरोपी विधायक दुद्धी ने पीड़िता की जन्मतिथि पर उठाया सवाल,दूसरे स्कूल...

पास्को आरोपी विधायक दुद्धी ने पीड़िता की जन्मतिथि पर उठाया सवाल,दूसरे स्कूल में पढ़ने, जहाँ दूसरी जन्मतिथि अंकित होने का न्यायालय में दिया प्रार्थना पत्र,पीड़िता ने कहा अपने पद का उठा रहे हैं नाजायज फायदा

-

सोनभद्र । SONBHADRA MLA DUDHI PASCO NEWS । दुद्धी भाजपा विधायक राम दुलार गोंड जिनपर एक नाबालिक लड़की के बलात्कार का आरोप है और उसपर न्यायालय में विचारण चल रहा है , उसमे आज उस वक्त एक नाटकीय मोड़ आ गया जब विधायक की ओर से पीड़िता के स्कूली शिक्षा के आधार पर रजखड़ के एक विद्यालय से जारी जन्म प्रमाण पत्र प्रस्तुत कर, पीड़िता को झूठा साबित करने का प्रयास किया गया क्योंकि उक्त पीड़िता ने अपने बयान में यह कहा है कि वह रासपहरी स्थित सरकारी स्कूल से पढ़ी है और उसी सरकारी स्कूल के रजिस्टर में दर्ज उसकी जन्मतिथि के आधार पर आरोपी विधायक पर पास्को के तहत मुकदमा चलाया गया है।ऐसे में अब आरोपी विधायक द्वारा इस आशय का प्रार्थना पत्र दिए जाने से की उक्त पीड़िता रासपहरी में न पढ़ कर किसी दूसरे प्राइवेट विद्यालय में पढ़ी है और उक्त विद्यालय में पीड़िता की जन्मतिथि कुछ और ही दर्ज है,पूरे मामले को ही बदलने की कवायद लगती है जिससे कि उनपर से पास्को एक्ट न लग सके।

वही पीड़िता के अधिवक्ता ने इसका पुरजोर विरोध करते हुए इसे विधायक द्वारा अपने पद के प्रभाव का उपयोग बताया और कहा कि यह प्रमाण पत्र सौ फीसदी फर्जी , मनगढ़ंत और दबाव में बनवाया गया है ताकि न्यायालय को गुमराह कर पीड़िता को न्याय से वंचित कर सके ।

Also read । यह भी पढ़ें । Shahrukh Khan Accident : अमेरिका में शाहरुख खान सड़क दुर्घटना में हुए घायल , अस्पताल में भर्ती

अधिवक्ता ने आगे कहा कि पीड़िता की ओर से कोर्ट में प्रार्थन पत्र प्रस्तुत कर सोनभद्र के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से विधायक द्वारा प्रस्तुत पत्र की विश्वसनीयता को परखते हुए आख्या रिपोर्ट न्यायालय में पेश करने की मांग की जाएगी।

पीड़िता के अधिवक्ता विकास शाक्य ने पत्र प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए कहा कि मुकदमे के दौरान पहले ही यह बात न्यायालय के सामने आ चुकी है कि उक्त पीड़िता किस विद्यालय में शुरुआती शिक्षा ग्रहण की है और उस समय स्कूल में प्रथम प्रवेश के समय उसकी जन्म तिथि क्या अंकित है और उसकी पुष्टि हेतु उक्त विद्यालय के प्रधानाध्यापक का बयान आदि की कार्यवाही न्यायालय में हो चुकी है और सबसे महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि उस समय आरोपी विधायक ने कभी भी उक्त पीड़िता के जन्म तिथि के बाबत ऐतराज नहीं जताया ऐसे में अब इतने दिनों के बाद आरोपी विधायक द्वारा उक्त पीड़िता के घर से लगभग 40 किमी दूर के विद्यालय से शिक्षा ग्रहण करने तथा उक्त विद्यालय से जारी दूसरी जन्म तिथि का उल्लेख करना जो पीड़िता के पहले की जन्म तिथि से लगभग 04 वर्ष पहले की है।अधिवक्ता ने कहा कि आरोपी विधायक का पीड़िता का दूसरी जन्म तिथि बताने का मकसद केवल पास्को एक्ट से बचने की जुगत भर है और कुछ नहीं।

पीड़िता के अधिवक्ता ने कहा कि एफआईआर की विवेचना के दौरान ही पुलिस द्वारा यह सम्पूर्ण साक्ष्य जुटाया गया कि पीड़िता ने सर्वप्रथम किस विद्यालय में नामांकित हुई और उक्त विद्यालय द्वारा उसकी क्या जन्मतिथि अंकित की गई और पुलिस द्वारा संकलित साक्ष्य के मद्देनजर ही न्यायालय ने उक्त विद्यालय की प्रधानाध्यापिका का बयान आदि से पुलिस द्वारा जन्मतिथि के बाबत संकलित साक्ष्यों की पुष्टि की जा चुकी है ऐसे में आरोपी विधायक द्वारा पीड़ित के दूसरे विद्यालय में नामांकित होने व उसमें उसकी जन्मतिथि दूसरी होने का उल्लेख करते हुए नए सिरे से मुकदमे की जिरह आदि की मांग करना मुकदमे में देरी करने की कोशिश है जिससे कि।पीड़िता को न्याय मिलने में देरी हो।

अब देखना होगा कि न्यायालय आरोपी विधायक के उक्त प्रार्थना पत्र पर क्या रुख अपनाती है।वहीं कानून के जानकारों का कहना था कि जब न्यायालय में उक्त पीड़िता के जन्मतिथि की पुष्टि के लिए पुलिस द्वारा संकलित साक्ष्यों की पुष्टि के लिए पीड़िता के स्कूल में प्रथम दाखिला लेने वाले विद्यालय के प्रधानाचार्य आदि के बयान हो रहे थे यदि उक्त पीड़िता वहां नहीं पढ़ी थी तो उसी समय आरोपी को विरोध दर्ज कराना चाहिए था।अब जब मुकदमे की कार्यवाही लगभग पूर्ण हो चुकी है और मुकदमा फैसले के लगभग नज़दीक है तब आरोपी पक्ष की तरफ से जन्मतिथि के बाबत यह नया तथ्य लाना चौकाता अवश्य है।फिलहाल कानून के इन जानकारों का यह भी कहना है कि यदि आरोप सही हैं तो इन पैतरों से कोई फर्क नहीं पड़ेगा और पीड़िता को न्याय अवश्य मिलेगा,हाँ थोड़ी देर अवश्य हो सकती है।

BJP MLA , RAMVICHAR GOND MLA DUDHI , SONBHDRA NEWS , SONBHDRA KHABAR

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!