Saturday, February 4, 2023
spot_img
Homeब्रेकिंगगुजरात : दो जिलों में जहरीली शराब पीने से हुई ...

गुजरात : दो जिलों में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों की संख्या 18 , SIT कर रही जांच

गुजरात के अहमदाबाद और बोटाद जिलों में अवैध शराब पीने से अब तक 18 लोगों की मौत हो गई है. वहीं कई लोगों की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है. मामले की एसआईटी जांच कर रही हैं .

अहमदाबाद : गुजरात के अहमदाबाद और बोटाद जिलों में अवैध शराब पीने से कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई है. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. दोनों जिलों में कम से कम 14 से 20 लोग शराब पीने से बीमार पड़ गए हैं.

अधिकारी ने बताया कि मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया जाएगा और उन लोगों को गिरफ्तार किया जाएगा जिन्होंने जहरीली शराब बेची है. मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि भावनगर एवं बोटाद में भर्ती कुछ मरीजों की हालत नाजुक है

अहमदाबाद रेंज के महानिरीक्षक वी. चंद्रशेखर ने मीडिया को बताया, धंधुका तालुका से चार शवों को सरकारी अस्पताल में लाया गया था. चार अन्य लोगों का इलाज चल रहा है और उनकी हालत स्थिर है. अधिकारी ने आगे कहा, दो शवों का सुबह निस्तारण किया गया और दो को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है.

रिपोर्ट आने के बाद ही पुलिस यह जान पाएगी कि उनकी मौत किसी केमिकल से हुई है या किसी अन्य कारण से हुई है. लेकिन, परिजनों ने पुलिस को बताया कि मृतक और उपचाराधीन लोगों ने रविवार रात देशी शराब पी रखी थी.

गंभीर लोगों का अस्पताल में चल रहा इलाज

वहीं बोटाद जिले के रोजिद गांव में संदिग्ध रूप से जहरीली शराब पीने से कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि सात अन्य बीमार पड़ गए जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है . द़ष्टि हानि (कम दिखना) और उल्टी की शिकायत के बाद सोमवार सुबह आरती परमा के पति वशराम को अस्पताल ले जाया गया. आरती के अनुसार, रोजिदा गांव के वशराम और 10 अन्य लोगों ने देशी शराब पी थी और उनमें से ज्यादातर बीमार पड़ गए थे.

भावनगर रेंज के महानिरीक्षक अशोक कुमार यादव बोटाद पहुंचे हैं. सूत्रों ने कहा कि भावनगर जिला अस्पताल से एक मेडिकल टीम को भी बोटाद अस्पताल भेजा गया है. गुजरात में शराब की बिक्री और निर्माण पर प्रतिबंध के बावजूद, अक्सर देखा जाता है कि राज्य में देसी और आईएमएफएल शराब आसानी से उपलब्ध हो जाती है.

गुजरात में बोटाद जिले के रोजिद गांव में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने से कम से कम 18 लोगों की मौत हो गयी, जबकि 47 अन्य बीमार पड़ गए जिन्हें उपचार के लिए विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार रात बताया कि कुछ मरीजों की हालत गंभीर है. पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है. गुजरात आतंकवाद रोधी दस्ता (एटीएस) और अहमदाबाद अपराध शाखा भी जांच में शामिल हो गयी हैं.

गुजरात के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) आशीष भाटिया ने बताया कि सुबह दो लोगों की मौत हुई थी जबकि पांच अन्य की इलाज के दौरान मौत हो गयी थी. अधिकारियों ने सोमवार देर रात बताया कि तीन और लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गयी. बोटाद के पुलिस अधीक्षक करनराज वाघेला ने सोमवार देर रात पत्रकारों से कहा, हमारी जानकारी के अनुसार अब तक 18 की मौत हो चुकी है. कम से कम 47 लोगों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है, ज्यादातर लोग भावनगर में सर तख्तसिंहजी अस्पताल में भर्ती हैं. उनमें से कुछ की हालत नाजुक है.

उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज किया गया है और कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. वाघेला ने कहा, अगर जरूरत पड़ी तो पुलिस हत्या का आरोप भी जोड़ेगी. गुजरात एटीएस के साथ ही अहमदाबाद अपराध शाखा भी दोषियों को पकड़ने के लिए हमारी जांच में शामिल हो गयी हैं. भाटिया ने बताया था कि पुलिस ने बोटाद जिले से तीन शराब तस्करों को हिरासत में लिया है, जो कथित तौर पर अवैध देशी शराब बेचने में शामिल थे.

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Most Popular

Share This News