Monday, May 20, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसोनभद्रजिला स्वास्थ्य समिति के शासी निकाय की बैठक में स्वास्थ्य विभाग की...

जिला स्वास्थ्य समिति के शासी निकाय की बैठक में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही पर बिफरे जिलाधिकारी ने रोका कईयों का वेतन

-

सोनभद्र ।

जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह की अध्यक्षता में आज जिला स्वास्थ्य समिति के शासी निकाय की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने आयुष्मान कार्ड बनाने की प्रगति की समीक्षा के दौरान आयुष्मान कार्ड बनाने की धीमी प्रगति पर नाराजगी जताते हुए इसमें तेजी लाने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिया।

उन्होंने इस दौरान जनपद के सभी चिकित्सा अधीक्षक को निर्देशित किया कि आयुष्मान कार्ड बनाने की प्रगति में तेजी लाने हेतु सम्बन्धित एएनएम, आशा को आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य लगी एजेंसी को सहयोग कर कार्य में तेजी लाने हेतु निर्देशित करें तथा इस कार्य की नियमित रूप से निगरानी की जाए ,इसमें किसी स्तर पर शिथिलता न बरती जाये।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नगवां के नोडल अधिकारी डाॅ0 प्रमोद कुमार द्वारा सीएससी का निरन्तर निरीक्षण न करने और आशा, एएनएम के कार्यों की समीक्षा न करने पर जिलाधिकारी ने उनका वेतन रोकते हुए स्पष्टीकरण तलब किया है। इसी प्रकार जिलाधिकारी ने म्योरपुर, चोपन एवम नगवां डीपीएम द्वारा अनमोल ऐप पर डाटा इन्ट्री की धीमी प्रगति पर सम्बन्धित डीपीएम के वेतन भुगतान पर रोक लगाने के निर्देश भी दिया।

स्वास्थ्य समिति के शासी निकाय की बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने परिवार कल्याण के अन्तर्गत महिला एवं पुरूष नसबन्दी की धीमी प्रगति पर परिवार कल्याण के नोडल अधिकारी डाॅ0 दिनेश को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया। इसी दौरान जिलाधिकारी ने एसीएमओ और चिकित्सालयों के नोडल अधिकारी द्वारा निरन्तर निरीक्षण न किये जाने और कार्य में लापरवाही बरत रही आशा, एएनएम के विरूद्ध कार्यवाही न किये जाने के मामले में शिथिलता बरतने पर CMO से भी स्पष्टीकरण प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया।


वहीं जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान उपस्थित अधिकारियों एवं चिकित्सा अधीक्षकों को निर्देशित करते हुए कहा कि वह सम्बन्धित कर्मचारियों के साथ निरन्तर बैठक व निरीक्षण कर उनके कार्यों की प्रगति का जायजा लेते रहें, जिन कर्मचारियों द्वारा कार्यों में शिथिलता व लापरवाही बरती जा रही है, उनके विरूद्ध कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। इसी प्रकार से जिलाधिकारी ने एएनसी, डिलिवरी, एच0आर0पी0 के कार्यों में शिथिलता बरतने पर एसीएमओ डाॅ0 आर0जी0 यादव को स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश दिया। बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि आशा, एएनएम को गांव स्तर पर अच्छे से अच्छा प्रशिक्षण देकर स्वास्थ्य से जुड़े योजनाओं को बेहतर तरीके से मूर्त रूप देने के लिए तैयार किया जाय। सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा जिला अस्पताल में सफाई का विशेष ध्यान दिया जाय। जिलाधिकारी ने शासी निकाय की बैठक में प्रधानमंत्री मातृत्व वन्दना योजना, आयुष्मान भारत मिशन, जननी सुरक्षा योजना, जेएसएसके योजना, पीसीपीएनडीटी परियोजना, नियोजन, नियमित टीकाकरण, एचएमआईएस, एमसीटीएस, सपोर्टिंग सुपर विजन, आरबीएसके एवं आरकेएसके, 102 व 108 एम्बुलेंस सेवा, राष्ट्रीय कार्यक्रम, कम्यूनिटी प्रोसेस आदि कार्यक्रम की समीक्षा की।

शासी निकाय की बैठक में मुख्य विकास अधिकारी सौरभ गंगवार, जिला विकास अधिकारी शेषनाथ चौहान, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 आर0एस0 ठाकुर, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हरिवंश कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक आर0पी0 यादव, अपर जिला सूचना अधिकारी विनय कुमार सिंह सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!