Saturday, July 13, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसोनभद्रक्रेशर के कन्वेयर बेल्ट में फंस कर मजदूर की हुई मौत मामले...

क्रेशर के कन्वेयर बेल्ट में फंस कर मजदूर की हुई मौत मामले में क्रेशर संचालक समेत तीन पर एफआईआर दर्ज, जांच शुरू

-

Sonbhadra News : ओबरा थाना क्षेत्र के बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र स्थित क्रशर प्लांट पर बीते सोमवार को काम करते समय एक मजदूर के उसके कन्वेयर बेल्ट में फंस जाने की वजह से उसकी हुई दर्दनाक मौत के मामले में अंततः पुलिस ने क्रशर प्लांट मालिक सहित तीन पर एफआईआर दर्ज कर ली।क्रशर उद्यमी के उपेक्षापूर्ण कृत्य के चलते मजदूर की मौत होने , साक्ष्य छिपाने का प्रयास करने और पीड़ित पक्ष के साथ मारपीट के आरोप में केस दर्ज किया गया है । पुलिस ने यह कार्रवाई मृतक की पत्नी की तरफ से दी गई तहरीर में लगाए गए आरोपों के क्रम में की है ।

यहां आप सब को बताते चलें कि सिंगरौली जिले के लमसरई इलाके के रहने वाले डिघवार गांव निवासी गणेश (28 वर्ष) बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र स्थित महामाया क्रशर प्लांट पर गत तीन वर्ष से मजदूरी का कार्य कर रहा था । सोमवार को भी वह रोज की तरह प्लांट पर अपने कार्य को अंजाम दे रहा था कि वह किसी तरह क्रेशर के कन्वेयर बेल्ट में फंस गया और उक्त हादसे में उसकी मौत हो गई । घटना की जानकारी पाकर प्लांट पर पहुंचे मृतक के भाई बबलू ने जहां क्रशर प्लांट मालिक और उसके कर्मियों पर उसके साथ मारपीट करने , मोबाइल छीन लेने और प्लांट पर हुए हादसे को , सड़क हादसा बताए जाने के लिए दबाव देने और इसके लिए रूपये का लालच देने का आरोप लगाया । वहीं मृतक की पत्नी सुकाली ने भी पुलिस को दी गई तहरीर में कई आरोप लगाए । पुलिस के मुताबिक इस मामले में क्रशर प्लांट मालिक चंद्रशेखर , रिंकू और आदित्य के खिलाफ धारा 201 , 304 ए , 323 , 506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर प्रकरण की छानबीन शुरू कर दी गई है ।

यह भी पढ़ें (also read)आखिर कोयला के काले साम्राज्य पर बुलडोजर बाबा का बुलडोजर कब गरजेगा ?

मृतक गणेश की पत्नी ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया गया है कि जब घटना की जानकारी होने पर वह ओबरा पहुंची तो उसे कोई बताने को तैयार नहीं था कि उसके पति की लाश कहाँ है ? क्रेशर मालिक के साथ ही वहां काम करने वाला कोई भी आदमी कुछ नहीं बता रहा था इस वजह से काफी देर तक उसे पता नहीं चल पाया कि उसके पति को कहां ले जाया गया है । क्रशर के लोग भी शव नहीं सौंप रहे थे। जिसके बाद पीड़िता ने पुलिस से शव को दिलाने की गुहार लगाई।मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस के हस्तक्षेप के बाद जहां उसकी पत्नी को, शव जिला अस्पताल में पड़े होने की जानकारी दी गई वहीं , पुलिस ने भी मृतक की पत्नी की तहरीर पर क्रशर प्लांट संचालक सहित तीन के खिलाफ केस दर्ज कर प्रकरण की जांच शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें (also read) वह पत्थर व्यापारी है या कानून का शातिर खिलाड़ी

यहां आप सब को बताते चलें कि यह कोई नई बात नही है जब किसी हादसे में मजदूरों की मौत को छुपाने का प्रयास किया गया है बल्कि खनन क्षेत्र में होने वाले लगभग सभी हादसों में मजदूरों की मौत को दबाने के लिए खनन व्यवसायियों द्वारा अक्सर यही ढर्रा अपनाया जाता रहा है।खनन क्षेत्र में किसी भी हादसे में मजदूरों की मौत के बाद अक्सर उनके परिजनों पर एन केन दबाव बनाकर मामले को रफा दफा कर दिया जाता है।अब आगे देखना होगा कि पुलिस ने एफआईआर दर्ज तो कर लिया है पर जांच में क्या दोषियों के खिलाफ सबूत जुटा पाती है भी या नहीं ?

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!