Wednesday, April 24, 2024
Homeउत्तर प्रदेशउत्तर प्रदेश के कई जिलों में PFI से जुड़ी छापेमारी , ATS...

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में PFI से जुड़ी छापेमारी , ATS और STF ने 70 लोगों को लिया हिरासत में

-

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में एटीएस ने ताबड़तोड़ छापेमारी की. एटीएस ने आधिकारिक बयान में कहा है कि विभिन्न जनपदों में 211 संदिग्ध लोगों को चिह्नित किया गया था.

लखनऊ । पीएफआई कनेक्शन को लेकर उत्तर प्रदेश में एटीएस की टीम ने बड़ी कार्रवाई की. अलग अलग जनपदों से अब तक 70 लोग पूछताछ के लिए हिरासत में लिए गए. पीएफआई पर एक्शन को लेकर एटीएस ने आधिकारिक बयान में कहा है कि विभिन्न जनपदों में 211 संदिग्ध लोगों को चिह्नित किया गया था. रिहाई मंच के अध्यक्ष मो. शुएब को राजधानी लखनऊ में अमीनाबाद स्थित घर से उठाया गया. यूपी एटीएस ने पीएफआई से जुड़े परवेज अहमद और रईस अहमद को भी गिरफ्तार किया है.

एटीएस का पीएफआई पर शिकंजा

परवेज और रईस अहमद 50-50 हजार के इनामी थे. दोनों पर वाराणसी के लोहता थाना में मुकदमा दर्ज था. पकड़े गए लोगों से एटीएस की टीमें पूछताछ कर रही हैं. एटीएस की टीम ने ताबड़तोड़ कई शहरों में छापेमारी की. शामली, गाजियाबाद, लखनऊ, वाराणसी, बिजनौर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बाराबंकी, कानपुर, देवरिया, बहराइच, सीतापुर, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, बुलंदशहर, सहारनपुर, अमरोहा, मुरादाबाद और रामपुर में शनिवार की सुबह से लेकर देर रात एटीएस की कार्रवाई जारी रही.

कई जिलों में ताबड़तोड़ छापेमारी

इस दौरान शामली से 11, गाजियाबाद से 10, लखनऊ से 9, वाराणसी से 8, बिजनौर से 5, मेरठ से 4, मुजफ्फरनगर, बाराबंकी से 3-3, कानपुर, देवरिया और बहराइच से 2-2, सीतापुर, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, बुलंदशहर, सहारनपुर, अमरोहा, मुरादाबाद और रामपुर से 1-1 पीएफआई के संदिग्ध पकड़े गए. रिहाई मंच के अध्यक्ष शुएब को उठाए जाने पर परिवार ने प्रतिक्रिया दी है. पत्नी का कहना है कि आज सुबह कुछ लोग घर आए थे. इस दौरान उन्होंने शुएब से अमीनाबाद थाने चलने को कहा. उसके बाद से ही शुएब के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही है. शुएब की पत्नी का कहना है की पीएफआई से संबंधित कोई भी जानकारी हमारे पास नहीं है और ना ही पीएफआई को हम जानते हैं. पति को उठाए जाने पर उन्होंने कहा कि इस बारे में हमको कोई जानकारी नहीं दी जा रही है. शुएब के सिलसिले में परिजन चिंतित हैं.

सम्बन्धित पोस्ट

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

error: Content is protected !!