Wednesday, November 30, 2022
spot_img
Homeराजनीतिजनतादल यूनाइटेड ने विजली विभाग के भ्र्ष्टाचार के खिलाफ दिया एक दिवसीय...

जनतादल यूनाइटेड ने विजली विभाग के भ्र्ष्टाचार के खिलाफ दिया एक दिवसीय धरना

सोमभद्र। विजली विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ जनतादल यूनाइटेड के जिलाध्यक्ष संतोष पटेल की अगुवाई में अधिशासी अभियंता के कार्यालय में अधीक्षण अभियंता, बिजली विभाग को सम्बोधित ज्ञापन देकर जांच कर कार्यवाही करने की मांग की।उन्होंने ज्ञापन में आरोप लगाते हुए कहा है कि बिजली विभाग रावर्ट्सगंज के अधिशासी अभियंता महोदय भ्रष्टाचार के न केवल सबसे बड़े केंद्र बने हुए हैं, अपितु बिजली विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार के सबसे बड़े पोषक भी हैं। इनकी भ्रष्टाचारी कार्यशैली, मनमानियों व जन विरोधी कार्यों के कारण न केवल आम जनता त्रस्त है, बल्कि एक ओर जहां आम जनता का बड़े पैमाने पर निजी स्वार्थ हेतु आर्थिक शोषण होता है, वहीं दूसरी ओर वास्तविक वसूली के सापेक्ष बहुत ही कम मात्रा में बिजली बिल जमा कराया जाता है। इतना ही नहीं अधिशासी अभियंता की ही शह एवं भ्रष्टाचार पोषक कार्यप्रणाली के कारण विजिलेंस (प्रवर्तन दल- बिजली विभाग) द्वारा बिजली उपभोक्ताओं के यहां छापेमारी की आड़ में खुलेआम अवैध वसूली कराया जाना आम बात हो गयी है। साथ ही साथ विभागीय एवं पदीय कर्तव्यों के नाम पर अत्यंत ही गरीब या ऐसे छोटे उपभोक्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाती है, जो विजिलेंस टीम एवं अधिशासी अभियंता की आर्थिक क्षुधापूर्ति नहीं कर पाते हैं और ऐसे लोगों के ही खिलाफ घर बैठे विजिलेंस टीम द्वारा फर्जी निरीक्षण आख्या तैयार कराकर धारा- 135 का अपराधी बनाकर विभागीय कार्रवाई कर दी जाती है। अगर किसी सरकारी विभाग का कोई काम हो तो वहां से निजी हितों की पूर्ति के अभाव में उसे महीनों या सालों तक लटका दिया जाता है। जिसका सटीक उदाहरण है- नवनिर्मित रतवल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का विद्युतीकरण, जिसके लिए बिजली विभाग को एक वर्ष पूर्व ही दिनांक- 07.11.2020 को यू टी आर न.202011070312902529 के द्वारा 3,34,554 रू0 अदा किया जा चुका है।

परन्तु आज तक उक्त स्वास्थ्य केंद्र का विद्युतीकरण नहीं कराया जा सका। उन्होंने आगे कहा कि जहां तक अधिशासी अभियंता एवं विजिलेंस टीम पर आरोपों की बात है तो उक्त दोनों के संबंध में पुख्ता एवं स्पष्ट दस्तावेजी साक्ष्य मौजूद हैं। उदाहरण के तौर पर बिजली बिल जमा कराते समय 2,30,333 रू0 के बिजली बिल में से ओटीएस के नाम पर उपभोक्ता से 90,000 रू0 लेकर मात्र 25,359 का बिजली जमा कराए जाने तथा कनेक्शन धारक होने के बावजूद बिजली चोरी का मुकदमा चलाने के बाद अपनी गलती मानने की बजाय उपभोक्ता को ही जेल भिजवाने की धमकी देकर 41,314 के बिजली बिल के सापेक्ष 25,000 रू0 लेकर मात्र 10,143 रू0 का बिजली बिल जमा कराए जाने संबधी तथा विजिलेंस संबंधी भी दर्जनों पन्ने दस्तावेजी साक्ष्य सुरक्षित रखे गए है।


अतः जनहित को देखते हुए विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर जनता दल यूनाईटेड महोदय से संयुक्त मांग करता है कि उपरोक्त के क्रम में अधिशासी अभियंता एवं विजिलेंस टीम के खिलाफ भ्रष्टाचार, निजी हित में सरकारी/ पदीय अधिकारों का दुरूपयोग करने के आधार पर भ्रष्टाचार के प्रमुख प्रणेता एवं पोषक अधिशासी अभियंता को तत्काल बर्खास्त कर आय से अधिक संपत्तियों की जांच तथा विजिलेंस टीम के सदस्यों का तत्काल गैर- जनपद स्थानांतरण एवं विभागीय कार्रवाई कराया जाय। आज के धरना में मुख्य रूप से संतोष पटेल एड 0 ( जिलाध्यक्ष ) , सैय्यद अप्रेज अहमद ,इन्द्र कुमार सिंह एड 0, चंद्रेश पाठक ,आयुष मिश्रा ,नीरज सिंह ,अजय पटेल ,अनिल कुमार वर्मा ( प्रदेश उपाध्यक्ष जन अधिकार मंच ) ,डा 0 विमलेश पटेल ( जिला महासचिव अपना दल एस ) ,अनूप कुमार सिंह , संतोष कुमार सिंह ,राजमोहन मिश्र ,विकास पटेल ,रामजियावन सिंह इत्यादि मौजूद रहे।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News