Tuesday, June 18, 2024
Homeउत्तर प्रदेशत्रिवेणी एक्सप्रेस होगी एलएचबी कोच से लैश

त्रिवेणी एक्सप्रेस होगी एलएचबी कोच से लैश

-

त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express) में साधारण श्रेणी के 09 कोच, स्लीपर क्लास के 07 कोच, द्वितीय एवं तृतीय वातानुकूलित श्रेणी के 02-02 कोच एवं एसएलआर के 02 कोच सहित कुल 22 कोच हैं।

Railway News : टनकपुर (Tanakpur) से सिंगरौली (Singrauli) एवं शक्तिनगर (Shaktinagar) के बीच चलने वाली गाड़ी सं. 15073/74 एवं 15075/76 त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express) को लेकर एक ताज़ा अपडेट सामने आया है। अपडेट यह है कि त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express) का परिचालन आईसीएफ कोच (ICF coaches) के बदले अब एलएचबी कोच (LHB coaches) से किया जायेगा।

सोनभद्र । Railway News। रेलवे सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, गाड़ी सं.15076 टनकपुर-शक्तिनगर Tanakpur-Shaktinagar) त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express) टनकपुर (Tanakpur) से दिनांक 05.10.2023 से, 15075 शक्तिनगर-टनकपुर (Shaktinagar-Tanakpur) त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express) शक्तिनगर (Shaktinagar) से दिनांक 06.10.2023 से, गाड़ी सं. 15074 टनकपुर-सिंगरौली (Tanakpur-Singrauli) त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express) टनकपुर से दिनांक 06.10.2023 से तथा 15073 सिंगरौली-टनकपुर (Singrauli-Tanakpur) त्रिवेणी एक्सप्रेस(Triveni Express)सिंगरौली (Singrauli) से दिनांक 07.10.2023 से एलएचबी रेक द्वारा संशोधित कोच संयोजन (Composition) के साथ परिचालित की जायेगी ।

वर्तमान में इस ट्रेन त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express) में साधारण श्रेणी के 09 कोच, स्लीपर क्लास के 07 कोच, द्वितीय एवं तृतीय वातानुकूलित श्रेणी के 02-02 कोच एवं एसएलआर के 02 कोच सहित कुल 22 कोच हैं।

एलएचबी रैक में परिवर्तन के उपरांत इस ट्रेन त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express) में साधारण श्रेणी के 04 कोच, स्लीपर क्लास के 07 कोच, तृतीय वातानुकूलित इकॉनोमी श्रेणी के 07 कोच, द्वितीय वातानुकूलित श्रेणी के 02 कोच एवं एसएलआर का 01 कोच एवं पावर कार का 01 कोच सहित कुल 22 कोच होंगे।

एलएचबी कोच क्या फायदे?

त्रिवेणी एक्सप्रेस (Triveni Express)  में एलएचबी कोच यात्रियों को अपेक्षाकृत अधिक आरामदायक यात्रा का अनुभव प्रदान कराता है। स्टेनलेस स्टील से निर्मित बेहतर आंतरिक सज्जा युक्त उच्च गति क्षमता वाले अत्याधुनिक एलएचबी कोच पारंपरिक कोच की तुलना में वजन में हल्के और मजबूत होते हैं। कोचों में आधुनिक सीबीसी कपलिंग लगे होने से संरक्षा में वृद्धि होती है। एंटी क्लाइम्बिंग विशेषताएं दुर्घटनाओं के दौरान उन्हें एक-दूसरे पर चढ़ने से रोकती हैं। कोच बेहतर ब्रेकिंग सिस्टम व सस्पेंशन के साथ-साथ बेहतर आंतरिक सज्जा व शौचालय युक्त होते हैं। फलस्वरूप एलएचबी कोच युक्त ट्रेनों से यात्रा अपेक्षाकृत अधिक संरक्षित, सुरक्षित व आरामदायक होती है।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!