Saturday, July 13, 2024
HomeUncategorizedन्यू इंडिया मिनरल्स द्वारा किये जा रहे अवैध खनन के खिलाफ मुख्यमंत्री...

न्यू इंडिया मिनरल्स द्वारा किये जा रहे अवैध खनन के खिलाफ मुख्यमंत्री को भेजा पत्र, जांच की लगाई गुहार

-

(समर सैम)


अगोरी खास व महलपुर में हो रहे अवैध खनन के विरोध में जन अधिकार पार्टी ने मुख्यमंत्री को भेजा शिकायती पत्र ।


सोनभद्र। जनपद सोनभद्र के ओबरा तहसील अंतर्गत ग्राम अगोरी खास व महलपुर में हो रहे अवैध खनन से संबंधित शिकायती पत्र जन अधिकार पार्टी ने योगी आदित्यनाथ जी को भेजा। जन अधिकार पार्टी के निवर्तमान मंडल अध्यक्ष भागीरथी सिंह मौर्य ने पत्र के माध्यम से बताया कि जनपद सोनभद्र के ओबरा तहसील अंतर्गत ग्राम अगोरी खास व महालपुर में संचालित बालू साइडों पर पट्टा धारकों द्वारा शासन द्वारा निर्धारित क्षेत्रफल से काफी आगे बढ़कर बालू का खनन मनमाने ढंग से किया जा रहा है। श्री मौर्य ने कहा कि न्यू इंडिया मिनरल्स द्वारा अपने क्षेत्र से हटकर उत्तर एवं पूर्व दिशा में स्थित ग्राम करगरा में सोन नदी वन भूमि में बेखौफ अवैध खनन किया जा रहा है। खनन कर्ताओं द्वारा नदी की जलधारा को बांधकर एवं नदी में अस्थायी पुल बनाकर लिफ्टिंग मशीनों द्वारा व पोकलेन मशीनों द्वारा बालू का खनन बड़े पैमाने पर किया जा रहा है।

जबकि एनजीटी एवं सरकार का आदेश है कि बालू खनन के लिए किसी भी दशा में नदी की जलधारा को मोड़ा एवं प्रभावीत नहीं किया जा सकता। साथ ही बालू खनन के लिए लिफ्टिंग मशीन व पोकलैन मशीन का भी प्रयोग पूर्णतया प्रतिबंधित है क्योंकि मशीन से अधिक गहराई में खनन की वजह से जलीय जीवों के इकोसिस्टम पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इसके बावजूद भी बालू खनन कर्ताओं द्वारा नदी की जलधारा को बांधकर लिफ्टिंग मशीन एवं पोकलैन मशीनो के द्वारा बालू खनन का कार्य किया जा रहा है। जिससे नदी के मूल स्वरूप व अस्तित्व पर गंभीर खतरा मंडरा रहा है। वहीं दूसरी तरफ प्रतिदिन असंख्य जलीय जीव जंतुओं का जीवन भी समाप्त हो रहा है। इसके चलते न्यू इंडिया मिनरल्स कम्पनी द्वारा पर्यावरण के लिए खतरा उतपन्न किया जा रहा है। जिसका असर निःसन्देह सीधे मानव जीवन पर भी पड़ेगा।

इस संबंध में जन अधिकार पार्टी ने अपने अपने शिकायती पत्र द्वारा निम्नलिखित गंभीर मुद्दे को उठाया है। बालू लीज / पट्टा धारकों द्वारा लीज एरिया से बढ़कर बालू का खनन किया जा रहा है जिस पर तत्काल रोक लगाया जाए। बालू का खनन व ट्रकों पर लोडिंग मशीनो द्वारा कराया जा रहा है जिस पर तत्काल रोक लगाते हुए मजदूरों द्वारा कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। बालू खनन के लिए नदी की जलधारा को मोड़ा एवं प्रभावित नही किया सकता इसके बावजूद नदी की जलधारा को मोड़कर एवं पूल बनाकर मशीनों द्वारा बालू निकाला जा रहा है जिस पर तत्काल रोक लगाया जाए। बालू लीज स्थल पर रेट बोर्ड लगाया जाए। बालू लीज स्थल के प्रत्येक कोने पर लीज होल्डर का बोर्ड लगाया जाए , जिस पर लीज होल्डर का पूरा नाम पता व मोबाइल नंबर तथा रखबा लिखा जाए।

डॉ भागीरथी सिंह मौर्य ने कहा कि इस सम्बंध में पूर्व में जिला खनन अधिकारी को शिकायती पत्र दिया जा चुका है। परंतु किसी प्रकार की कार्यवाही नही किया जाना यह दर्शाता है कि अवैध खनन में जिला खनन ( क्वैरी ) अधिकारी की कहीं न कहीं संलिप्तता जरूर है। वन विभाग के क्षेत्र में अवैध खनन का खुला खेल न्यू इंडिया मिनरल्स द्वारा बेधड़क जारी है। समय की शिला पर खड़ी जनता कह रही है कि मुफ़्त का चंदन घिस मेरे लल्लन।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!