Wednesday, January 19, 2022
Homeराजनीतिकमर तोड़ महंगाई की आग में हवन कर उत्सव मना चले गये...

कमर तोड़ महंगाई की आग में हवन कर उत्सव मना चले गये मुख्यमंत्री-अविनाश कुशवाहा

भाजपा के स्थानीय नेताओं व अफसरों ने मुख्यमंत्री से पिछले पांच साल से संचालित मॉडल डिग्री कॉलेज का करा दिया लोकार्पण, सपा हमलावर

सोनभद्र। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयन्ती के अवसर पर पर प्रेस वार्ता आयोजित कर समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक अविनाश कुशवाहा ने 22 दिसम्बर को मुख्यमंत्री द्वारा भाजपा के जन विश्वास यात्रा में दिए गए भाषण पर हमला बोलते हुए पत्र प्रतिनिधियों से कहा कि कमर तोड महंगाई की आग में हवन कर उत्सव मना कर मुख्यमंत्री वापस चले गए। आजादी के बाद से पिछले 70 सालो में पहली बार किसी मुख्यमंत्री के उद्बोधन में झूठ और गलत तथ्यों की इतनी बौछार हुई।उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के लिए अनुपयोगी मुख्यमंत्री ने अपने 30 मिनट के सम्बोधन में किसानों के लिए ‘ क ‘ भी नहीं कहा जबकि सोनभद्र का किसान इस ठंड में अपना धान बेचने के लिए पिछले 15 दिनो से लाइन में खड़ा है । प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी पर बेरोजगारी का ब शब्द भी नहीं बोला। प्रदेश में बढ़ती महंगाई , बेरोजगारी , बलात्कार और हत्या से जनता में सरकार ने अपना विश्वास खो दिया है इसलिए भाजपा को जनविश्वास यात्रा निकालने की जरूरत पड़ी ।

यह यात्रा और कुछ नहीं बस अपने नाकामयाबी को छिपाने के लिए करोड़ो रू ० टेन्ट , मंच , माइक , कुर्सी , पण्डाल और होर्डिंग में खर्च कर सरकारी उत्सव मनाने का एक उपक्रम के सिवा कुछ नहीं था। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की सभा मे भीड़ इकट्ठा करने के लिए जबरन सरकारी व प्राइवेट बसें लगा कर पंचायत मित्र व सफाई कर्मी को बस में भीड़ को लाने हेतु बसों का प्रभारी बनाया गया । ग्राम सचिवों ने आवास व शौचालय का लालच देकर जनता को सभा स्थल तक लाया गया। भीड़ दिखाने के लिए अपेक्षाकृत छोटे मैदान हायडिल ग्राउंड में मुख्यमंत्री की सभा कराई गई ।

अपनी प्रेस वार्ता में उन्होंने सिलसिलेवार मुख्यमंत्री के गलत व झूठे भाषण व उसके काट प्रस्तुत किये जिसमें प्रमुख रूप से उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि सन् 2017 से पहले सोनभद्र में दंगे होते थे पर अब नहीं इस का जबाब देते हुए पूर्व विधायक ने कहा कि हकीकत में कोई भी दंगा सोनभद्र में नहीं हुआ बल्कि भाजपा सरकार में 2019 में घोरावल के उम्भा गांव में जघन्य नरसंहार हुआ । जिसमे आदिवासियो को दौड़ा – दौड़ा कर गोली मारी गई । आगे उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 से पहले खनन माफिया होते थे अब नहीं इसके जबाब में पूर्व विधायक का कहना था कि पूर्व की सपा सरकार में सोनभद्र में स्थानीय लोग काम करते थे पर भाजपा सरकार में तो भाजपा सांसद के बेटे , भतीजे ने चोपन के हर्रा में अवैध बालू खनन के लिए स्थानीय नागरिको पर गोलिया चलाई , तोड़फोड़ व आगजनी की यहाँ तक कि आज भी यहाँ का बालू खनन भाजपा सरकार ने पूर्वांचल के एक माफिया को दे दिया है भाजपा कार्यकाल में खनन माफियों ने अवैध खनन रोकने गयी वन विभाग व तहसीलदार की गाड़ियों पर भी हमला किया है जो बढ़ते माफियाराज का सबूत है ।

मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि 2017 से पहले कावड़ यात्रा रामलीला , दुर्गा पूजा आदि नही मनाने देते थे इसके जबाब में उन्होंने कहा कि 2017 से पहले सभी त्योहार मनाये जाते थे हाँ 2017 के बाद भाजपा सरकार में कावड़यात्रा पर प्रतिवर्ष रोक लगाया गया, दुर्गापूजा , रामलीला आदि की परमिशन नहीं दी गयी । मुख्यमंत्री ने सरकारी नौकरी में भाई भतीजावाद का उल्लेख करते हुए कहा कि 2017 से पहले नौकरी में वसूली होती थी इसके जबाब में सपा के पूर्व विधायक ने कहा कि कोई वसूली नहीं होती थी सोनभद्र में तमाम अध्यापक, जे ई ,लेखपाल व ग्राम सचिव की नौकरी लगी सभी मेरिट पर निश्पक्ष हुई परन्तु भाजपा राज में वसूली इस कदर है कि परीक्षा से पहले ही पेपर बेच दिये जाते है । उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जब भाजपा राज के पांच साल में कोई काम ही नही हुआ तो मुख्यमंत्री को यहाँ के स्थानीय भाजपा नेताओं व अधिकारियों द्वारा गुमराह कर पांच साल पहले से चल रहे राजकीय डिग्री कालेज पौनी का लोकार्पण करा दिया।यह मुख्यमंत्री का सबसे निंदनीय कार्य है जो पिछले पांच साल से पठन पाठन चल रहे महाविद्यालय का लोकार्पण किया।

उन्होंने प्रेस वार्ता में पत्रकारों से अपनी सरकार में कराए गए कार्यो को गिनाते हुए कहा कि समाजवादी सरकार ने सोनभद्र को विकास की मुख्यधारा से जोड़ा । यहां 200 बेड का महिला अस्पताल, ट्रामा सेंटर , बर्न यूनिट , बिजली कारखाना अनपरा डी आदि का निर्माण कराया । – वाराणसी शक्तिनगर मार्ग फोर लेन बनाया । -राजकीय इंजीनियरिंग कालेज , आईटीआई कालेज बनाये । – दुःख इस बात का है कि किसानों के लिए सपा सरकार की ड्रीम प्रोजक्ट सोन पम्प नहर की क्षमता वृद्धि रोके रखा , कनहर सिंचाई परियोजना , रावर्ट्सगंज रोडवेज का सुन्दरीकरण , रावर्ट्सगंज धंधरौल पेयजल परियोजना जो जनहित में बहुत जरूरी थे, इन सभी कामों को पूरे पांच साल भाजपा सरकार ने रोके रखा इसलिए अभी तक ये सभी जनहित की योजनायें पूरी नहीं हो पायी और झूठे मुख्यमंत्री ने 2016 से ही संचालित राजकीय महाविद्यालय पौनी , नगवां का लोकापर्ण कर जनता की आखों में धूल झोका है । इस लोकापर्ण की हम निंदा करते है ।

आगे उन्होंने कहा कि राजकीय माडल डिग्री कालेज , पौनी में 2015 में मैंने ही शिलान्यास किया और 2016 में बनकर तैयार हुआ तब से अब तक संचालित है और आज भी लगभग 700 बच्चे अध्ययनरत है ।

Share This News
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Share This News