Saturday, February 4, 2023
spot_img
Homeसोनभद्रजिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की बैठक सम्पन्न

जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की बैठक सम्पन्न

सोनभद्र । जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की बैठक सम्पन्न , आपरेशन प्रसव की धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी ने घोरावल, म्योरपुर के चिकित्सा अधीक्षक को दी प्रतिकूल प्रविष्टि।

जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की शासी निकाय की समीक्षा बैठक की। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का महिला प्रसव व आपरेशन के द्वारा प्रसव की प्रगति की समीक्षा की।

समीक्षा के दौरान यह तथ्य संज्ञान में आया कि म्योरपुर चिकित्सा अधीक्षक डाॅ0 शिशिर द्वारा महिलाओं के आपरेशन प्रसव के मामले में शिथिलता बरती जा रही है, मरीज को अन्यत्र अस्पताल हेतु रिफर किया जा रहा है, जिस पर जिलाधिकारी ने चिकित्सा अधिक्षक म्योरपुर व घोरावल को प्रतिकूल प्रविष्टि देने हेतु मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया।

इसी प्रकार आयुष्मान कार्ड के निर्माण कार्य के प्रगति की समीक्षा भी जिलाधिकारी ने की, तो यह तथ्य संज्ञान में आया कि आयुष्मान कार्ड बनाने की प्रगति धीमी है, जिस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए आयुष्मान कार्ड के नोडल अधिकारी डाॅ0 सुमन जायसवाल के स्थान पर किसी और डाॅक्टर को नोडल अधिकारी बनाने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये।

इसी प्रकार आयुष्मान कार्ड के धीमी प्रगति डी0आई0ओ0एम0 डाॅ0 स्नेहा मंजुल, रजत मिश्रा, जितेन्द्र को भी आयुष्मान कार्ड के निर्माण कार्य की धीमी प्रगति हेतु चेतावनी जारी करने के निर्देश दियें।

इसी प्रकार जिलाधिकारी ने आर0बी0एस0के0 टीम द्वारा जनपद में किये जा रहे कार्यों के प्रगति की समीक्षा डाॅ0 प्रेमनाथ से की तो यह तथ्य संज्ञान में आया कि आर0बी0एस0के0 टीम द्वारा किये जा रहे कार्यों की प्रगति संतोषजनक नहीं है, जिस पर जिलाधिकारी ने डाॅ0 प्र्रेमनाथ नोडल आर0बी0एस0के0 को चेतावनी देने के निर्देश दियें।

इसी प्रकार आर0सी0एच0 के प्रभारी डाॅ0 आर0जी0 यादव ए0सी0एम0ओ0 से जच्चा-बच्चा से सम्बन्धित योजनाओं के प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी ली, तो योजनाओं का क्रियान्वयन बेहतर ढंग से नहीं पाया गया, जिस पर जिलाधिकारी ने ए0सी0एम0ओ0 डाॅ0 आर0जी0 यादव को भी चेतावनी जारी करने के निर्देश दियें।

इसी प्रकार जिलाधिकारी ने महिला नसबन्दी व पुरूष नसबन्दी के प्रगति की भी समीक्षा की, समीक्षा के दौरान महिला व पुरूष नसबन्दी की स्थिति संतोषजनक नहीं पायी गयी, जिस पर जिलाधिकारी ने इसके प्रभारी डाॅ0 दिनेश को भी चेतावनी जारी करने के निर्देश दियें। एम0सी0टी0एम0 में तैनात आपरेटर द्वारा आर0सी0एच0 के डाटा फीडिंग कार्य में तेजी लायें, अन्यथा की दशा में प्रगति की स्थिति में सुधार न पाये जाने पर सम्बन्धित की सेवा समाप्ति की कार्यवाही की जायेगी।

जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित किया जाये कि जननी सुरक्षा योजनान्तर्गत महिलाओें का प्रसव सम्बन्धित सामुदायिक स्वास्थ्य, प्राथमिक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में किया जाये, जहां पर प्रसव आपरेशन की सुविधा उपलब्ध हो, आवश्यकतानुसार उसी केन्द्र पर ही उनका प्रसव कराया जाये ।

अनावश्यक रूप से मरीजों को रिफर न किया जाये, जिन अस्पतालों को प्रसव हेतु लाइसेंस प्राप्त नहीं हुआ है, यह सुनिश्चित किया जाये, उन अस्पतालों में प्रसव कदापि न होने पाये, जिन अस्पताल में बिना लाइसेंस के प्रसव होना पाये, उनके विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News