Monday, March 4, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसोनभद्रएकलव्य (नीट/जेईई) निःशुल्क कोचिंग योजना तहत 130 छात्रों ने काउंसलिंग कराकर अपनी...

एकलव्य (नीट/जेईई) निःशुल्क कोचिंग योजना तहत 130 छात्रों ने काउंसलिंग कराकर अपनी सीट को किया सुरक्षित

-

सोनभद्र। समाज कल्याण अधिकारी रमाशंकर यादव ने बताया कि पंचायत रिसोर्स सेंटर विकास भवन पर जेईई के लिए सोनभद्र एकलव्य नि:शुल्क कोचिंग के लिए कुल 130 अभ्यर्थियों ने वांछित दस्तावेजों का सत्यापन उत्साह पूर्वक करा लिया है।

इस योजना के लिए 100 सीट जेईई और 100 सीट नीट के लिए प्रस्तावित है, जिसके सापेक्ष जेईई में प्राप्त 72 आवेदनों में से 40 छात्रों और नीट के लिए प्राप्त 130 आवेदनों में से 90 छात्रों ने भौतिक रूप से कमेटी के समक्ष अपने दस्तावेजों को सत्यापित कराते हुए जमा करा दिया है।

आकांक्षी जनपद में सोनभद्र एकलव्य (नीट / जेईई) निःशुल्क कोचिंग योजना के माध्यम से मेधावी छात्रों के लिए इंजीनियरिंग और मेडिकल की प्रवेश परीक्षाओं की निःशुल्क तैयारी कराने की योजना है।

इसके लिए जिला प्रशासन सीएसआर के सहयोग से गुणवत्ता पूर्ण कोचिंग प्रदान करने जा रहा है जिसके लिए विषयवार अनुभवी प्रतियोगी शिक्षकों के चयन के साथ ही कार्मिक हेतु कोर्स कार्डिनेटर , कम्प्यूटर आपरेटर एवं अनुचर की नियुक्ति की जा चुकी है ।

इस अवसर पर रमाशंकर यादव जिला समाज कल्याण अधिकारी एवं हरिवंश कुमार जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मौजूद रहकर छात्रों की काउंसलिंग कर उनके संशय को शांत किया । छात्रों के साथ , उनके अभिभावक भी आये थे और उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा चलाई जा रही इस योजना की से प्रसंशा की।

बभनी ब्लाक से अपनी बेटी के साथ आये अभिभावक ने बताया कि उनकी बेटी डाक्टर बनना चाहती है, इंटर में 61प्रतिशत अंक अर्जित किया है, पैसे की तंगी के कारण वह इस सपने को साकार नहीं कर सकते थे लेकिन एकलव्य कोचिग की यह योजना आशा की एक किरण है ।

सोनभद्र एकलव्य (नीटध् जेईई) निःशुल्क कोचिंग योजना उन अभिभावकों के लिए लाभकारी है जिनकी आय 3 लाख से कम है। समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि आनलाइन आवेदन करने के बावजूद डॉक्यूमेंट सत्यापन में मौजूद न रहने वाले छात्र विकास भवन लोढ़ी में अवस्थित समाज कल्याण विभाग के कक्ष संख्या 51 में उपस्थित होकर सत्यापन का कार्य करा सकते हैं।

इस योजना के संचालन के लिए उत्तर प्रदेश राज्य जलविद्युत निगम लिमिटेड पिपरी द्वारा आर्थिक सहयोग सीएसआर के तहत प्रदान किया गया है।

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!