Friday, July 12, 2024
Homeब्रेकिंगकनहर विस्थापितों की पीड़ा को मानवाधिकार आयोग ने लिया संज्ञान

कनहर विस्थापितों की पीड़ा को मानवाधिकार आयोग ने लिया संज्ञान

-


आइपीएफ नेता दिनकर कपूर के पत्र पर दर्ज हुआ केस
● 16 अगस्त को दुद्धी में होगा नागरिक समाज का सम्मेलन

(Sonbhdra news)दुध्दी/ सोनभद्र। कनहर विस्थापितों की पीड़ा को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान में लिया है। ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के प्रदेश महासचिव दिनकर कपूर द्वारा जस्टिस अरूण कुमार मिश्रा अध्यक्ष राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को भेजे पत्र को संज्ञान में लेते हुए आयोग ने केस दर्ज कर लिया है और डायरी संख्या 114071/सीआर/2023 के तहत दर्ज केस में अग्रिम कार्रवाई शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें (also read) Sonbhadra News : विवाहिता के अपहरण के आरोप में पूर्व MLA व दो बेटों समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज

प्रेस को जारी बयान में आईपीएफ नेता ने बताया की संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत गरिमापूर्ण जीवन जीने के हर भारतीय नागरिक के अधिकार से कनहर विस्थापितों को वंचित कर दिया गया है। सैकड़ों विस्थापित बिना विस्थापन पैकेज पाए अपनी जमीन से बेदखल कर दिए गए हैं और भुखमरी के हालत में अपने जीवन को जी रहे हैं। कनहर बांध से विस्थापित हुए लोगों के लिए सरकार से बनी कॉलोनी में शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, शुद्ध पेयजल, पक्की सड़कें, बंद नालियां, शौचालय आदि का इंतजाम नहीं किया गया है। बरसात के मौसम में उनकी कच्ची बनी झोपड़िया गिर गई और खुले में उन्हें जीवन जीने के लिए मजबूर होना पड़ा।

यही नहीं सरकारी अमले की असम्बेदनशीलता इस कदर रही कि जिन विस्थापितों की वारिस एक मात्र लड़कियां हैं, राजस्व संहिता में नियम होने के बावजूद उन्हें विस्थापित पैकेज का लाभ नहीं दिया गया। प्रपत्र 3 व 11 में दर्ज विस्थापितों और जलमग्न टापू में रहने वाले लोगों को भी विस्थापन सूची में सम्मिलित नहीं किया गया। सरकार के वादा करने के बावजूद कनहर आंदोलन में लगाए गए मुकदमे अब तक वापस नहीं किए गए हैं और बुजुर्ग हो चुके लोगों पर अब गिरफ्तारी की भी तलवार लटक रही है। इसकी शिकायत दिनकर कपूर ने मानवाधिकार आयोग से की थी और अब केस दर्ज होकर कार्रवाई शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ें (also read) शादीशुदा महिला शारीरिक संबंध बनाने के दौरान अगर आपत्ति नहीं जताती है तो उसे सहमति ही माना जाएगा : इलाहाबाद हाई कोर्ट

कनहर विस्थापित आंदोलन के नेता और बैरखड के पूर्व प्रधान इस्लामुद्दीन ने बताया कि 16 अगस्त को सिविल बार एसोसिएशन दुध्दी के हाल में नागरिक समाज की तरफ से कनहर विस्थापितों की पीड़ा को लेकर सम्मेलन बुलाया गया है। जिसमें जनपद के जनप्रतिनिधियों, राजनीतिक, सामाजिक कार्यकर्ताओं और संस्कृति कर्मियों और नागरिक समाज के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है और पूरे जिले में नागरिक समाज की तरफ से एक बड़ी पहल की तैयारी की जा रही है।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!